NDTV Khabar

19 सितंबर तक नतीजे घोषित करने का प्रयास: मुंबई विश्वविद्यालय

विश्वविद्यालय के वकील रूई रोड्रिग्स ने मौजूदा देरी के लिए बकरीद और गणपति उत्सव पर छुट्टियों को दोषी ठहराया. उन्होंने कहा कि छुट्टियों के कारण कई कर्मी उपलब्ध नहीं हो सके.

2 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
19 सितंबर तक नतीजे घोषित करने का प्रयास: मुंबई विश्वविद्यालय

मुंबई विश्वविद्यालय

मुंबई विश्वविद्यालय के जरिए ली गई परीक्षा के नतीजों के ऐलान में इस साल काफी देरी हुई है. जिसके बाद विश्वविद्यालय ने बंबई उच्च न्यायालय में कहा कि वह 19 सितंबर तक नतीजे घोषित करने और अंक-पत्रों के वितरण का प्रयास कर रहा है.
 
नतीजों में पहले ही शुरुआती समयसीमा से एक महीना से ज्यादा की देर हो चुकी है तथा इसे छह बार बढाया जा चुका है. विश्वविद्यालय द्वारा ली गयी परीक्षाओं के नतीजों की घोषणा में इस साल काफी देर हुई है. इसकी वजह आन-स्क्रीन प्रणाली में गड़बड़ी आना है. इस प्रणाली के तहत अंक पत्रों की स्कैनिंग की जाती है और उसके बाद कंप्यूटर पर उसकी जांच की जाती है ताकि अंकपत्र में किसी छेड़छाड़ को रोका जा सके.
  विश्वविद्यालय के वकील रूई रोड्रिग्स ने मौजूदा देरी के लिए बकरीद और गणपति उत्सव पर छुट्टियों को दोषी ठहराया. उन्होंने कहा कि छुट्टियों के कारण कई कर्मी उपलब्ध नहीं हो सके. न्यायमूर्ति अनूप वी मोहता और न्यायमूर्ति भारती डांग्रे की पीठ ने कहा कि ऐसी आपात स्थिति में विश्वविद्यालय कर्मचारियों की अनुपब्लधता को कारण नहीं बता सकता.
 
रोड्रिग्स ने दलील दी कि यह याद रखना चाहिए कि काम रोबोटों के जरिए नहीं बल्कि इंसानों के जरिए किया जाना है. उन्होंने कहा कि हमने अधिकतर काम पूरा कर लिया है और प्रयास कर रहे हैं कि नियमित स्नातक पाठ्यक्रमों के सभी नतीजे 19 सितंबर तक घोषित कर दिए जाएं. दूरस्थ पाठ्यक्रमों के नतीजों में कुछ और समय लगेगा.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement