Delhi University: 31 अगस्त तक बंद रहेगी दिल्ली यूनिवर्सिटी, कैलेंडर अनुसार चलती रहेंगी शैक्षणिक गतिविधियां

 Delhi University: दिल्ली यूनिवर्सिटी 31 अगस्त तक बंद रहेगी. हालांकि, सभी शैक्षणिक गतिविधियां यूनिवर्सिटी के अकेडमिक कैलेंडर के हिसाब से चलेंगी.

Delhi University: 31 अगस्त तक बंद रहेगी दिल्ली यूनिवर्सिटी, कैलेंडर अनुसार चलती रहेंगी शैक्षणिक गतिविधियां

दिल्ली यूनिवर्सिटी 31 अगस्त तक बंद रहेगी.

नई दिल्ली:

 Delhi University: दिल्ली यूनिवर्सिटी 31 अगस्त तक बंद रहेगी. हालांकि, सभी शैक्षणिक गतिविधियां यूनिवर्सिटी के अकेडमिक कैलेंडर के हिसाब से चलेंगी. दरअसल, अनलॉक 3 (Unlock 3) की गाइडलाइन्स में सभी स्कूल, कॉलेज और शैक्षणिक संस्थानों को 31 अगस्त तक बंद रखने के निर्देश दिए गए हैं, जिसके चलते दिल्ली यूनिवर्सिटी भी 31 अगस्त तक बंद रहेगी. लेकिन यूनिवर्सिटी के बंद रहने के दौरान सभी अकेडमिक एक्टिविटीज अकेडमिक कैलेंडर के मुताबिक फॉलो की जाएंगी. वहीं, बीते कुछ समय पहले दिल्ली यूनिवर्सिटी ने अपने अकेडमिक कैलेंडर में कुछ बदलाव किए थे और गर्मियों की छुट्टियों को 9 अगस्त तक बढ़ा दिया था.

बता दें कि यूनिवर्सिटी ने हाल ही में बताया कि शैक्षणिक सत्र दिल्ली यूनिवर्सिटी के मौजूदा छात्रों के लिए 10 अगस्त से शुरू किया जाएगा, जो अंडरग्रेजुएट (UG) कोर्स में अपने तीसरे, पांचवें और 7वें सेमेस्टर में हैं और पोस्टग्रेजुएट (PG) पाठ्यक्रमों में जो छात्र तीसरे सेमेस्टर में हैं. हालांकि, नए स्टूडेंट्स के लिए अकेडमिक सत्र कब शुरू किया जाएगा, इस बारे में यूनिवर्सिटी ने अभी जानकारी नहीं दी है. 


DU ने नोटिफिकेशन जारी करके कहा था, "विश्वविद्यालय का शैक्षणिक सत्र 2020-2021 10 अगस्त से शुरू किया जाएगा. इसमें अंडरग्रेजुएट (UG) पाठ्यक्रमों के तीसरे, 5वें और 7वें सेमेस्टर और पोस्टग्रेजुएट (PG) पाठ्यक्रमों के तीसरे सेमेस्टर के लिए ऑनलाइन कक्षाओं की शुरुआत होगी.” दिल्ली यूनिवर्सिटी ने कहा था कि ये फैसला विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) द्वारा जारी संशोधित दिशा-निर्देशों को ध्यान में रखकर लिया गया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वहीं, शैक्षणिक गतिविधियों के अलावा विश्वविद्यालय, फैकल्टी या विभाग की आवश्यक सेवाएं इस अवधि के दौरान खुली रहेंगी. विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार ने एक पत्र  जारी करके कहा है कि किसी भी फैकल्टी मेंबर, शिक्षक, शोधकर्ता या गैर-शिक्षण कर्मचारियों को सभी एहतियाती के साथ शिक्षण संस्थान में उपस्थित होने के लिए कहा जा सकता है.