NDTV Khabar

Google Doodle On Oskar Schlemmer: कौन थें ऑस्कर श्लेमर? जानिए उनसे जुड़ी 5 खास बातें

Google Doodle: जर्मन चित्रकार, मूर्तिकार और कोरियोग्राफर ऑस्कर के जन्मदिन पर गूगल ने डूडल बनाकर उन्हें याद किया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Google Doodle On Oskar Schlemmer: कौन थें ऑस्कर श्लेमर? जानिए उनसे जुड़ी 5 खास बातें

Google Celebrates Oskar Schlemmer 130th Birthday: आज जर्मन चित्रकार ऑस्कर श्लेमर का 130वां जन्मदिन है.

खास बातें

  1. जर्मन चित्रकार ऑस्कर श्लेमर का आज जन्मदिन है.
  2. ऑस्कर श्लेमर का जन्म 4 सितंबर 1888 को हुआ था.
  3. ऑस्कर श्लेमर अपनी चित्रकारी के लिए जाने जाते हैं.
नई दिल्ली: Google Doodle On Oskar Schlemmer: जर्मन चित्रकार, मूर्तिकार, डिजाइनर और कोरियोग्राफर ऑस्कर श्लेमर (Oskar Schlemmer) का आज 130वां जन्मदिन है. ऑस्कर श्लेमर के जन्मदिन के मौके पर गूगल ने डूडल बनाकर उन्हें याद किया है. गूगल ने अपने डूडल (Google Doodle) में एक मेकैनिकल फिगर को मेटैलिक मास्क पहने हुए बैलेट पोज़ में दिखाया है. ऑस्कर श्लेमर का जन्म 4 सितंबर 1888 को हुआ था. श्लेमर छह भाई-बहनों में सबसे छोटी संतान थे. श्लेमर (Schlemmer) को 'ट्रायडिश बैलेट' (Triadisches Ballet) के लिए जाना जाता है. इसमें तीन डांसर को ट्रायेंगुलर शेप के रूप में स्टेज पर खड़ा किया जाता है. ये डांसर 18 कॉस्ट्यूम्स बदलकर 12 अलग-अलग तरह के डांस मूवमेंट करते हैं. आज ऑस्कर श्लेमर के जन्मदिन के मौके पर हम आपको उनसे जुड़ी 5 खास बातें बताने जा रहे हैं.


Oskar Schlemmer से जुड़ी खास बातें


1. ऑस्कर श्लेमर (Oskar Schlemmer) जर्मन चित्रकार, मूर्तिकार, डिजाइनर और कोरियोग्राफर थें. श्लेमर का जन्म  4 सितंबर 1888 को हुआ था. ऑस्कर को उनके ‘Triadisches Ballet’ के लिए जाना जाता है, इस शैली में कलाकार नॉर्मल से जियोमैट्रिकल शेप में बदलते हैं.

2. ऑस्कर श्लेमर (German Artist) अपनी चित्रकारी के लिए जाने जाते हैं. उनकी कई पेंटिंग दुनिया भर में पसंद की जाती हैं. उन्होंने अपनी पेंटिंग में मानव शरीर के हर पहलू को उतारा था.

3.  स्टेज रिसर्च और प्रॉडक्शन का डायरेक्टर बनने से पहले ऑस्कर श्लेमर ने Bauhaus School Of Arts जॉइन किया था.

Google Doodle On Oskar Schlemmer: ऐसा कलाकार जिसने गणित से लोगों को उंगलियों पर नचाया, जानिए सबकुछ

टिप्पणियां
4. ऑस्कर शेलमर (Oskar Schlemmer) का मानना था कि कोई भी परफॉर्मेंस ''कलात्मक आध्यात्मिक गणित'' होती है, जो ''भौतिक सौंदर्शशास्त्र'' के रूप में एकदम शुद्ध है.

5. ऑस्कर श्लेमर की मृत्यु जर्मनी में हिटलर के शासन के दौरान 13 अप्रैल 1943 को हुई थी.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement