JEE Main 2021: शिक्षा मंत्रालय का बड़ा फैसला, 12वीं में 75% नंबर होना जरूरी नहीं

JEE Main 2021: केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने एनआईटी, आईआईआईटी, SPAs और अन्य  CFTIs में एडमिशन क्राइटेरिया में छात्रों को ढील दी है.

JEE Main 2021: शिक्षा मंत्रालय का बड़ा फैसला, 12वीं में 75% नंबर होना जरूरी नहीं

JEE Main 2021: शिक्षा मंत्रालय का बड़ा फैसला, 12वीं में 75% नंबर होना जरूरी नहीं

नई दिल्ली:

JEE Main 2021: केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने एनआईटी, आईआईआईटी, SPAs और अन्य  CFTIs में एडमिशन क्राइटेरिया में छात्रों को ढील दी है. शिक्षा मंत्री ने अपने ट्विटर हैंडल के जरिए बताया है कि छात्रों को अब पात्र होने के लिए 12वीं बोर्ड परीक्षा में न्यूनतम 75 प्रतिशत अंक हासिल करने की आवश्यकता नहीं होगी. इससे पहले, केवल वे छात्र जो कक्षा 12वीं की बोर्ड परीक्षा में न्यूनतम 75 प्रतिशत अंक प्राप्त करते थे, उन्हें ही एनआईटी, आईआईआईटी और सीएफटीआई में बीई / बीटेक / बीएआर्क / बी-प्लानिंग पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए पात्र माना जाता था. हालांकि, इस बार छात्रों की सुविधा के लिए 12वीं बोर्ड परीक्षा में 75 प्रतिशत पात्रता मानदंडों को समाप्त कर दिया गया है.

शिक्षा मंत्री ने अपने ट्वीट में लिखा, "आईआईटी जेईई (एडवांस्ड) के लिए लिए गए निर्णय और पिछले शैक्षणिक वर्ष के लिए लिए गए निर्णय को ध्यान में रखते हुए, अगले शैक्षणिक वर्ष 2021-2022 के लिए संयुक्त प्रवेश परीक्षा (मुख्य) के तहत 75% अंक (कक्षा 12 परीक्षा में) पात्रता मानदंड को समाप्त करने का निर्णय लिया गया है."

संयुक्त प्रवेश परीक्षा मुख्य (JEE Main) देश भर के अंडरग्रेजुएट इंजीनियरिंग कार्यक्रमों में एडमिशन के लिए आयोजित की जाती है, वहीं, JEE Advanced परीक्षा केवल भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों (IIT) में प्रवेश के लिए आयोजित की जाती है. जेईई एडवांस्ड परीक्षा में उपस्थित होने के लिए उम्मीदवारों को जेईई मेन क्लियर करना होता है. हालांकि, COVID-19 महामारी के प्रभाव के कारण JEE एडवांस्ड 2021 में कई बदलाव किए गए हैं. 


JEE Main 2021 परीक्षा 4 सत्रों में होगी
नेशनल टेस्टिंग एजेंसी इस साल जेईई मेन 2021 (JEE Main 2021) की परीक्षा 4 बार यानी 4 सत्रों में आयोजित करेगी. जेईई मेन 2021 की परीक्षा  फरवरी, मार्च , अप्रैल और मई में आयोजित की जाएगी. फरवरी सत्र की परीक्षा 23 फरवरी से 26 फरवरी तक आयोजित होगी. अगर कोई उम्मीदवार जेईई मेन 2021 परीक्षा के चारों सत्रों में उपस्थित होता है, तो ऐसे में चारों सत्रों की परीक्षाओं में से उम्मीदवार के बेस्ट स्कोर को माना जाएगा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


JEE Main 2021 परीक्षा 13 भाषाओं में होगी
पहली बार JEE Main 2021 परीक्षा 13 भाषाओं में आयोजित की जाएगी. परीक्षा अंग्रेजी, हिंदी, असमिया, बंगाली, गुजराती, कन्नड़, मराठी, मलयालम, ओडिया, पंजाबी, तमिल, तेलुगु और उर्दू भाषा में होगी.