Haryana Board Result: हरियाणा बोर्ड का रिजल्ट जारी होने में हो सकती है देरी, स्कूल नहीं दे पा रहे इंटरनल नंबर

Haryana Board Result 2020:हरियाणा बोर्ड के नोटिस में बताया गया है कि राज्य के कई स्कूल अंतिम तारीख बढ़ाने के बावजूद भी ऑनलाइन पोर्टल पर स्टूडेंट्स के इंटरनल असेसमेंट मार्क्स अपडेट नहीं कर पाए हैं.

Haryana Board Result: हरियाणा बोर्ड का रिजल्ट जारी होने में हो सकती है देरी, स्कूल नहीं दे पा रहे इंटरनल नंबर

Haryana Board Result 2020: हरियाणा बोर्ड का रिजल्ट जारी होने में देरी हो सकती है.

नई दिल्ली:

Haryana Board Result 2020: कोरोनावायरस महामारी के चलते कई राज्यों में बोर्ड की परीक्षाएं स्थगित कर दी गई थीं. कोरोनावायरस के मद्देनजर हरियाणा बोर्ड ने राज्य के सेकेंडरी और सीनियर सेकेंडरी स्कूलों को स्टूडेंट्स के इंटरनल नंबर सबमिट करने का दो बार मौका दिया है. लेकिन बावजूद इसके कई स्कूलों ने स्टूडेंट्स के इंटरनल मार्क्स अभी तक सबमिट नहीं किए हैं.

हरियाणा  बोर्ड की वेबसाइट पर उपलब्ध नोटिस में बताया गया है, "राज्य के कई स्कूल अंतिम तारीख बढ़ाने के बावजूद भी ऑनलाइन पोर्टल पर स्टूडेंट्स के इंटरनल असेसमेंट मार्क्स अपडेट नहीं कर पाए हैं. स्कूलों को ये प्रक्रिया पूरी करने के लिए दूसरा मौका भी दिया जा चुका है."

बता दें कि जो स्कूल अभी तक स्टूडेंट्स के इंटरनल असेसमेंट और प्रैक्टिकल मार्क्स ऑनलाइन पोर्टल पर अपडेट नहीं कर पाए हैं वे स्टूडेंट्स के मार्क्स 4 मई से 11 मई तक अपलोड कर सकते हैं. बोर्ड ने सभी जिला शिक्षा अधिकारियों से अपने क्षेत्र के स्कूलों को सूचित करने का अनुरोध किया है और साथ ही उन स्कूलों की लिस्ट भी जारी की है जिन्हें अभी स्टूडेंट्स के नंबर जमा करने हैं.

हरियाणा बोर्ड ने नोटिस में कहा,  "इंटरनल असेसमेंट मार्क्स/ प्रैक्टिकल मार्क्स/ जनरल अवेयरनेस मार्क्स और लाइफ स्किल ग्रेड (GLS) के बिना बोर्ड रिजल्ट जारी नहीं कर सकता है और इसके लिए स्कूल के हेड जिम्मेदार होंगे."

नोटिस में ये भी बताया गया है कि स्कूलों को इंटरनल असेसमेंट मार्क्स और प्रैक्टिकल एग्जाम के मार्क्स के लिए अलग-अलग लेट फाइन देना होगा. स्कूलों को प्रत्येक स्टूडेंट के लिए 500 रुपये फाइन देना होगा और करीब 5000 रुपये का फाइन बोर्ड को स्टूडेंट्स के पासिंग सर्टिफिकेट जारी करने के लिए देना होगा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बता दें कि इससे पहले हरियाणा बोर्ड ने टीचर्स से घरों में रहकर ही बोर्ड परीक्षाओं की कॉपियां जांचने के लिए कहा था. बोर्ड ने 11 अप्रैल को टीचर्स को कॉपियां दी थीं. इसके बाद टीचर्स को 22 अप्रैल तक स्टूडेंट्स की जांच की हुई आंसर शीट्स और नंबर सबमिट करने के आदेश दिए गए थे.

क्यों जरूरी हैं इंटरनल असेसमेंट मार्क्स
दरअसल, हरियाणा के मुख्यमंत्री ने 10वीं क्लास का साइंस का पेपर कैंसिल कर दिया था. इसी के साथ उन्होंने घोषणा की थी कि साइंस पेपर का रिजल्ट इंटरनल असेसमेंट और दूसरे टेस्ट के नंबरों के आधार पर जारी किया जाएगा.