NDTV Khabar

GATE-2019 में कैसे हासिल किया शशांक मंगल ने पहला स्थान, जानिए

आम लोगों तक इंजीनियरिंग का फायदा ज्यादा से ज्यादा पहुंच सके इसके लिए शशांक IES में आना चाहते हैं

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
GATE-2019 में कैसे हासिल किया शशांक मंगल ने पहला स्थान, जानिए

शशांक मंगल.

नई दिल्ली:

इस बार के GATE यानी ग्रेजुएट एप्टिट्यूड टेस्ट इन इंजीनियरिंग (2019) में पहला स्थान हासिल कर शशांक मंगल ने मध्यप्रदेश का नाम रोशन किया है. शशांक को कुल 1000 में से 989 अंक मिले हैं. IIT-धनबाद से बी-टेक (इलेक्ट्रॉनिक्स) कर रहे शशांक का यह आखिरी साल है. आम लोगों तक इंजीनियरिंग का फायदा ज्यादा से ज्यादा पहुंच सके इसके लिए वे IES यानी भारतीय इंजीनियरिंग सेवा में आना चाहते हैं.

टिप्पणियां

शशांक अपने लक्ष्य को लेकर शुरू से ही एकाग्र रहे और उनका मानना है कि एक बार में सिर्फ एक लक्ष्य के लिए प्रयास करने चाहिए और वो भी पूरी लगन और मेहनत के साथ. यही वजह है कि उन्होंने अपने कॉलेज कैंपस प्लेसमेंट तक में हिस्सा नहीं लिया और GATE की तैयारी में जुटे रहे. शशांक ने कहा, “ मैंने GATE के लिए थर्ड ईयर से तैयारी शुरू की थी और शुरुआत रेफरेंस बुक्स से की और इसके बाद मैंने समर क्रैश कोर्स शुरू किया था.” शशांक ने GATE की तैयारी महज तीन महीने में पूरी की, बेशक इस दौरान उन्होंने दिन-रात एक करते हुए रोजाना 11-12 घंटे पढ़ाई की.


शशांक का मानना है कि अगर आप किसी चीज की तैयारी कर रहे हैं तो उसे लेकर आपकी तमाम शंकाए दूर होनी चाहिए और मंजिल को लेकर स्पष्टता होनी चाहिए. अपनी तैयारी के दौरान कहीं कोई चूक ना हो जाए इसके लिए वे हर दिन ना सिर्फ 3-3 टेस्ट पेपर हल करते थे बल्कि फिर बाद में उनका अच्छे से विश्लेषण भी करते रहे.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement