NDTV Khabar

आज का इतिहास: बाबा साहब ने संविधान सभा की अंतिम बैठक में दिया था समापन भाषण

इतिहास में 25 नवंबर की तारीख स्वतंत्र भारत की एक बड़ी महत्वपूर्ण घटना के साथ दर्ज है. 25 नवंबर 1949 को संविधान सभा की आख़िरी बैठक में बाबा साहब भीम राव आंबेडकर ने समापन भाषण दिया था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
आज का इतिहास: बाबा साहब ने संविधान सभा की अंतिम बैठक में दिया था समापन भाषण

बाबा साहब भीम राव आंबेडकर

नई दिल्‍ली:

इतिहास में 25 नवंबर की तारीख स्वतंत्र भारत की एक बड़ी महत्वपूर्ण घटना के साथ दर्ज है. 25 नवंबर 1949 को संविधान सभा की आख़िरी बैठक में बाबा साहब भीम राव आंबेडकर ने समापन भाषण दिया था. इसमें उन्होंने नव निर्मित राष्ट्र के सामने आने वाली चुनौतियों का विस्तार से वर्णन करने के साथ ही बड़े संयमित शब्दों में उन चुनौतियों से निपटने के तरीके भी सुझाए थे. यहां यह उल्लेखनीय है कि बाबा साहब ने उस समय जिन चुनौतियों को राष्ट्र निर्माण में बाधक करार दिया था, वह आज भी उतनी ही विकरालता के साथ देश के सामने मौजूद हैं. यह उनकी दूरदर्शिता ही थी कि वह संविधान सभा के आख़िरी भाषण में आर्थिक और सामाजिक गैरबराबरी के ख़ात्मे को राष्ट्रीय एजेंडे के रूप में सामने लाए.

देश दुनिया के इतिहास में 25 नवंबर की तारीख में दर्ज अन्य प्रमुख घटनाओं का सिलसिलेवार ब्यौरा इस प्रकार है:-


1538: तुर्की का नौसैन्य अभियान जो भारत पहुंचा था, पुर्तगाल का बेड़ा पहुंचने के बाद वापस लौट गया.

1866: इलाहाबाद उच्च न्यायालय का उद्घाटन.1867- अल्फ्रेड नोबल ने डायनामाइट का पेटेंट कराया.

1948: भारत में राष्ट्रीय कैडेट कोर की स्थापना.1949 : संविधान के निर्माता बाबा साहब भीम राव आंबेडकर ने संविधान सभा में ऐतिहासिक भाषण दिया.

1952: पाकिस्तान के मौजूदा प्रधानमंत्री इमरानखान का जन्म. राजनीति में आने से पहले वह देश की क्रिकेट टीम के कप्तान के रूप में खासे लोकप्रिय हुए और देश को 1992 में विश्व कप में विजय दिलाई.

1960: टेलीफ़ोन की एसटीडी व्यवस्था का भारत में पहली बार कानपुर और लखनऊ के बीच प्रयोग किया गया.

1975: सूरीनाम को हालैंड से आजादी मिली.

1998: पाकिस्तान ने अंधेरे में मार करने में सक्षम टैंक-भेदी प्रक्षेपास्त्र का सफल परीक्षण किया.

2001: पाकिस्तान की प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो पांच दिन की यात्रा पर भारत पहुंचीं.

2016: क्यूबा के राजनेता फिदेल कास्त्रो का 90 वर्ष की आयु में निधन. कास्रो को लातिन अमेरिका में कम्युनिस्ट क्रांति के प्रतीक के रूप में जाना जाता है. 

अन्य खबरें
24 नवंबर का इतिहास: आज ही के दिन शहीद हुए थे गुरु तेग बहादुर
9 साल की उम्र में ये बच्चा लेगा इंजीनियरिंग की डिग्री, बना रहा है दिमाग के लिए चिप

टिप्पणियां



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. Education News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... पाकिस्तान, बांग्लादेश के मुस्लिम घुसपैठियों को निकालने के लिए केंद्र सरकार को समर्थन देंगे : राज ठाकरे

Advertisement