रक्षा शक्ति विश्वविद्यालय को उन्नत करेगी सरकार, लोकसभा में विधेयक पेश

इस प्रस्तावित विश्वविद्यालय के संबंध दुनिया के अन्य देशों के विश्वविद्यालयों के साथ होंगे जो समकालीन अनुसंधान के आदान प्रदान, शैक्षणिक सहयोग, पाठ्यक्रम डिजाइन, तकनीकी जानकारी एवं प्रशिक्षण तथा कौशल विकास प्रयोजनों पर आधारित होंगे.

रक्षा शक्ति विश्वविद्यालय को उन्नत करेगी सरकार, लोकसभा में विधेयक पेश

लोकसभा में शिक्षा से जुड़े दो व‍िधेयक पेश किए गए

नई दिल्ली:

लोकसभा में सोमवार को राष्ट्रीय रक्षा विश्वविद्यालय विधेयक 2020 पेश किया गया जिसके तहत गुजरात के गांधीनगर स्थित रक्षा शक्ति विश्वविद्यालय को उन्नत करके राष्ट्रीय महत्व की संस्था का दर्जा देने का प्रस्ताव है. निचले सदन में गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने कुछ सदस्यों के विरोध के बीच इस विधेयक को पेश किया. 

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने विरोध कर रहे सदस्यों को शांत करते हुए कहा कि अभी विधेयक सिर्फ पेश किया जा रहा है. जब इस पर चर्चा होगी तब सदस्यों को बोलने का पर्याप्त मौका दिया जाएगा. विधेयक के उद्देश्यों एवं कारणों में कहा गया है कि प्रस्तावित राष्ट्रीय रक्षा विश्वविद्यालय अनुसंधान एवं विभिन्न पक्षकारों के साथ सहयोग के माध्यम से नई जानकारियां सृजित करेगा तथा पुलिस एवं व्यवस्था, दंड न्याय प्रणाली एवं प्रशासन सुधार के संबंध में विशेष ज्ञान एवं नए कौशल, प्रशिक्षण जरूरतों को पूरा करेगा.

इस प्रस्तावित विश्वविद्यालय के संबंध दुनिया के अन्य देशों के विश्वविद्यालयों के साथ होंगे जो समकालीन अनुसंधान के आदान प्रदान, शैक्षणिक सहयोग, पाठ्यक्रम डिजाइन, तकनीकी जानकारी एवं प्रशिक्षण तथा कौशल विकास प्रयोजनों पर आधारित होंगे.

इसके अलावा सरकार ने लोकसभा में सोमवार को राष्ट्रीय फोरेंसिक विज्ञान विश्वविद्यालय विधेयक 2020 पेश किया जिसमें नेशनल फोरेंसिक विज्ञान विश्वविद्यालय को राष्ट्रीय महत्व के विश्वविद्यालय का दर्जा देने का प्रावधान है. निचले सदन में गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने विधेयक पेश किया.
 
विधेयक के उद्देश्यों एवं कारणों में कहा गया है कि प्रस्तावित राष्ट्रीय फोरेंसिक विज्ञान विश्वविद्यालय देश में आपराधिक अध्ययन एवं अनुसंधान को सुगम बनाने एवं उसका संवर्द्धन करने का काम करेगा. इसके माध्यम से देश में अनुपयुक्त व्यवहार विज्ञान अध्ययन, विधि, अपराध विज्ञान एवं उससे जुड़े क्षेत्रों तथा प्रौद्योगिकी को जोड़ते हुए न्याय प्रणाली को सुदृढ़ करने का काम करेगा. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

इसमें कहा गया है कि यह अध्ययन, अनुंसंधान एवं संबद्धता देने वाला विश्वविद्यालय होगा तथा राज्यों एवं संघ राज्य क्षेत्रों में महाविद्यालयों एवं अन्य संस्थाओं को संबद्ध कर सकेगा. 

शिक्षा प्रदान करने के साथ प्रस्तावित विश्वविद्यालय फोरेंसिक विज्ञान के क्षेत्र में उत्कृष्टता केंद्रों की स्थापना कर सकेगा एवं इन क्षेत्रों में आधुनिक सुविधाओं का उपबंध करेगा.