NDTV Khabar

जेएनयू में अब छात्रों के लिए 75 फीसदी उपस्थिति अनिवार्य, नहीं तो...

जेएनयू प्रशासन ने सभी छात्रों के लिए न्यूनतम 75 प्रतिशत उपस्थिति अनिवार्य कर दी है.

65 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
जेएनयू में अब छात्रों के लिए 75 फीसदी उपस्थिति अनिवार्य, नहीं तो...

जेएनयू (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: अगर आप जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय यानी जेएनयू के छात्र हैं या फिर आपके जान-पहचान के कोई हैं, तो ये खबर आपके लिए एकदम जरूरी है. जेएनयू प्रशासन ने सभी छात्रों के लिए न्यूनतम 75 प्रतिशत उपस्थिति अनिवार्य कर दी है. यानी अब परीक्षा में वही छात्र शामिल हो सकते हैं, जिनकी कम से कम उपस्थिति 75 फीसदी होगी. 

यह भी पढ़ें - जेएनयू से गायब मुकुल जैन का कोई पता नहीं, पुलिस तफ्तीश में जुटी

हालांकि, अगर कोई छात्र वाजिब चिकित्सकीय आधार पर गैर मौजूद रहता है तो 60 प्रतिशत उपस्थिति पर्याप्त होगी. अनिवार्य उपस्थिति कमेटी की सिफारिश के आधार पर सहायक रजिस्ट्रार (मूल्यांकन) सज्जन सिंह की ओर से जारी परिपत्र में कहा गया है कि बीए, एमए, एमएससी, एमटेक, पीजी डिप्लोमा, एमफिल, पीएचडी और सभी अंशकालिक पाठ्यक्रमों के छात्रों को सेमेस्टर के अंत की परीक्षा में बैठने के लिए न्यूनतम 75 प्रतिशत उपस्थिति अनिवार्य है.

यह भी पढ़ें - JNU Recruitment 2018: 90 पदों के लिए निकली भर्तियों के लिए जल्द करें आवेदन

टिप्पणियां
इसमें कहा गया है, ‘वाजिब शैक्षणिक आधार पर विश्वविद्यालय से गैर मौजूद रहने वाले एमफिल और पीएचडी के छात्रों को सुपवाइजर/संबंधित केंद्र के अध्यक्ष और सक्षम प्राधिकार से पूर्व अनुमति लेनी होगी.’ एमफिल और पीएचडी के छात्रों को सुपरवाइजर की अनुमति से एक शैक्षाणिक वर्ष में 30 दिन की छुट्टी भी प्रदान की गयी है.

VIDEO: JNU में वाइस चांसलर के खिलाफ जनसुनवाई इनपुट भाषा से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement