IIM Udaipur के नए कोर्स से छात्रों को बदलती तकनीक के साथ काम करने में मिलेगी मदद

उदयपुर का भारतीय प्रबंधन संस्थान (IIM) प्रौद्योगिकी के तेजी से बदलते परिवेश में छात्रों को कुशलता के साथ काम करने के लिये एक नया कोर्स शुरू करेगा. 

IIM Udaipur के नए कोर्स से छात्रों को बदलती तकनीक के साथ काम करने में मिलेगी मदद

आईआईएम उदयपुर आने वाले वर्षो में देश का शीर्ष अनुसंधान संस्थान बनने की योजना पर भी काम कर रहा है. 

नई दिल्ली:

उदयपुर का भारतीय प्रबंधन संस्थान (IIM) प्रौद्योगिकी के तेजी से बदलते परिवेश में छात्रों को कुशलता के साथ काम करने के लिये एक नया कोर्स शुरू करेगा. शोध के क्षेत्र में देश के पांच शीर्ष प्रबंधन संस्थानों में शामिल उदयपुर आईआईएम आने वाले वर्षो में देश का शीर्ष अनुसंधान संस्थान बनने की योजना पर भी काम कर रहा है. आईआईएम उदयपुर के निदेशक जनत शाह ने को बताया कि हम छात्रों को प्रौद्योगिकी के नए परिवेश में काम करने के लिए विश्लेषणात्मक और नई तकनीकों पर एक कोर्स तैयार कर रहे हैं. आधुनिक तकनीक चाहे वो कृत्रिम बुद्धिमता हो या ब्लॉक चैन, यह कोर्स उभरते डिजिटल व्यापार उद्यमों की जरूरतों को पूरा करेगा. 

उन्होंने कहा कि इस तरह की तकनीक के साथ छात्रों को कुशलता के साथ काम करने योग्य बनाने के लिये यह कोर्स मददगार होगा. उन्होंने बताया कि हमारे पास सब सामग्री उपलब्ध होने पर इस पाठ्यक्रम की शुरूआत की जायेगी.  उन्होंने बताया कि इस नये कोर्स को विकसित करने के लिये संस्थान ने एक परामर्शी काउंसिल की स्थापना की है. काउंसिल में क्वीकर सहित अन्य डिजिटल कंपनियों को शामिल किया गया है. 

उन्होंने बताया कि 2011 में स्थापित संस्थान में इस वर्ष छात्रों को औसत सैलेरी पैकेज 13.20 लाख रूपये सालाना का प्रस्ताव मिला है.  उन्होंने बताया कि 2019 में सबसे अधिक घरेलू ऑफर 27.5 लाख रूपये का जबकि सबसे अधिक विदेशी ऑफर 33 लाख रूपये का रहा है. शाह ने बताया कि इसके साथ साथ संस्थान ने अनुसंधान के लिये इकोसिस्टम भी विकसित किया है. 

अन्य खबरें
SBI Clerk Prelims Result: एसबीआई क्लर्क प्रीलिम्स रिजल्ट जल्द होगा जारी, ये है डायरेक्ट लिंक
AIIMS Recruitment 2019: नर्सिंग ऑफिसर के 200 पदों पर आज है आवेदन की आखिरी तारीख, ऐसे करें अप्लाई

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com