NDTV Khabar

नक्सली हमले के बाद बदली नम्रता जैन की जिंदगी, फिर UPSC में हासिल की 12वीं रैंक

UPSC Civil Services में छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा की नम्रता जैन ने 12वीं रैंक हासिल की है. बता दें कि नम्रता जैन (Namrata Jain) ने 2016 की सिविल सेवा परीक्षा में 99वीं रैंक हासिल की थी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नक्सली हमले के बाद बदली नम्रता जैन की जिंदगी, फिर UPSC में हासिल की 12वीं रैंक

नम्रता जैन (Namrata Jain)

खास बातें

  1. नम्रता जैन ने 12वीं रैंक हासिल की है.
  2. नम्रता छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा से आती हैं.
  3. नम्रता जैन कहती हैं, "मैं हमेशा से कलेक्टर बनना चाहती थी.''
नई दिल्ली:

UPSC सिविल सर्विसेज में 12वीं रैंक हासिल करने वाली नम्रता जैन (Namrata Jain) छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले से आती हैं. नक्सलियों का गढ़ कहे जाने वाले दंतेवाड़ा में पली-बढ़ी नम्रता के लिए UPSC की तैयारी करना आसान नहीं था, लेकिन अपने बुलंद हौसले और मेहनत के बलबूते पर उन्होंने यूपीएससी में 12वीं रैंक हासिल कर अपने जिले के साथ पूरे छत्तीसगढ़ का नाम रोशन किया है. नम्रता जैन (UPSC Namrata Jain) ने 2016 की सिविल सेवा परीक्षा में 99वीं रैंक हासिल की थी. उन्हें भारतीय पुलिस सेवा मिली थी और वह सरदार वल्लभभाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी, हैदराबाद में प्रशिक्षण ले रही हैं.

नम्रता जैन (Namrata Jain) कहती हैं, "मैं हमेशा से कलेक्टर बनना चाहती थी. जब मैं 8वीं कक्षा में थी, तब एक महिला अधिकारी मेरे स्कूल में आई थी. बाद में मुझे बताया गया कि वह कलेक्टर थी. मैं उनसे बहुत प्रभावित हुई. उस समय ही मैने यह फैसला कर लिया था कि मुझे कलेक्टर बनना है.'' उन्होंने कहा कि काफी समय पहले नक्सलियों द्वारा किए गए विस्फोट ने उनके शहर के पुलिस स्टेशन को तबाह कर दिया था.


इस घटना ने उन्हें गरीबों की सेवा करने और माओवाद प्रभावित क्षेत्र में विकास लाने के लिए सिविल सेवा (UPSC Civil Services) से जुड़ने के लिए प्रोत्साहित किया. नम्रता जैनने कहा, "मैं जिस जगह से आती हूं, वह नक्सलवाद से बुरी तरह प्रभावित है. वहां के लोगों में शिक्षा जैसी बुनियादी सुविधा का अभाव है. मैं अपने राज्य के लोगों की सेवा करना चाहती हूं."

नम्रता ने दंतेवाड़ा में कक्षा 10 तक पढ़ाई की, इसके बाद वह छत्तीसगढ़ के भिलाई चली गईं जहां उन्होंने इंजीनियरिंग  में बैचलर की डिग्री हासिल की. बता दें कि  नम्रता के पिता एक स्थानीय व्यवसायी हैं, मां एक गृहिणी हैं और उनके भाई एक चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने की इच्छा रखते हैं. 

टिप्पणियां

(पीटीआई इनपुट के साथ)

अन्य खबरें
Exclusive: UPSC टॉपर Kanishak Kataria ने अपनी सफलता पर NDTV से की खुलकर बात
Exclusive : UPSC सिविल सर्विसेज के पांचवें प्रयास में जुनैद को मिली तीसरी रैंक, सफलता की कहानी, उन्हीं की जुबानी
Exclusive: UPSC में देश भर में 5वीं रैंक और लड़कियों में अव्वल रहने वाली सृष्टि ने बताया अपनी सफलता का मंत्र


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement