NDTV Khabar

Resume बनाते वक्त ध्यान रखें ये बातें, दौड़ी चली आएगी नौकरी !

रेज्युमे की पहली लाइन को पेशेवर तरीके से लिखना चाहिए. उसमें किसी तरह के रंग और डिजाइन का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए

9 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
Resume बनाते वक्त ध्यान रखें ये बातें, दौड़ी चली आएगी नौकरी !

ऐसे बनाएं असरदार रेज्यूमे

आजकल ज्यादातर लोग नौकरी करते हैं. वक्त आने पर एक नौकरी छोड़ दूसरी नौकरी के लिए भी स्विच कर देते हैं. लेकिन नौकरी बदलने के लिए सबसे जरूरी और कॉमन बात ये होती है कि सबसे पहले आपको अपना रेज्यूमे किसी दूसरी कंपनी में नौकरी के लिए भेजना होगा. दूसरी कंपनी में नौकरी के लिए आपका रेज्यूमे ही काफी हद तक फर्स्ट इंप्रेशन डालता है. जितना दमदार आपका रेज्यूमे होगा, उतनी ही जल्दी रिक्रूटर्स आपकी तरफ आकर्षित होंगे. लेकिन कई बार रेज्यूमे को लोग हल्के में ले लेते हैं और इसके प्रति लापरवाही दिखाते हैं. जिसके कारण काबिलियत होते हुए भी उन्हें नुकसान उठाना पड़ता है.

किसी नौकरी के लिए आवेदन करने के लिए रेज्यूमे काफी अहम भूमिका निभाता है. जरूरी है कि आपका रेज्यूमे ऐसा हो कि पहली बार देखने पर ही कोई भी रिक्रूटर्स आपकी तरफ आकर्षित हो जाए. एक अच्छे रेज्यूमे के लिए इन बातों के जरूर ध्यान में रखना चाहिए...

पहली लाइन
रेज्युमे की पहली लाइन को पेशेवर तरीके से लिखना चाहिए. उसमें किसी तरह के रंग और डिजाइन का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए क्योंकि ऐसा करना गैर-पेशेवर व्यवहार की तरफ इशारा करता है. जरूरी है कि आप अपने रेज्यूमे की पहली लाइन पर अपने काम और स्किल्स को फोकस करते हुए, अपने लक्ष्यों को चिन्हित करें.

फार्मेट
रेज्युमे में इस बात का ध्यान रहे कि आपके रेज्युमे का एक ही फार्मेट रहना चाहिए. ज्यादा रंग या डिजाइन से आपका रेस्यूमे पेशेवर नहीं लगेगा. जितना साधारण आपका रेस्यूमे होगा, वह उतना ही ज्यादा आकर्षक दिखेगा.
 
रिफरेंस न लिखें
अपने रेज्युमे में रिफरेंस नहीं लिखना चाहिए. इसके अलावा खुद की ज्यादा हॉबी लिखने से भी बचना चाहिए. ऐसा करने से रिक्रूटर्स पर गलत असर पड़ता है और आपका रेज्यूमे फीका पड़ सकता है. 

ज्यादा लंबा न हो
रेज्यूमे बनाते वक्त इस बात का ध्यान रखें कि आपका रेज्यूमे ज्यादा लंबा यानि ज्यादा पेज का नहीं होना चाहिए. एक पेज या फिर ज्यादा से ज्यादा दो पेज का रेज्यूमे काफी होता है. ध्यान रहे कि इसी 1-2 पेज के रेज्यूमे में आपको अपनी बात प्रभावी तौर पर कह देनी है.

बढ़ा-चढ़ा कर न लिखें
अपने रेज्यूमे को बनाते वक्त इस बात का ध्यान रखें कि अपने रेज्यूमे में किसी भी बात को बढ़ा-चढ़ा कर न लिखें. जितनी सरल और सटीक भाषा के साथ तथ्यों का विवरण देंगे उतना ही आपका रेज्यूमे दूसरों पर प्रभाव छोड़ेगा. इसके अलावा गलत भाषा और शब्दों का इस्तेमाल न करें. गलत भाषा और शब्दों के इस्तेमाल से आपका रेज्यूमे रिजेक्ट हो सकता है.
 
करियर की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement