NDTV Khabar

विदेश में पढ़ना चाहते हैं तो इस यूनिवर्सिटी में ले सकते हैं एडमिशन, फीस भी है कम

पढ़ाई के मकसद विदेश जाने की ख्वाहिश रखने वाले भारतीय छात्रों के लिए आस्ट्रेलिया की जेम्सकुक यूनिवर्सिटी (James Cook University) एक अच्छी पसंद बन सकती है क्योंकि खर्च के लिहाज से जेसीयू काफी किफायती है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
विदेश में पढ़ना चाहते हैं तो इस यूनिवर्सिटी में ले सकते हैं एडमिशन, फीस भी है कम

प्रतीकात्मक चित्र

नई दिल्ली:

पढ़ाई के मकसद विदेश जाने की ख्वाहिश रखने वाले भारतीय छात्रों के लिए आस्ट्रेलिया की जेम्सकुक यूनिवर्सिटी (James Cook University) एक अच्छी पसंद बन सकती है क्योंकि खर्च के लिहाज से जेसीयू काफी किफायती है, जबकि अकादमिक सुविधाओं व मानक की दृष्टि से यह दुनिया के 200 प्रमुख विश्वविद्यालयों में शामिल है. यूनिवर्सिटी के अधिकारियों ने बताया कि वर्ष 1970 में अस्तित्व में आई जेसीयू की रैंकिंग आस्ट्रेलियाई संस्थानों में 10वें पायदान पर है. उन्होंने बताया कि जेम्सकुक दुनिया के शीर्ष 200 संस्थानों में भी शामिल है. भारत दौरे पर आए विश्वविद्यालय के अकादमिक सदस्यों ने बताया कि जेम्सकुक यूनिवर्सिटी की न सिर्फ फीस आस्ट्रेलिया के अन्य विश्वविद्यालयों से कम है बल्कि वहां आवास भी काफी किफायती दरों पर मिल जाता है. 

जेसीयू के कॉलेज ऑफ साइंस व इंजीनियरिंग में एसोसिएट डीन प्रोफेसर पॉल डर्क्‍स ने कहा, "न सिर्फ कम खर्च के कारण विद्यार्थी जेसीयू का चयन करते हैं, बल्कि विश्वविद्यालय में छात्र और अकादमिक सदस्य का अनुपात कम होना एक बड़ी वजह है, जिसके कारण वह इस संस्थान को वरीयता देते हैं." उन्होंने कहा, "दुनियाभर के विद्यार्थी यहां पढ़ते हैं जिससे यहां उन्हें बेहतर परिवेश मिलता है." विश्वविद्यालय में इंटरनेशनल रिक्रूटमेंट विभाग के प्रमुख विघ्नेश विजयराघवन ने बताया कि विश्वविद्यालय में 'मास्टर ऑफ ग्लोबल डेवलपमेंट ऑफ डाटा साइंस' नाम से एक नया कार्यक्रम शुरू किया गया है, जो एक अंतर-विधायी पाठ्यक्रम है, जिसमें नौकरियों की संभावना ज्यादा होगी. 

उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालय में अंडरग्रेजुएट और पोस्टग्रेजुएट कोर्स में स्कॉलरशिप दी जाती है, जिससे मेधावी छात्रों को काफी सहूलियत मिलती है. राघवन ने बतया कि ग्रेजुएट में 70 फीसदी या उससे अधिक अंक लाने वाले छात्रों को पोस्टग्रेजुएट कार्यक्रमों में 700 आस्ट्रेलियाई डॉलर मासिक स्कॉलरशिप यानी छात्रवृत्ति दी जाती है. वहीं अंडरग्रेजुएट कार्यक्रमों में पढ़ने वाले उन छात्रों को यह छात्रवृत्ति दी जाती है, जिन्होंने 12वीं 80 फीसदी या उससे अधिक अंक हासिल किए हैं. 

अब UAE में बढ़ी भारतीय डिग्री की वैल्यू, मिलेगी आसानी से नौकरी


उन्होंने कहा कि इसके अलावा विश्वविद्यालय के तकरीबन सभी पाठ्यक्रमों की फीस आस्ट्रेलिया के अन्य संस्थानाओं के मुकाबले 10-20 फीसदी कम है, जिससे विदेशी छात्र यहां आकर्षित होते हैं. उन्होंने बताया कि जेम्सकुक विश्वविद्यालय आस्ट्रेलिया के क्वींसलैंड स्थित टाउनविले शहर में है जहां खान-पान व रहन-सहन का खर्च अन्य प्रमुख शहरों के मुकाबले तकरीबन 40 फीसदी कम है. साथ ही, शहर की आबोहवा भी काफी अच्छी है. 

टिप्पणियां

CBSE Board Class 12: दोबारा नहीं होगी फिजिक्स और इकोनॉमिक्स की परीक्षा, सीबीएसई ने बताया फर्जी है नोटिस

उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालय के सभी पाठ्यक्रमों से पास करने वाले विद्यार्थियों को अच्छी नौकरी मिल जाती है, इसके लिए प्रमुख उद्योगों के साथ विश्वविद्यालय की साझेदारी है. साथ ही, विश्वविद्यालय में शोधपरक पाठ्यक्रमों को प्रमुखता दी जाती है.  द टाइम्स हायर एजुकेशन यंग युनिवर्सिटी रैंकिंग में जेम्सकुक यूनिवर्सिटी 28वें पायदान पर है.

(इनपुट- आईएएनएस)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement