ICSE, ISC Exams 2020: सीआईएससीई ने 10वीं और 12वीं के स्टूडेंट्स को दिया परीक्षा केंद्र बदलने का मौका, बाद में एग्जाम देने की भी दी छूट

ICSE, ISC Exams 2020: काउंसिल फॉर इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन (CISCE) बोर्ड ने 10वीं और 12वीं के बोर्ड की परीक्षा देने वाले स्टूडेंट्स के लिए एक बड़ी घोषणा की है.

ICSE, ISC Exams 2020: सीआईएससीई ने 10वीं और 12वीं के स्टूडेंट्स को दिया परीक्षा केंद्र बदलने का मौका, बाद में एग्जाम देने की भी दी छूट

CISCE बोर्ड ने 10वीं और 12वीं के स्टूडेंट्स को परीक्षा केंद्र बदलने का मौका दिया है.

नई दिल्ली:

ICSE, ISC Exams 2020: काउंसिल फॉर इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशंस (CISCE) ने छात्रों को उसी शहर से बोर्ड की लंबित परीक्षा देने की अनुमति दे दी है जहां वे वर्तमान में हैं. अधिकारियों ने बताया कि परिषद ने परीक्षार्थियों को बाद में कंपार्टमेंटल परीक्षा के समय परीक्षा में उपस्थित होने का विकल्प भी दिया गया है. कोरोनावायरस फैलने के खतरे को देखते हुए किए गए राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के कारण स्थगित की गई परीक्षाएं 1 से 14 जुलाई तक आयोजित की जाएंगी.

हालांकि 25 मार्च को लागू हुए लॉकडाउन (Lockdown) के बाद बहुत से छात्र अलग-अलग स्थानों पर चले गए थे. सीआईएससीई (CISCE Board) के मुख्य कार्यकारी और सचिव गेरी अराथून ने कहा, “स्कूलों और छात्रों के माता-पिता ने परीक्षार्थियों के परीक्षा केंद्र बदलने का अनुरोध किया है. यदि छात्र इस समय उस जिले में नहीं हैं जहां उनका स्कूल है तो बाकी की परीक्षा वे उस शहर के सीआईएससीई द्वारा मान्यता प्राप्त स्कूल से दे सकते हैं जहां वे अभी हैं.”

उन्होंने कहा कि जो छात्र लॉकडाउन के कारण बची हुई परीक्षा नहीं दे पाए थे उन्हें कंपार्टमेंटल परीक्षा के समय भी परीक्षा देने की अनुमति दी जाएगी. विद्यार्थियों से 7 जून तक परीक्षा केंद्र बदलने के लिए आवेदन करने को कहा गया है. परिषद ने स्कूलों से सामाजिक दूरी सुनिश्चित करने और छात्रों से सेनेटाइजर का प्रयोग करने और मास्क लगाने को भी कहा है.

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) जहां उच्च शिक्षण संस्थाओं में प्रवेश के लिए अहम केवल 29 विषयों की ही परीक्षा कराएगा, वहीं सीआईएससीई सभी विषयों की लंबित परीक्षा आयोजित कराएगा. सीबीएसई 1 से 15 जुलाई के बीच लंबित विषयों की परीक्षा कराएगा. बोर्ड पहले ही लॉकडाउन की वजह से विभिन्न राज्यों और जिले में गए छात्रों को मौजूदा स्थान पर ही परीक्षा देने का विकल्प दे चुका है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

गौरतलब है कि कोरोनावायरस के संक्रमण को रोकने के लिए पूरे देश में कक्षाओं को बंद करने का आदेश दिया गया था और 16 मार्च से ही देश के सभी विश्वविद्यालय और स्कूल बंद हैं.

प्रतियोगी परीक्षाओं से पहले बोर्ड परीक्षाओं को कराने के लिए तारीख तय की गई है. इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई-मेंस इस साल 18 से 23 जुलाई के बीच कराई जाएगी जबकि चिकित्सा प्रवेश परीक्षा नीट 26 जुलाई को होगी.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)