NEET 2017 Result: आज होगी नतीजों की घोषणा, यहां करें चेक

CBSE NEET 2017 Result: CBSE द्वारा परीक्षा परिणाम की घोषणा से मेडिकल कोर्सेज में दाखिला लेना चाह रहे लाखों विद्यार्थियों को राहत मिलेगी. नीट का आयोजन मेडिकल और डेंटल कॉलेजों में एमबीबीएस और बीडीएस कोर्सेस में प्रवेश के लिए किया जाता है.

NEET 2017 Result: आज होगी नतीजों की घोषणा, यहां करें चेक

CBSE NEET Result 2017: आज होगी नतीजों की घोषणा, यहां करे चेक

खास बातें

  • Cbseresults.nic.in पर की जाएगी नतीजों की घोषणा
  • 7 मई को हुई थी मेडिकल प्रवेश परीक्षा
  • सुप्रीम कोर्ट ने रिजल्ट पर लगी रोक को हटा दिया था

NEET 2017 Result: केंद्रीय माध्‍यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) आज राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा यानी नीट का परीक्षा परिणाम जारी करेगा. नतीजों की घोषणा Cbseresults.nic.in पर की जाएगी. NEET Result 2017 की घोषणा से मेडिकल कोर्सेज में दाखिला लेना चाह रहे लाखों विद्यार्थियों को राहत मिलेगी. गौरतलब है कि 12 जून को नीट के नतीजे पर लगी रोक को सुप्रीम कोर्ट ने हटा दिया है और मद्रास हाई कोर्ट के फैसले पर स्‍टे लगा दिया है. कोर्ट ने कहा था कि कोई भी हाईकोर्ट इस मसले पर याचिका की सुनवाई न करे. सुप्रीम कोर्ट ने सीबीएसई से कहा कि वह रिजल्‍ट जारी करे और काउंसलिंग शुरू करे. 

CBSE NEET Result 2017: 7 मई को हुई थी परीक्षा
उम्मीदवारों को लम्‍बा इंतजार कराने के बाद बोर्ड ने हाल ही में आंसर-की को चुनौती देने की प्रक्रिया पूरी की. सीबीएसई ने 7 मई को आयोजित इस परीक्षा के लिए आंसर-की जारी की थी और बोर्ड द्वारा 16 जून तक चुनौतियों को स्वीकार किया गया था. 

cbse exam
CBSE NEET Result 2017: खत्म होगा विद्यार्थियों का इंतजार
CBSE NEET Result 2017: नीट क्वालिफाई करने पर यहां मिलेगा एडमिशन
NEET परीक्षा मेडिकल और डेंटल कॉलेजों में एमबीबीएस और बीडीएस प्रोग्राम्स में एडमिशन के लिए ली जाती है. लेकिन एम्स और जेआईपीएमईआर, पांडुचेरी को इस परीक्षा से छूट प्राप्त है. इस दोनों मेडिकल संस्थानों में दाखिले के लिए अलग से प्रवेश परीक्षा होती है. 
CBSE NEET Result 2017: 8 जून को आने वाले थे पहले नतीजे
मद्रास हाई कोर्ट के मदुरै बेंच ने 8 जून को नीट के नतीजे जारी करने पर रोक लगा दी थी. NEET Result 2017 पर रोक का मामला करीब 12 लाख अभ्यार्थियों के भविष्य से जुड़ा है. करीब साढे दस लाख छात्रों ने हिन्दी या अंग्रेजी भाषा में परीक्षा दी थी, जबकि करीब सवा से डेढ लाख छात्रों आठ क्षेत्रीय भाषाओं में परीक्षा में बैठे थे.
 
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com