NEET परीक्षा में सबसे ज्यादा पास हुए UP के उम्मीदवार, दूसरे स्थान पर है ये राज्य

न्यूज एजेंसी PTI के अनुसार एक अधिकारी ने कहा, "इस साल उत्तर प्रदेश के 88,889 उम्मीदवारों ने NEET की परीक्षा पास की है. दूसरे स्थान पर महाराष्ट्र है. यहां 79,974 उम्मीदवारों ने ये परीक्षा पास की है."

NEET परीक्षा में सबसे ज्यादा पास हुए UP के उम्मीदवार, दूसरे स्थान पर है ये राज्य

NEET परीक्षा में सबसे ज्यादा पास हुए UP के उम्मीदवार

नई दिल्ली:

NEET 2020 Results: नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) के पास उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार, इस साल मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट में पास होने वाले छात्रों की संख्या सबसे ज्यादा है. 13.66 लाख से अधिक उम्मीदवारों में से 7.7 लाख ने NEET 2020 परीक्षा पास की है. बतादें, ये परीक्षा देश भर में  MBBS कोर्सेज में दाखिला लेने के लिए आयोजित की जाती है.

न्यूज एजेंसी PTI के अनुसार एक अधिकारी ने कहा, "इस साल उत्तर प्रदेश के 88,889 उम्मीदवारों ने NEET की परीक्षा पास की है. दूसरे स्थान पर महाराष्ट्र है. यहां 79,974 उम्मीदवारों ने ये परीक्षा पास की है."

केरल (59,404) और कर्नाटक (55,009) के बाद 65,758 सफल उम्मीदवारों के साथ NEET परीक्षा पास करने वाले उम्मीदवारों की संख्या के मामले में राजस्थान तीसरे स्थान पर है. कुल 23,554 उम्मीदवारों ने दिल्ली से परीक्षा पास की है, जबकि 22,395 सफल उम्मीदवार हरियाणा से हैं.

नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (NEET) का रिजल्ट शुक्रवार को घोषित कर दिया गया. प्रारंभिक आंकड़ों के अनुसार त्रिपुरा को सबसे अधिक उम्मीदवारों के साथ राज्य के रूप में आंका गया था. हालांकि, नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने बाद में डेटा को “मानव त्रुटि” करार देते हुए सुधार किया था.

अधिकारी ने कहा, “परीक्षा में क्वालीफाई करने वाली महिलाओं की संख्या अधिक है. जहां 4.27 लाख महिलाओं ने परीक्षा पास की है, वहीं परीक्षा पास करने वाले पुरुषों की संख्या 3.43 लाख है.

4 ट्रांसजेंडर उम्मीदवारों में से एक, जो परीक्षा के लिए उपस्थित हुए थे, सफल रहे हैं.” NEET परीक्षा को COVID-19 महामारी के मद्देनजर कड़ी सावधानियों के बीच 13 सितंबर को आयोजित किया गया था. इस साल से, 13 ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज, जवाहरलाल इंस्टीट्यूट ऑफ पोस्टग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च, पुदुचेरी में MBBS कोर्सेजमें एडमिशन भी नेशनल मेडिकल कमीशन एक्ट, 2019 में संशोधन के बाद NEET के माध्यम से किया जाएगा, जो संसद द्वारा पिछले साल पारित किया गया था.

इस साल 11 भाषाओं – अंग्रेजी, हिंदी, असमिया, बंगाली, गुजराती, कन्नड़, मराठी, ओडिया, तमिल, तेलुगु और उर्दू में टेस्ट आयोजित की गई थी.

प्रारंभिक रिपोर्ट के आधार पर 77 प्रतिशत से अधिक उम्मीदवारों ने अंग्रेजी में परीक्षा दी, लगभग 12 प्रतिशत हिंदी में और 11 प्रतिशत अन्य भाषाओं में. COVID-19 महामारी के कारण परीक्षा को पहले दो बार स्थगित किया गया था और सरकार ने आगे किसी एकेडमिक नुकसान को कम करने के लिए एक वर्ग के विरोध के बावजूद इसके साथ आगे बढ़ने का फैसला किया था.

 शोएब आफताब बने इस साल के टॉपर

बता दें, इस साल NEET परीक्षा 2020  में उड़ीसा के शोएब आफताब (Shoyeb Aftab) ने 720 में से 720 अंक लाकर टॉप किया है.  नीट परीक्षा के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है, जब कोई उम्मीदवार पूरे मार्क्स लेकर आया हो.

वहीं दिल्ली की आकांक्षा सिंह भी NEET परीक्षा में 720 में से 720 अंक लेकर आई है. हालांकि कम उम्र होने की वजह उन्हें दूसरी रैंक मिली है.


बता दें,  नीट में 720 में से 720 अंक लाने वाली दिल्ली की अकांक्षा सिंह के हाथों से कम उम्र होने की वजह से पहली रैंक फिसल गई. इस परीक्षा में ओडिशा के शोएब आफताब के साथ सिंह को शत प्रतिशत अंक मिले हैं,  लेकिन नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) की टाई-ब्रेकिंग नीति (समान अंक आने पर वरिष्ठता तय करने की प्रणाली) के तहत कम उम्र होने की वजह से उन्हें दूसरी रैंक मिली. अधिकारियों ने बताया कि टाई-ब्रेकर नीति में उम्र, विषयों में अंक और गलत उत्तर को संज्ञान में लिया जाता है. उन्होंने बताया कि शोएब और अकांक्षा को बराबर अंक मिले थे. इसलिए उम्र के आधार पर रैंकिंग तय की गई थी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)