NCERT की पाठ्यपुस्तकें अब भारतीय सांकेतिक भाषा में होंगी उपलब्ध, जानिए डिटेल

राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद (NCERT) ने बधिर बच्चों को संकेत भाषा में पाठ्यपुस्तक और अन्य शैक्षणिक सामग्री उपलब्ध कराने के लिए मंगलवार को भारतीय संकेत भाषा अनुसंधान एवं प्रशिक्षण केंद्र के साथ एक सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए. 

NCERT की पाठ्यपुस्तकें अब भारतीय सांकेतिक भाषा में होंगी उपलब्ध, जानिए डिटेल

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली:

राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद (NCERT) ने बधिर बच्चों (Deaf Children) को संकेत भाषा में पाठ्यपुस्तक और अन्य शैक्षणिक सामग्री उपलब्ध कराने के लिए मंगलवार को भारतीय संकेत भाषा अनुसंधान एवं प्रशिक्षण केंद्र के साथ एक सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए. 

केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत ने कहा, ‘‘भारतीय संकेत भाषा में एनसीईआरटी की पाठ्यपुस्तकों की उपलब्धता से बधिर बच्चे (Deaf Children) भी अब शिक्षा संसाधनों तक पहुंच बना सकते हैं और यह शिक्षकों, अभिभावकों और बधिर समुदाय के लिए एक उपयोगी तथा अत्यावश्यक संसाधन होगा.''

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


मंत्रालय के अधिकारियों के अनुसार बच्चों में ज्ञानात्मक कौशल बाल्यावस्था में विकसित होता है और यह आवश्यक है कि बच्चों को उनकी शिक्षण आवश्यकताओं के अनुसार शिक्षण सामग्री उपलब्ध कराई जाए. सहमति पत्र पर हस्ताक्षर गहलोत और केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक' की डिजिटल मौजूदगी में हुए.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)