NDTV Khabar

NEET 2018: कड़ा और कृपाण धारी सिख छात्रों को एक घंटे पहले पहुंचना होगा परीक्षा केन्द्र

न्यायमूर्ति एस रविन्द्र भट और न्यायमूर्ति एके चावला की पीठ ने सीबीएसई की उस दलील को खारिज कर दिया कि इन वस्तुओं सहित किसी प्रकार के धातु से बने सामान को परीक्षा केन्द्र के भीतर ले जाने की मनाही है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
NEET 2018: कड़ा और कृपाण धारी सिख छात्रों को एक घंटे पहले पहुंचना होगा परीक्षा केन्द्र

6 मई को नीट का एग्जाम

नई दिल्ली: भारत में मेडिकल कोर्स में दाखिले के लिए नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (NEET) का आयोजन किया जाता है. इस बार नीट परीक्षा का आयोजन 6 मई, 2018 को होगा. नीट परीक्षा के संबंध में दिल्ली उच्च न्यायालय के फैसले के बाद कड़ा और कृपाण धारण करने वाले एमबीबीएस के सिख परीक्षार्थियों को तय समय से एक घंटे पहले परीक्षा केन्द्र पर पहुंचना होगा. अदालत ने कहा कि सीबीएसई पंथ से जुड़ी इन वस्तुओं को परीक्षा केन्द्र के भीतर ले जाने से नहीं रोक सकती है, जबकि इन्हें विमान में भी लेकर जाने की अनुमति होती है.
 


न्यायमूर्ति एस रविन्द्र भट और न्यायमूर्ति एके चावला की पीठ ने सीबीएसई की उस दलील को खारिज कर दिया कि इन वस्तुओं सहित किसी प्रकार के धातु से बने सामान को परीक्षा केन्द्र के भीतर ले जाने की मनाही है. पीठ ने कहा कि अस्पष्ट आशंकाओं के आधार पर आप प्रतिबंध नहीं लगा सकते हैं. 
टिप्पणियां

पीठ ने कहा कि ऐसी अस्पष्ट आशंका नहीं होनी चाहिए कि परीक्षा के लिए आने वाले लोग नकल करेंगे ही. क्या इन वस्तुओं के दुरूपयोग की एक भी मिसाल है? अगर आप अपने नियमों के मुताबिक चलें तो बहुत सारी बातें हैं. नियमों की समरूपता मूर्खता के हद में नहीं बदल जानी चाहिए. (इनपुट: भाषा)
 

करियर से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें.
 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement