लोकसभा स्पीकर ओम बिरला की बेटी अंजलि का सिविल सेवा में चयन, बताया कैसे मिली सफलता

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला (Lok Sabha Speaker Om Birla) की बेटी अंजलि को संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) द्वारा सिविल सेवाओं के लिए चुना गया है.

लोकसभा स्पीकर ओम बिरला की बेटी अंजलि का सिविल सेवा में चयन, बताया कैसे मिली सफलता

लोकसभा स्पीकर ओम बिरला की बेटी अंजलि का सिविल सेवा में चयन.

नई दिल्ली:

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला (Lok Sabha Speaker Om Birla) की बेटी अंजलि को संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) द्वारा सिविल सेवाओं के लिए चुना गया है. यूपीएससी ने अपनी आरक्षित लिस्ट में 89 उम्मीदवारों की सूची जारी की है. अंजलि ने रामजस कॉलेज से पॉलिटिकल साइंस (ऑनर्स) की पढ़ाई की है और उन्होंने अपने पहले प्रयास में ही सिविल सेवा परीक्षा 2019 में सफलता हासिल की है. 

उन्होंने कहा, "मैं इस परीक्षा में सेलेक्ट होकर बहुत खुश हूं. मैं समाज के लिए कुछ करने के लिए सिविल सेवाओं में शामिल होना चाहती थी, क्योंकि मैंने हमेशा देश के लोगों के प्रति अपने पिता की प्रतिबद्धता को देखा है."

अंजलि ने कहा कि उनकी बड़ी बहन आकांक्षा एक चार्टर्ड अकाउंटेंट हैं और उन्होंने परीक्षा में पास होने के लिए उनकी काफी मदद की है. उन्होंने कहा, "मेरी सफलता का श्रेय विशेष रूप से मेरी बड़ी बहन को जाता है. मुख्य परीक्षा की तैयारी में उन्होंने मेरी बहुत मदद की."

सिविल सेवा परीक्षा वार्षिक रूप से तीन चरणों में आयोजित की जाती है - प्रारंभिक, मुख्य और इंटरव्यू. इस परीक्षा के माध्यम से भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS), भारतीय विदेश सेवा (IFS) और भारतीय पुलिस सेवा (IPS) और अन्य के लिए अधिकारियों का चयन करने के लिए सिविल सेवा परीक्षा आयोजित की जाती है.


2019 सिविल सेवा परीक्षा का परिणाम 4 अगस्त 2020 को घोषित किया गया था. इसमें 927 रिक्तियों के विरुद्ध IAS, IFS, IPS और अन्य ग्रुप '' A'' और ग्रुप '' B'' केंद्रीय सेवाओं में नियुक्ति के लिए 829 उम्मीदवारों की सिफारिश की गई थी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वहीं, आयोग ने सोमवार को 2019 सिविल सेवा परीक्षा के आधार पर अपनी आरक्षित लिस्ट से विभिन्न सिविल सेवाओं के लिए अंजलि सहित 89 उम्मीदवारों की सिफारिश की.