NDTV Khabar

भारत-चीन योग कॉलेज ने पोस्‍ट ग्रेजुएट कोर्स में रजिस्‍ट्रेशन शुरु किया

भारत-चीन योग कॉलेज (आईसीवाईसी) के उप डीन लु फांग ने बताया कि छात्र अब तीन वर्षीय कार्यक्रम के लिए पंजीयन करा सकते हैं. पहले दो वर्षों की पढ़ाई छात्र दक्षिणपश्चिम चीन के युन्नान प्रांत की राजधानी कुनमिंग में पूरी कर सकेंगे और आखिरी साल में उन्हें भारत जाना होगा.

1Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भारत-चीन योग कॉलेज ने पोस्‍ट ग्रेजुएट कोर्स में रजिस्‍ट्रेशन शुरु किया
बीजिंग: भारत-चीन योग कॉलेज ने अपने पोस्‍ट ग्रेजुएट कोर्स के लिए रजिस्‍ट्रेशन शुरू कर दिया है. यह चीन का पहला योग कॉलेज है. भारत-चीन योग कॉलेज (आईसीवाईसी) के उप डीन लु फांग ने बताया कि छात्र अब तीन वर्षीय कार्यक्रम के लिए पंजीयन करा सकते हैं. पहले दो वर्षों की पढ़ाई छात्र दक्षिणपश्चिम चीन के युन्नान प्रांत की राजधानी कुनमिंग में पूरी कर सकेंगे और आखिरी साल में उन्हें भारत जाना होगा.
  सरकारी संवाद समिति शिन्हुआ के मुताबिक लु ने कहा कि छात्रों को युन्नान मिंजू विश्वविद्यालय और बेंगलुरु के स्वामी विवेकानन्द योग अनुसंधान संस्थान दोनों से डिग्री/डिप्लोमा मिलेगा. स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम में आसन, प्राणायाम, योग थेरिपी और शरीर क्रिया विज्ञान शामिल होगा. साथ ही भाषाई बाधा को दूर करने के लिए हिन्दी और संस्कृत की पढ़ाई भी कराई जाएगी.

भारत में छात्रों को अध्ययन के दौरान कोई परेशानी नहीं हो, इसके लिए कॉलेज भारतीय संस्कृति में पाठ्यक्रम शुरू करेगा.
 
करियर की और खबरों के लिए क्लिक करें
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement