NDTV Khabar

Exclusive Interview: मोहित बने पहले ही अटेंप्ट में CA Final के टॉपर, इन 5 वजहों ने दिलाई सफलता

मोहित गुप्ता ने 800 में से 587 अंक लाने के साथ सीए फाइनल की परीक्षा में किया टॉप

148 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
Exclusive Interview: मोहित बने पहले ही अटेंप्ट में CA Final के टॉपर, इन 5 वजहों ने दिलाई सफलता

मोहित गुप्ता की फाइल फोटो

खास बातें

  1. रेगुलर पढ़ाई करने की आदत ने बनाया सफल
  2. स्टडी मेटेरियल ने पहले अटेंप्ट में दिलाई सफलता
  3. रामजस कॉलेज से बीकॉम कर चुके हैं मोहित
नई दिल्ली: किसी लक्ष्य को पाने के लिए कड़ी मेहनत की जाए तो आप उस लक्ष्य को जल्दी ही हासिल कर लेते हैं.  CA Topper मोहित गुप्ता के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ. उन्होंने अपनी कड़ी मेहनत की वजह से न सिर्फ CA Final की परीक्षा पहले ही अटेंप्ट में पास की बल्कि टॉपर भी बने.उन्होंने इस परीक्षा में 800 की परीक्षा में 587 अंक हासिल किए. दिल्ली विश्वविद्यालय के रामजस कॉलेज से बीकॉम करने वाले मोहित ने अपनी इस सफलता का श्रेय अपने अभिभावक और कड़ी मेहनत को दिया है. उनके अनुसार उन्होंने तैयारी के दौरान हमेशा 5 प्वाइंट्स को ध्यान में रखा. इस वजह से भी वह पहले अटेंप्ट में सफल हो पाए. आइये जानते हैं कौन सी हैं वे 5 चीजें जिन्होंने मोहित को टॉपर बनाया. 

यह भी पढ़ें: ICAI CA Final November Exam Result 2017 जारी

पढ़ाई के दौरान सोशल मीडिया से दूरी
मोहित ने बताया कि पढ़ाई के दौरान सोशल मीडिया से दूरी भी उनकी सफलता की एक बड़ी वजह बनी. उन्होंने बताया कि वह हर दिन पांच से छह घंटे की पढ़ाई करते थे. इस दौरान वह अपना मोबाइल व अन्य गैजेट स्टडी टेबल से दूर रखते थे  ताकि वह पूरी तरह से पढ़ाई पर ही ध्यान दे सके. उनका मानना है कि उनका यह तरीका उनके लिए सबसे ज्यादा फायदेमंद साबित हुआ. उनका मानना है कि सीए की तैयारी करने वाले अन्य लोग भी इस तरकीब को आजमा सकते हैं. 

स्टडी मेटेरियल पर भरोसा
मोहित का मानना है कि अगर कोई अपनी तैयारी के दौरान सही तरह से आईसीएआई द्वारा दिए गए स्टडी मैटेरियल को ही पढ़े तो वह परीक्षा को आसानी से पास कर सकता है. उन्होंने अपनी तैयारी के दौरान इन स्टडी मेटेरियल को कई बार रिवाइज किया. इससे उन्हें परीक्षा की तैयारी को लेकर काफी मदद मिली. उन्होंने बताया कि अगर कोई भी इन स्टडी मैटेरियल पर ध्यान दें तो उन्हें सफलता जरूर मिलेगी.

यह भी पढ़ें: 121 पदों पर निकली है भर्तियां,16 जनवरी से करें आवेदन

रिवीजन टेस्ट पेपर बनी मददगार
सीए फाइनल ईयर को पहले अटेंप्ट में पास करने में रिवीजन टेस्ट पेपर ने भी मेरी काफी मदद की. आम तौर तैयारी करने वाले छात्र रिवीजन टेस्ट पेपर को हल करने से बचते हैं. अगर आप मेरा अनुभव पूछेंगे तो मेरे लिए यह काफी फायदेमंद रहा है. मैं अकसर टेस्ट पेपर को हल करने के बाद ही कुछ करता था. मेरी यह आदत मेरे लिए काफी फायदेमंद रही. 

पहले के प्रश्न पत्र को हल करना भी फायदेमंद
किसी भी सफलता में बेहतर करने के लिए जरूरी है कि आपको पता हो कि उस परीक्षा में पहले किस तरह के प्रश्न पूछे जा चुके हैं और उनका उत्तर कैसे देना है. मैं भी ऐसा ही करता था. मोहित ने बताया कि उन्होंने फाइनल ईयर की तैयारी के दौरान बीते छह से सात साल के प्रश्न पत्र और उसके उत्तर की गहनता से पढ़ाई की. इसके बाद उन्हें इस बात का अंदाया हो गया कि पूछे जाने वाले प्रश्नों का कैसे जवाब देना है. वह मानते हैं कि ऐसा करने से भी उन्हें खुदको तैयार करने में काफी मदद मिली. 

यह भी पढ़ें: डिप्टी मैनेजर के पद पर एसबीआई ने निकाली 41 भर्तियां

अपने लिए समय निकालना
मोहित मानते हैं कि तैयारी के लिए समय का सही से इस्तेमाल करना जरूरी होता है. इसके लिए आपको रिवीजन के साथ-साथ खुदके लिए समय निकालना भी जरूरी है. वह अकसर कुछ घंटे की पढ़ाई करने के बाद खुदके लिए समय निकालते थे. इस दौरान वह पढ़ी गई चीजों का खुदसे दोहराते थे.

टिप्पणियां
VIDEO: पीएम ने सीए को बताया ऋषि मुनि


रोजाना की उनकी इस आदत ने उन्हें कई चीजों को सही से याद करने और याद रखने में काफी मदद की. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement