NDTV Khabar

पांच सालों में 4 फीसदी बढ़ी उच्चतर शिक्षा में नामांकन दर

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पांच सालों में 4 फीसदी बढ़ी उच्चतर शिक्षा में नामांकन दर
नयी दिल्ली: साल 2012 में राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान शुरू किये जाने के बाद उच्चतर शिक्षा के स्तर पर राष्ट्रीय सकल नामांकन अनुपात 20.8 प्रतिशत से बढ़कर 2015.16 में 24.5 प्रतिशत हो गया, साथ ही अब तक करीब 30 राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेश राज्य उच्चतर शिक्षा परिषद का गठन कर चुके हैं.

मानव संसाधन विकास मंत्रालय के राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान (रूसा) की उपलब्धियों से संबंधित रिपोर्ट के अनुसार, अब तक 34 राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेशों ने उच्चतर शिक्षा योजना बनाई है.

रिपोर्ट के अनुसार, साल 2012 में उच्चतर शिक्षा के स्तर पर सकल नामांकन अनुपात (जीईआर) 20.8 था जिसमें पुरूष जीईआर 22.1 और महिला जीईआर 19.4 था. 2015.16 में उच्चतर शिक्षा के स्तर पर राष्ट्रीय सकल नामांकन अनुपात 24.5 प्रतिशत दर्ज किया गया जिसमें पुरूष जीईआर 25.4 और महिला जीईआर 23.5 हो गया.

राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान (रूसा) के तहत वित्त वर्ष 2016.17 के दौरान 8 स्वायत्त कॉलेजों का उन्नयन विश्वविद्यालय के रूप में किया गया.

उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले कॉलेजों के 20 किलोमीटर के दायरे में 8 क्लस्टर विश्वविद्यालयों का विकास करने के लिए चिन्हित किया गया है. ये संस्थान अंतर विषय और बहु विषय पाठ्यक्रम पेश करेंगे और रचनात्मक, नवोन्मेषी और समग्र पठन पाठन प्रदान करने की व्यवस्था बनायेंगे.

क्लस्टर विश्वविद्यालय का शुभारंभ
मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडेकर ने जम्मू कश्मीर में एक क्लस्टर विश्वविद्यालय का शुभारंभ किया. वर्तमान स्वायत्त कॉलेजों और क्लस्टर विश्वविद्यालयों के उन्नयन के जरिये बनाये जाने वाले विश्वविद्यालयों के माध्यम से भारत के कुछ शानदार कालेजों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा और शोध के स्वरूप में बदलाव किया जा सकता है जो पारंपरिक तौर पर गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने पर जोर देते रहे हैं. इसके अलावा ये संस्थान अपने लिए ब्रांड वैल्यू सृजित करेंगे और मेधावी छात्रों को आकषिर्त करेंगे.

ऐसे संस्थान जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, ओडिशा, महाराष्ट्र, मणिपुर, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश और पुदुचेरी जैसे राज्यों में स्थापित किये जाने की योजना है.

34 राज्यों ने उच्चतर शिक्षा योजना तैयार की 
रिपोर्ट के अनुसार, रूसा पेश किये जाने से पहले विधानसभा में कानून बनाकर 9 राज्यों में उच्चतर शिक्षा परिषद का गठन किया गया था. और इसके बाद से अब तक सरकारी आदेश के जरिये 21 और राज्यों में राज्य शिक्षा परिषद का गठन किया गया है. 34 राज्यों ने उच्चतर शिक्षा योजना तैयार की है. 

राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान के तहत विश्वविद्यालयों को आधारभूत संरचना के विकास के लिए दिये जाने वाले अनुदान के तहत 117 राज्य विश्वविद्यालयों को समर्थन दिया जा रहा है. रूसा की उपलब्धियों के बारे में मंत्रालय की रिपोर्ट में कहा गया है कि इस अभियान के तहत 60 नये मॉडल डिग्री कॉलेज और 29 प्रोफेशनल कॉलेजों को मंजूरी दी गई. नये मॉडल कॉलेज की अवधारणा 11वीं पंचवर्षीय योजना के दौरान पूर्ववर्ती योजना का हिस्सा रहा है. 12वीं पंचवर्षीय योजना के तहत पहले ही 60 के लक्ष्य को हासिल कर लिया गया है और इसके लिए मांग बढ़ रही है.

वर्तमान डिग्री कॉलेज को मॉडल कॉलेज के रूप में उन्नत करने की योजना के तहत अब तक 54 कॉलेजों को मंजूरी दी गई है.

1250 कॉलेजों को सहायता 
इस योजना के तहत कालेजों को आधारभूत संरचना के विकास के लिए अनुदान प्रदान करने की पहल के तहत 1250 कॉलेजों को सहायता प्रदान की जा रही है. रिपोर्ट के अनुसार, इस योजना का एक महत्वपूर्ण उद्देश्य समान पहुंच सुगम बनाने के लिए अवसर को बेहतर बनाना है. यह योजना 2016.17 में 18 राज्यों में चल रही है जिसमें छत्तीसगढ़, गुजरात, हिमाचल प्रदेश, झारखंड, पंजाब आदि शामिल है.

राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान के तहत शिक्षकों की बेहतरी एवं प्रशिक्षण पर खास जोर दिया गया है और इस उद्देश्य के लिए बेहतर मानव संसाधन विकास केद्रों को समर्थन देने की पहल की गई है.

टिप्पणियां
एजुकेशन से जुड़ी और खबरों के लिए यहां क्लिक करें
 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement