Lucknow University PhD Admission 2019-20: 20 दिसंबर से शुरू होंगे रजिस्ट्रेशन, यहां जानिए डिटेल

लखनऊ विश्वविद्यालय (Lucknow University) में पीएचडी में एडमिशन के लिए फैकेल्टी ऑफ आर्ट्स में सीटों की संख्या सबसे ज्यादा है.

Lucknow University PhD Admission 2019-20: 20 दिसंबर से शुरू होंगे रजिस्ट्रेशन, यहां जानिए डिटेल

Lucknow University Admission: 20 दिसंबर से रजिस्ट्रेशन की होगी शुरूआत.

खास बातें

  • PhD admission की प्रक्रिया की शुरुआत 20 दिसंबर से होने जा रही है
  • 2019-20 सत्र के लिए प्रत्येक विषय में पीएचडी सीटों की संख्या जारी
  • सभी विभागों की 478 पीएचडी सीटों पर किया जाना है आवेदन
लखनऊ :

लखनऊ विश्वविद्यालय (Lucknow University) में पीएचडी एडमिशन (Lucknow University PhD Admission) की प्रक्रिया की शुरुआत 20 दिसंबर से होने जा रही है. विश्वविद्यालय ने 2019-20 सत्र (Lucknow University Session 2019-20) के लिए प्रत्येक विषय में पीएचडी सीटों की संख्या जारी कर दी है. छात्र यूनिवर्सिटी के सभी विभागों की 478 पीएचडी सीटों के लिए आवेदन कर सकते हैं. बता दें कि फैकेल्टी ऑफ आर्ट्स में पीएचडी सीटों की संख्या 243 है जो कि सबसे ज्यादा है. साइंस फैकेल्टी में 144 सीट, कॉमर्स में 41 सीट, लॉ में 38 सीट, एजुकेशन फैकेल्टी में 5 सीट और फाइन आर्ट्स में 7 सीटे हैं.

उम्मीदवार आधिकारिक वेबसाइट lkouniv.ac.in पर जाकर आवेदन कर सकते हैं. सामान्य केटेगरी और ओबीसी केटेगरी के स्टूडेंट्स के लिए आवेदन शुल्क 2000 रुपये है तो वहीं अन्य आरक्षित वर्ग के स्टूडेंट्स के लिए फीस 1000 रुपये तय की गई है.

यह भी पढ़ें- जामिया और AMU के बाद अब लखनऊ की यूनिवर्सिटी में भी पुलिस-छात्रों में भिड़ंत, दोनों तरफ से फेंके गए पत्थर, यूपी के कई जिलों में इंटरनेट बंद

योग्यता की बात की जाए तो स्टूडेंट पीएचडी करने के लिए संंबंधित विषय में पोस्ट ग्रेजुएट होना चाहिए. साथ ही उसके पोस्ट ग्रेजुएशन में 55 फीसदी से अधिक अंक होने चाहिए. आरक्षित श्रेणी के स्टूडेंट्स को 5 फीसदी की राहत दी गई है. 

एडमिशम के लिए यूनिवर्सिटी प्रवेश परीक्षा आयोजित करेगी. NET और JRF उम्मीदवारों के लिए यूनिवर्सिटी एडमिशन के लिए अलग पैमाना तय कर सकती है. बता दें कि इस बार पीएचडी की परीक्षा में 70 अंक लिखित परीक्षा के तो वहीं 30 अंक साक्षात्कार के दिए जाएंगे. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

यूनिवर्सिटी के पोस्ट ग्रेजुएट कोर पेपर के आधार पर ही प्रवेश परीक्षा में सवाल पूछे जाएंगे. एक अन्य पेपर में उम्मीदवार का रिसर्च एप्टीट्यूड जांचा जाएगा. रिसर्च एप्टीट्यूड की परीक्षा सभी उम्मीदवारों के लिए एक सी होगी. जिसमें पांच भागों में सामान्य जागरुकता, डाटा इंटरप्रिटेशन, मेंटल एप्टीट्यूड, न्यूमैरिकल एप्टीट्यूड, लॉजिकल रीजनिंग, सूचना-संचार तकनीक और पर्यावरण से जुड़े सवाल पूछे जाएंगे.