Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

केंद्र सरकार की डिजिटल इंडिया मुहिम के तहत जामिया के छात्र ने लांच की स्वास्थ्य सेवा कंपनी

फैकल्टी ऑफ लॉ में पढ़ाई करने वाले आसिफ ने बनाई है यह कंपनी, मरीजों का रखेंगे रिकॉर्ड

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
केंद्र सरकार की डिजिटल इंडिया मुहिम के तहत जामिया के छात्र ने लांच की स्वास्थ्य सेवा कंपनी

कंपनी बनाने वाले आसिफ

खास बातें

  1. मरीज और डॉक्टर के लिए मददगार होगा यह सिस्टम
  2. जामिया के स्वास्थ केंद्र से शुरू करेंगे डिजिटलाइजेशन
  3. मोबाइल एप का भी इस्तेमाल कर सकेंगे मरीज, मिलेंगे सभी रिकॉर्ड
नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के डिजिटल इंडिया मुहिम से प्रभावित होकर जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के छात्र ने अपनी कंपनी शुरू की है. आसिफ इस कंपनी की मदद से डिजिटल रूप में स्वास्थ्य सेवा प्रदान करेंगे. आसिफ फिलहाल जामिया के फैकल्टी ऑफ लॉ में बीए एलएलबी कोर्स में चौथे वर्ष की पढ़ाई कर रहे हैं. उनकी यह कंपनी पूरी तरह से क्लाउड बेस्ड इलेक्ट्रॉनिक हेल्थ रिकॉर्डिंग सिस्टम होगा. आसिफ ने इस कंपनी का नाम स्टेथो हेल्थ सिस्टम रखा है.

यह भी पढ़ें: मेट्रो स्टेशन पर पेंटिंग के ज़रिए जामिया मिलिया इस्लामिया के सफ़र को दर्शाएंगे स्टूडेंट्स

इस कंपनी ने जामिया के प्राथमिक स्वास्थ केंद्र एमए अंसारी हेल्थ सेंटर के साथ एक समझौता भी किया है. इस समझौते के तहत यह कंपनी  इस स्वास्थ केंद्र का पूरी तरह से केंद्रीयकरण और डिजिटल युक्त बनाएगी. जामिया के कुलपति प्रोफेसर तलत अहमद ने इंजीनियरिंग फैकल्टी सभागार में इस प्रोजेक्ट की औपचारिक शुरुआत की. इस मौके पर उन्होंने कहा कि इस तरह का प्रयास बताता है कि हमारे छात्र नई सोच पर कितना काम करते हैं. यह हमारे लिए गर्व की बात है कि आसिफ ने एक ऐसी कंपनी बनाई है जो सभी को फायदा पहुंचाएगी. आसिफ के इस प्रस्ताव को पहली बार में ही पास किया था क्योंकि मुझे पता था कि यह सिस्टम सभी के लाभकारी साबित होगा.


यह भी पढ़ें; जामिया यूनिवर्सिटी ने GJAN एलुमनाई डे पर अपने पूर्व सफल छात्रों को किया सम्मानित

गौरतलब है कि स्टेथो हेल्थ सिस्टम पूरी तरह से डिजिटल फॉर्म में काम करेगी. यह स्वास्थ केंद्रों के सभी रिकॉर्ड्स को डिजिटल फॉर्म में तबदील कर देगा. मरीजों से जुड़ी सभी जानकारी क्लाउड के रूप में सुरक्षित रहेंगे. यह सिस्टम दो हिस्सों में काम करेगा. पहला हिस्सा वेब पोर्टल बेस्ट होगा जो सिर्फ डॉक्टर के लिए होगा जबकि दूसरा हिस्सा मरीजों के लिए होगा जो पूरी तरह से मोबाइल एप बेस्ट होगा.

टिप्पणियां

VIDEO: जामिया के छात्र भूख हड़ताल पर

इस तकनीक के इस्तेमाल से मरीज से जुड़ी सभी जानकारी जुटाने में आसानी होगी और डॉक्टर इसकी मदद से जल्द इलाज कर पाएंगे. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... सारा अली खान ने शेयर की गोवा की तस्वीरें, नए अंदाज में नजर आईं एक्ट्रेस- देखें Photos

Advertisement