NDTV Khabar

Independence day 2018: जानिए आखिर भारत को 15 अगस्त के दिन ही क्‍यों मिली आजादी?

भारत हर साल 15 अगस्त को Independence day मनाता है. 15 अगस्त के दिन ही भारत के लोगों को अंग्रेजों की गुलामी से आजादी मिली थी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Independence day 2018: जानिए आखिर भारत को 15 अगस्त के दिन ही क्‍यों मिली आजादी?

happy independence day: भारत 15 अगस्त 1947 को आजाद हुआ था.

नई दिल्ली: Independence day 2018: भारत हर साल आजादी का जश्न 15 अगस्त को मनाता है. स्वतंत्रता दिवस (Indian Independence Day) देश भर में बड़े ही उत्साह के साथ मनाया जाता है. स्वतंत्रता दिवस (Indian Independence Day) पर हर साल भारत के प्रधानमंत्री लाल किले से झंडा फहराते हैं. 15 अगस्त (15 August) 1947 को अंग्रेजों ने देश के शासन की कमान को भारीतयों को सौंप कर देश को स्वतंत्रत घोषित किया था. लेकिन क्या आपने कभी सोचा है भारत की आजादी (Independence Day) के लिए 15 अगस्त की तारीख ही क्यों चुनी गई थी? दरहसल, ब्रिटिश संसद ने लॉर्ड माउंटबेटन (Lord Mountbatten) को 30 जून 1948 तक भारत की सत्‍ता भारतीय लोगों को ट्रांसफर करने का अधिकार दिया था. लॉर्ड माउंटबेटन को साल 1947 में भारत के आखिरी वायसराय के तौर पर नियुक्त किया गया था. माउंटबेटन ने ही भारत की आजादी (India Independence) के लिए 15 अगस्त की तारीख चुनी थी.

Independence Day: इन नारों ने भारत को दिलाई आजादी, आज भी ला देते हैं खून में उबाल

कुछ इतिहासकारों का मानना है कि सी राजगोपालाचारी (C Rajagopalachari) के सुझाव पर माउंटबेटन ने भारत की आजादी के लिए 15 ्अगस्त (15 August) की तारीख चुनी. सी राजगोपालाचारी ने लॉर्ड माउंटबेटन को कहा था कि अगर 30 जून 1948 तक इंतजार किया गया तो हस्तांतरित करने के लिए कोई सत्ता नहीं बचेगी. ऐसे में माउंटबेटन ने 15 अगस्त को भारत की स्वतंत्रता के लिए चुना. इसके बाद ब्रिटिश हाउस ऑफ कॉमंस में इंडियन इंडिपेंडेंस बिल (Indian Independence Bill) 4 जुलाई 1947 को पेश किया गया. इस बिल में भारत के बंटवारे और पाकिस्तान के बनाए जाने का प्रस्ताव रखा गया था. यह बिल 18 जुलाई 1947 को स्वीकारा गया और 14 अगस्त को बंटवारे के बाद 15 अगस्त 1947 को मध्यरात्रि 12 बजे भारत की आजादी (Indian Independence) की घोषणा की गई.

India Independence Day: क्या आपको मालूम हैं भारत के स्वतंत्रता दिवस से जुड़ी ये रोचक बातें?

टिप्पणियां
कुछ इतिहासकारों का मानना है कि 15 अगस्त (15 August) को आजादी का दिन चुनना माउंटबेटन का निजी फैसला था. माउंटबेटन लोगों को यह दिखाना चाहता था कि सब कुछ उसके ही नियंत्रण में है. माउंटबेटन 15 अगस्त की तारीख को शुभ मानता था इसीलिए उसने भारत की आजादी के लिए ये तारीख चुनी थी. 15 अगस्त का दिन माउंटबेटन के हिसाब से शुभ था क्योंकि द्वितीय विश्व युद्ध के समय 15 अगस्त, 1945 को जापानी आर्मी ने आत्मसमर्पण किया था और उस समय लॉर्ड माउंटबेटन अलाइड फ़ोर्सेज़ का कमांडर था. 

National Anthem: क्या आप जानते हैं राष्ट्रगान जन-गण-मन से ये 6 जुड़े नियम?

VIDEO: हाईअलर्ट पर दिल्ली, हमले की फिराक में आतंकी संगठन


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement