अकेडमिक ईयर 2019-20 में करीब दो लाख भारतीय छात्रों ने उच्च शिक्षा के लिए चुने अमेरिकी संस्थान

अमेरिकी दूतावास ने सोमवार को ‘ओपन डोर्स रिपोर्ट' जारी की है, जिसके मुताबिक अकादमिक वर्ष 2019-20 में करीब दो लाख भारतीय छात्रों ने उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए अमेरिका के संस्थानों में दाखिला लिया.

अकेडमिक ईयर 2019-20 में करीब दो लाख भारतीय छात्रों ने उच्च शिक्षा के लिए चुने अमेरिकी संस्थान

अकेडमिक ईयर 2019-20 में करीब दो लाख भारतीय छात्रों ने उच्च शिक्षा के लिए चुने अमेरिकी संस्थान.

नई दिल्ली:

अमेरिकी दूतावास ने सोमवार को ‘ओपन डोर्स रिपोर्ट' जारी की है, जिसके मुताबिक अकादमिक वर्ष 2019-20 में करीब दो लाख भारतीय छात्रों ने उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए अमेरिका के संस्थानों में दाखिला लिया. रिपोर्ट के मुताबिक उच्च शिक्षा के लिए अमेरिका को चुनने वाले दुनियाभर के दस लाख से अधिक छात्रों में से 20 फीसदी भारतीय छात्र हैं. अमेरिका में स्नातक की पढ़ाई कर रहे भारतीय छात्रों की संख्या में भी निरंतर वृद्धि हो रही है.

 मिनिस्टर काउंसलर फॉर पब्लिक अफेयर्स डेविड कैनेडी ने बताया, ‘‘अमेरिका में पढ़ाई के लिए आने वाले भारतीय छात्रों की संख्या बीते दस वर्षों में लगभग दोगुनी हो गई है. हम जानते हैं कि अमेरिका के उच्च शिक्षा के मानक कितने ऊंचे हैं जिसमें प्रायोगिक अनुभव दिया जाता है जो हमारे यहां से स्नातक की पढ़ाई करने वाले छात्रों को वैश्विक अर्थव्यवस्था में एक कदम आगे रखता है.'' 

अमेरिका में पढ़ाई करने के इच्छुक भारतीय छात्रों को परामर्श सेवा देने के लिए अमेरिकी विदेश विभाग के भारत में सात ‘एजुकेशनयूएसए' केंद्र हैं. ये केंद्र नई दिल्ली, हैदराबाद, चेन्नई, कोलकाता, बेंगलुरु, अहमदाबाद और मुंबई में हैं.

Newsbeep

दूतावास के एक अधिकारी ने बताया कि अगले वर्ष की शुरुआत में हैदराबाद में ऐसा एक और केंद्र खुल रहा है. इन केंद्रों में अमेरिका में अध्ययन के अवसरों के बारे में अद्यतन जानकारियां दी जाती हैं जिससे भारतीय छात्र अमेरिका में उच्च शिक्षा के 4,500 संस्थानों में से अपने लिए श्रेष्ठ कार्यक्रम (पाठ्यक्रम) का चयन कर सकते हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने बताया एजुकेशनयूएसए इंडिया ऐप के जरिए अतिरिक्त जानकारी प्राप्त की जा सकती है. द इंस्टीट्यूट ऑफ इंटरनेशनल एजुकेशन हर वर्ष ओपन डोर्स रिपोर्ट प्रकाशित करता है. 
 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)