NDTV Khabar

अब ऑनलाइन खरीद सकेंगे एनसीईआरटी की किताबें, वेबसाइट शुरू

एनसीईआरटी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, पोर्टल पूरे देश में एनसीईआरटी की किताबों के बेहतर वितरण को सुनिश्चित करेगा और उनकी उपलब्धता को लेकर स्कूलों तथा अभिभावकों की आशंकाओं का निदान करेगा

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अब ऑनलाइन खरीद सकेंगे एनसीईआरटी की किताबें, वेबसाइट शुरू

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  1. एनसीईआरटी ने बुधवार को ऑनलाइन पोर्टल शुरू किया
  2. स्कूल 8 सितंबर तक 2018-19 सत्र के लिए पुस्तकों की खरीद का आदेश दे सकते है
  3. खुदरा काउंटर पुस्तकों की बिक्री करना जारी रखेंगे
नई दिल्ली: राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) ने बुधवार को किताबों की किल्लत खत्म करने के लिए ऑनलाइन पोर्टल शुरू किया है. स्कूल 8 सितंबर तक 2018-19 सत्र के लिए पुस्तकों की खरीद का आदेश दे सकते हैं. स्कूल बोर्ड की संबद्धता संख्या और अन्य विवरण के जरिए www.ncertbooks.ncert.gov.in पर लॉग ऑन कर किताबों का ऑर्डर दे सकते हैं.  

यह भी पढ़ें : सरकार ने हाईकोर्ट से कहा, RTE के तहत कोर्स के लिए निर्धारित अथॉरिटी है NCERT

डाक से पहुंचेगा किताब
एनसीईआरटी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, पोर्टल पूरे देश में एनसीईआरटी की किताबों के बेहतर वितरण को सुनिश्चित करेगा और उनकी उपलब्धता को लेकर स्कूलों तथा अभिभावकों की आशंकाओं का निदान करेगा. स्कूलों के पास यह विकल्प रहेगा कि वे एनसीईआरटी के नजदीकी विक्रेता या अहमदाबाद, कोलकाता, गुवाहाटी और बेंगलुरु में स्थित क्षेत्रीय उत्पाद एवं वितरण केंद्रो (आरपीडीसी) से पाठ्य पुस्तकें सीधे प्राप्त कर सकते हैं. अधिकारी ने कहा कि जल्द ही कोई भी वेबसाइट पर लॉग इन करके ऑर्डर कर सकेगा. पुस्तकें उनके घरों तक नाम मात्र के डाक शुल्क पर पहुंचा दी जाएंगी. उन्होंने कहा कि खुदरा काउंटर पुस्तकों की बिक्री जारी रखेंगे.
 
यह भी पढ़ें : NCERT ने कहा, बुक्‍स की कीमतों में बढ़ोतरी करने की कोई संभावना नहीं

VIDEO: CBSE की चेतावनी-किताबें और यूनिफॉर्म खरीदने के लिए बाध्य नहीं कर सकते स्कूल​



महंगी किताबें खरीदनी पड़ती थी
एनसीईआरटी की पुस्तकों की अनुपलब्धता होने पर छात्रों के पास निजी प्रकाशकों की मंहगी किताबें खरीदने के अलावा कोई विकल्प नहीं होता है. एनसीईआरटी के अधिकारियों ने कहा कि अगर स्कूल वक्त पर ऑर्डर दे देते हैं तो उनकी आपूर्ति सुनिश्चित की जा सकती है.
 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement