कोरोना संदिग्ध छात्र परीक्षा केंद्र जाकर दे सकेंगे CLAT एग्जाम, SC ने दी अनुमति

CLAT  Exam 2020: सुप्रीम कोर्ट ने कोरोना के संदिग्ध पीड़ित छात्रों को एकान्त में CLAT परीक्षा देने की इजाज़त दे दी है.

कोरोना संदिग्ध छात्र परीक्षा केंद्र जाकर दे सकेंगे CLAT एग्जाम, SC ने दी अनुमति

2020 CLAT Exam: CLAT एक नेशनल लेवल का एंट्रेंस एग्जाम है.

नई दिल्ली:

CLAT  Exam 2020: सुप्रीम कोर्ट ने कोरोना के संदिग्ध पीड़ित छात्रों को एकान्त में CLAT परीक्षा देने की इजाज़त दे दी है. छात्रों ने परीक्षा केन्द्र पर जाकर इम्तिहान देने की गुहार सुप्रीम कोर्ट में लगाई थी. CLAT की ओर से कोर्ट को बताया गया है कि हर परीक्षा केंद्र पर आइसोलेशन केंद्र बनाए गए हैं, जहां ऐसे छात्र परीक्षा दे सकते हैं. हालांकि अदालत ने कहा कि ये आदेश सिर्फ उन्हीं छात्रों के लिए है. अदालत के इस आदेश को सामान्य तरीके से सभी पर लागू नहीं किया जा सकता है.

बता दें कि लॉ कॉलेज में एडमिशन के लिए होने वाली परीक्षा CLAT में कोरोना के संदिग्ध पीड़ित छात्रों को आइसोलेशन रूम से परीक्षा देने की अनुमति दी गई है. आज दोपहर 2 बजे से 4 बजे के बीच ये परीक्षा आयोजित की जाएगी. सुप्रीम कोर्ट ने ये मामला ज़रूरी मानते हुए सबसे पहले सुना और कहा, "आदेश का प्रिंट निकाल परीक्षा केंद्र में दें."

CLAT क्या है?
कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट एक नेशनल लेवल का एंट्रेंस एग्जाम है. इस एग्जाम के जरिए अंडर ग्रेजुएट (UG) और पोस्ट ग्रेजुएट (PG) लॉ कोर्सेस में एडमिशन दिया जाता है. देश में 22 लॉ यूनिवर्सिटी इस कोर्स को कराती हैं. नवंबर 2019 में कंसोर्टियम ऑफ नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी ने क्लैट के एग्जाम और सवालों के पैटर्न में बदलाव की घोषणा की थी. परीक्षा देने वाले उम्मीदवारों को अब 200 के बजाय 150 सवाल ही करने होंगे.

क्लैट 2020 एग्जाम में अंग्रेजी भाषा, करेंट अफेयर्स, लीगल रीजनिंग, लॉजिकल रीजनिंग और क्वांटिटेटिव तकनीक से सवाल पूछे जाएंगे. क्लैट एग्जाम या एडमिशन से जुड़ी किसी भी तरह की जानकारी के लिए उम्मीदवार ऑफिशियस वेबसाइट पर लॉगइन कर सकते हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com