JAC Class 10th Result 2020: झारखंड बोर्ड का 10वीं का रिजल्ट आज, जानें, चार स्टेप्स में कैसे करें चेक

JAC Class 10th result 2020: झारखंड बोर्ड आज 10वीं के बोर्ड का रिजल्ट जारी कर देगा. 10वीं की रिजल्ट जारी होते ही jacresults.com और jac.nic.in पर देखा जा सकेगा.

JAC Class 10th Result 2020: झारखंड बोर्ड का 10वीं का रिजल्ट आज, जानें, चार स्टेप्स में कैसे करें चेक

JAC Class 10th result 2020: झारखंड बोर्ड 10वीं का रिजल्ट आज जारी करेगा.

नई दिल्ली:

JAC Class 10th result 2020: झारखंड बोर्ड आज 10वीं के बोर्ड का रिजल्ट जारी कर देगा. NDTV से बातचीत में एक सूत्र ने बताया कि झारखंड अकादमिक परिषद यानी JAC इस साल 10वीं का रिजल्ट 8 जुलाई को घोषित कर देगा. आपको बता दें कि राज्य में बोर्ड की परीक्षाएं फरवरी के अंत में खत्म हो गई थीं, लेकिन राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के चलते 28 मई को कॉपियां जांचने का काम शुरू हो पाया था. लॉकडाउन के सभी प्रोटोकॉल का पालन करते हुए राज्य के 67 केंद्रों में कॉपी जांचने का काम हुआ. साल 2019 में 70.77 फीसदी छात्र झारखंड के बोर्ड की 10वीं की परीक्षा में सफल हुए थे. बीते साल रिजल्ट 18 मई को घोषित कर दिया गया था.

10वीं की रिजल्ट जारी होते ही jacresults.com और jac.nic.in पर देखा जा सकेगा.  छात्र नीचे दिए गए स्टेप्स के हिसाब से रिजल्ट चेक कर सकते हैं. 

स्टेप 1 : आधिकारिक वेबसाइट में लॉग इन करें
स्टेप 2 : 10वीं के रिजल्ट लिंक पर क्लिक करें
स्टेप 3: मांगी जा रही जानकारी टाइप करें. 
स्टेप 4 : सबमिट करते ही रिजल्ट आपके सामने होगा. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

आपको बता दें कि जेएसी की 8वीं और 9वीं के रिजल्ट जून में ही जारी किए जा चुके हैं. 11वीं का रिजल्ट 4 जुलाई को घोषित किया जा चुका है. 

वहीं, मध्य प्रदेश बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (MPBSE) ने 4 जुलाई को 10वीं क्लास का रिजल्ट जारी कर दिया है. खास बात ये है कि इस बार 10वीं की परीक्षा में 15 स्टूडेंट्स ने 100 फीसदी नंबरों के साथ टॉप किया है. मध्य प्रदेश बोर्ड की तरफ से जारी टॉप 10 की लिस्ट में 360 स्टूडेंट्स शामिल हैं. वहीं, इस साल 10वीं बोर्ड परीक्षा में 62.84 फीसदी स्टूडेंट्स पास हुए हैं.  पिछले साल की तुलना में इस साल मध्य प्रदेश 10वीं बोर्ड परीक्षाओं का रिजल्ट बेहतर आया है. पिछले साल 10वीं क्लास का कुल पास प्रतिशत 61.32 फीसदी था, जबकि इस साल  62.84 फीसदी स्टूडेंट्स परीक्षा में पास हुए हैं.