NDTV Khabar

JEE MAIN: खुशखबरी! CBSE ने छात्रों को परीक्षा से पहले दी यह बड़ी राहत, पढ़िए पूरी खबर

स्लॉट चयन की सुविधा उन्हें केवल पेपर-1 यानी बीई,बीटेक की ऑनलाइन परीक्षा के लिए ही मिलेगी

2 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
JEE MAIN: खुशखबरी! CBSE ने छात्रों को परीक्षा से पहले दी यह बड़ी राहत, पढ़िए पूरी खबर

प्रतीकात्मक फोटो

खास बातें

  1. स्लॉट के हिसाब से मिलेगी छात्रों को जगह
  2. ऑनलाइन परीक्षा देने वाले छात्रों को ही होगा फायदा
  3. सीबीएसई ने दिया छात्रों को विशेष अधिकार
नई दिल्ली : JEE MAIN 2018 की परीक्षा देने वाले छात्र अब परीक्षा का दिन और समय खुद से ही तय कर पाएंगे. यह सुविधा ऑनलाइन माध्यम से परीक्षा देने वाले छात्रों को मिलेगी.  हालांकि स्लॉट चयन की सुविधा उन्हें केवल पेपर-1 यानी बीई,बीटेक की ऑनलाइन परीक्षा के लिए ही मिलेगी. ऑनलाइन परीक्षा के लिए स्लॉट या तारीख पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर मिलेगा. ध्यान देने वाली  बात यह है कि एक से ज्यादा स्लॉट में बैठने पर छात्रों की उम्मीदवारी रद्द हो जाएगी. सीबीएसई ने जेईई मेन ऑनलाइन परीक्षा के लिए उम्मीदवारों को अपना मनपंसद दिन व शिफ्ट चुनने का विकल्प दिया है.

यह भी पढ़ें:JEE MAINS: परीक्षा का शेड्यूल हुआ जारी, पढ़िए किस तारीख से शुरू होगी आवेदन की प्रक्रिया

अगर किसी उम्मीदवार ने फार्म में ऑनलाइन परीक्षा का विकल्प भरा है, लेकिन किसी कारण से स्लॉट का चयन नहीं कर पाए हों, तो फिर ऐसे उम्मीदवारों को उपलब्धता के आधार पर स्लॉट आवंटित किए जाएंगे. उम्मीदवारों को यह ध्यान रखना होगा कि एक बार स्लॉट व तारीख का चयन करने के बाद उसमें किसी तरह का कोई भी बदलाव नहीं किया जाएगा.

मुख्य तारीखें
- 01 दिसंबर से शुरू होगा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, 01 जनवरी, 2018 तक चलेगी रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया  
- 08 अप्रैल को ऑफलाइन और 15-16 अप्रैल को होगी जेईई मेन ऑनलाइन परीक्षा
- 30 अप्रैल को आएगा स्कोर और छात्रों की ऑल इंडिया रैंकिंग 

12वीं में आए अंक को वेटेज नहीं 
जेईई मेन के लिए सीबीएसई इस बार 12वीं के रोल नंबर का सत्यापन नहीं करेगा. इसका वजह से जेईई मेन की रैंकिंग में 12वीं में आए अंक को वेटेज नहीं मिलेगी. इसके कारण रोल नंबर सत्यापन की व्यवस्था को समाप्त कर दिया गया है. हालांकि उम्मीदवारों को आईआईटी, एनआईटी, ट्रिपल आईटी में काउंसलिंग के समय रिपोर्टिंग केंद्र पर 75 फीसदी अंकों के साथ अपनी अंक तालिका दिखाना होगा. जेईई एडवांस को क्लीयर करने वाले उन्हीं छात्रों को दाखिला मिलेगा, जिनके 12वीं में 75 फीसद अंक हैं. अगर छात्र आरक्षित श्रेणी से हैं तो उनके लिए 65 फीसद अंकों की अनिवार्यता है, या वह बोर्ड के परिणाम में 20 पर्सेंटाइल में शामिल हों.

यह भी पढ़ें: JEE Advanced 2017: एडमिट कार्ड जारी, Jeeadv.ac.in से करें डाउनलोड

ऑनलाइन परीक्षा की फीस कम होगी 
सीबीएसई द्वारा जेईई मेन की फीस के लिए अलग-अलग स्लैब बनाए गए हैं. पेपर 1 या पेपर 2 ऑफलाइन देने वाले जनरल और ओबीसी कैटेगरी के छात्रों की फीस एक हजार रुपए और छात्राओं के लिए 500 रुपए है. एससी-एसटी और पीडब्ल्यूडी कैटेगरी के लड़के और लड़कियों के लिए शुल्क 500 रुपए है. वहीं दोनों पेपर में शामिल होने वाले जनरल और ओबीसी छात्रों को 18 सौ रुपए और छात्राओं को 900 रुपए चुकाने होंगे. लेकिन ऑनलाइन एग्जाम देने वाले स्टूडेंट्स के लिए यह फीस कम हो जाएगी. पेपर 1 या पेपर 2 ऑनलाइन देने वाले जनरल और ओबीसी छात्रों को सिर्फ 500 रुपये चुकाने होंगे. लड़कियों व एससी-एसटी के छात्रों को 250 रुपये देने होंगे.

VIDEO: पंतनगर कृषि विश्वविद्यालय का भी हाल बेहाल

वहीं दोनों पेपर देने वाले लड़कों को मात्र 1300 रुपये और लड़कियों को 650 रुपये चुकाने होंगे। परीक्षा शुल्क के साथ 18 फीसदी की दर से जीएसटी भी देना होगा.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement