NDTV Khabar

अमेरिकी विश्वविद्यालयों में भारतीय छात्रों के आवेदनों में आई भारी कमी, जानिए क्या है वजह

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अमेरिकी विश्वविद्यालयों में भारतीय छात्रों के आवेदनों में आई भारी कमी, जानिए क्या है वजह
वाशिंगटन:

घृणा अपराधों की विभिन्न घटनाओं और ट्रंप प्रशासन की वीजा नीतियों में संभावित बदलावों को लेकर फैले डर और चिंता के चलते अमेरिकी विश्वविद्यालयों में भारतीय छात्रों के आवेदनों की संख्या में तेज कमी देखी गई है.

अमेरिका के 250 से अधिक कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में किए गए सर्वेक्षण के प्रारंभिक नतीजों के अनुसार, इस बार रजिस्ट्रेशन करवाने वाले भारतीय छात्रों के अंडरग्रेजुएट आवेदनों में 26 प्रतिशत और ग्रेजुएट आवेदनों में 15 प्रतिशत की गिरावट आई है.

यह सर्वेक्षण अमेरिका के छह शीर्ष उच्च शिक्षा समूहों ने किया.

‘ओपन डोर्स 2016’ नामक इस रिपोर्ट का पूरा ब्यौरा इस सप्ताह के अंत में जारी किया जाना है.

इन उच्च शैक्षणिक संस्थानों ने अंतरराष्ट्रीय छात्रों की ओर से आने वाले आवेदनों में औसतन 40 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की है.


टिप्पणियां

रिपोर्ट में कहा गया कि अमेरिका में अंतरराष्ट्रीय स्टूडेंट्स रजिस्ट्रेशन में भारत और चीन के छात्रों की हिस्सेदारी 47 प्रतिशत की है. अमेरिका में पढ़ने वाले भारतीय और चीनी छात्रों की संख्या लगभग पांच लाख है.

सर्वेक्षण रिपोर्ट के अनुसार, अंडरग्रेजुएट कोर्स में प्रवेश के लिए चीनी छात्रों की ओर से आने वाले आवेदनों में 25 प्रतिशत और ग्रेजुएट कोर्स में प्रवेश के लिए आने वाले आवेदनों में 32 प्रतिशत की गिरावट आई है.



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement