NDTV Khabar

Jharkhand Board JAC Class 12 Arts Result 2017: नतीजे घोषित, यहां करें चेक

JAC Class 12 Arts Result 2017: पिछले साल के मुकाबले रिजल्ट 2 फीसदी गिरा है. इस बार लड़कियों ने बाजी मारी है. 69.19 प्रतिशत छात्र तो 74.02 छात्राएं उत्तीर्ण हुई हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Jharkhand Board JAC Class 12 Arts Result 2017: नतीजे घोषित, यहां करें चेक

Jharkhand Board JAC Class 12 Arts Result 2017: नतीजे घोषित

JAC Class 12 Arts Result 2017: झारखंड एकेडमिक काउंसिल (जेएसी) ने 12वीं (इंटरमीडिएट) आर्ट्स स्ट्रीम का रिजल्ट जारी कर दिया है. परीक्षा में कुल 71.95 प्रतिशत स्टूडेंट्स पास हो गए हैं. पिछले साल के मुकाबले रिजल्ट 2 फीसदी गिरा है. इस बार लड़कियों ने बाजी मारी है. 69.19 प्रतिशत छात्र तो 74.02 छात्राएं उत्तीर्ण हुई हैं. विद्यार्थी अपना रिजल्ट jac.nic.in या jharresults.nic.in पर जाकर देख सकते हैं. 

कैसे देखें परिणाम 
- सबसे पहले बोर्ड की आधि‍कारिक वेबसाइट jac.nic.in , jharresults.nic.in या examresults.net पर जाएं. 
- अब JAC Class 12 Board Arts results 2017 पर क्लिक करें. 
- इसमें अपना रोल नंबर दर्ज करें.
- सब्मिट बटन दबाते ही नतीजे आपके सामने होंगे. 
- रिजल्ट का प्रिंट आउट लेना न भूलें. इसे डाउनलोड करके भी रखें. 

30 मई को घोषित किए गए थे 10वीं और 12वीं के साइंस व कॉमर्स के रिजल्ट
झारखंड एकेडमिक काउंसिल ने 10वीं और 12वीं कक्षा के साइंस और कॉमर्स के नतीजे 30 मई को घोषित कर दिए गए थे. मैट्रिक में 57.91 फीसदी स्टूडेंट्स पास हुए थे. इंटरमीडिएट सांइस में 52.36 फीसदी छात्र पास हुए जबकि कॉमर्स में 60.09 फीसदी छात्रों को सफलता हासिल हुई. झारखंड एकेडमिक काउंसिल की 10 वीं की परीक्षा 18 फरवरी, 2017 को शुरु होकर 01 मार्च तक चली थीं.

खराब रहा 10वीं और 12वीं साइंस व कॉमर्स का रिजल्ट
झारखंड में इस साल 10वीं और 12वीं के नतीजे बेहद खराब आए. प्रदेश के 66 स्कूलों व इंटरमीडिएट कॉलेजों के एक भी छात्र परीक्षा पास नहीं कर पाए. शिक्षा विभाग के सूत्रों के मुताबिक, 33 इंटरमीडिएट कॉलेज और इतनी ही संख्या में उच्च विद्यालयों के एक भी छात्र परीक्षा में पास नहीं हो पाए. 33 इंटरमीडिएट कॉलेजों में कुल 148 छात्र 12वीं कक्षा की परीक्षा में बैठे, जबकि स्कूलों के 240 छात्र 10वीं कक्षा की परीक्षा में बैठे थे, लेकिन एक भी छात्र पास नहीं हो पाए. चिंतित शिक्षकों तथा राष्ट्रीय शिक्षा संघ ने खराब नतीजों के लिए तकनीकी कारणों का हवाला दिया है.

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement