NEET Counselling 2017: ऑल इंडिया मेडिकल काउंसलिंग रजिस्‍ट्रेशन, 5 जरूरी बातें

NEET 2017: प्रवेश प्रक्रिया पर भारत के सर्वोच्च न्यायालय के निर्देशों का अनुपालन करते हुए स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने एक मेडिकल काउंसिलिंग कमेटी (MCC) का गठन किया है.

NEET Counselling 2017: ऑल इंडिया मेडिकल काउंसलिंग रजिस्‍ट्रेशन, 5 जरूरी बातें

NEET Counselling 2017: ऑल इंडिया मेडिकल काउंसलिंग रजिस्‍ट्रेशन, 5 जरूरी बातें

नई दिल्‍ली:

राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (नीट) के आधार पर अखिल भारतीय चिकित्सा के लिए काउंसलिंग का ऑनलाइन रजिस्‍ट्रेशन शुरू हो गया है. नीट की परीक्षा का परिणाम 23 जून को घोषित किया गया था. प्रवेश प्रक्रिया पर भारत के सर्वोच्च न्यायालय के निर्देशों का अनुपालन करते हुए स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने एक मेडिकल काउंसिलिंग कमेटी (MCC) का गठन किया है. मेडिकल की 470 और डेंटल के 308 कोर्सेस में एडमिशन के लिए केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की राष्ट्रीय पात्रता प्रवेश परीक्षा (नीट) 2017 की काउंसलिंग शुरू हो गई है.
 

नीट ऑल इंडिया कोटा काउंसलिंग का कौन होगा पात्र

केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) द्वारा आयोजित एनईईटी परीक्षा में अपने रैंक के आधार पर ऑल इंडिया कोटा सीटों के लिए योग्यता प्राप्त करने वाले उम्मीदवार ऑनलाइन परामर्श के लिए पात्र है. इसमें आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और जम्मू और कश्मीर राज्य शामिल नहीं है. योग्‍य उम्मीदवार सीबीएसई वेबसाइट (cbseneet.nic.in) पर जाकर रैंक पत्र/परिणाम डाउनलोड कर सकते हैं.

भारतीय नागरिक, अनिवासी भारतीय (एनआरआई), भारतीयों के प्रवासी नागरिक (ओसीआई), भारतीय मूल के व्यक्ति (पीआईओ) और विदेशी नागरिक 15 फीसदी इंडिया कोटा सीटों के लिए पात्र हैं.

NEET Counselling 2017: 470 मेडिकल और 308 डेंटल कॉलेजों के लिए काउंसलिंग शुरू

वहीं अगर बात करें स्‍टेट कोटे की तो निजी मेडिकल और दंत चिकित्सा कॉलेज की सीटों में उम्मीदवारों को उपयुक्त राज्य सरकार/प्रवेश प्राधिकरण और चिकित्सा शिक्षा निदेशालय से संपर्क करना आवश्यक है.
 

क्‍या है ऑल इंडिया रैंक?

सीबीएसई द्वारा नीट यूजी में सफल उम्‍मीदवारों को सीबीएसई द्वारा एक रैंक दी जाती है.
 

क्‍या है ऑल इंडिया कोटा रैंक?

आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और जम्मू और कश्मीर से उम्मीदवारों को छोड़कर यह अखिल भारतीय कोटा सीट आवंटन के उद्देश्य दी जाने वाली एक रैंक है. सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के अनुसार इन तीन राज्यों के उम्मीदवार 15फीसदी अखिल भारतीय कोटा काउंसिलिंग के लिए भाग लेने के योग्य नहीं हैं.
 

ऑनलाइन अलॉटमेंट का क्‍या है प्रोसेस?

मुख्य काउंसलिंग पंजीकरण
विकल्प का प्रयोग, संकेतक सीटें और विकल्पों को लॉक करना
प्रोसेस ऑफ सीट अलॉमेंट – राउंड 1 (यह एमसीसी द्वारा संचालित कंप्यूटर सॉफ्टवेयर प्रक्रिया है)
राउंड 1 रिजल्‍ट पब्लिकेशन
अलॉटिड मेडिकल में रिर्पोटिंग/डेंटल कॉलेज के खिलाफ पहला राउंड
नेट की खाली सीटों का प्रकाशन
राउंड 2 के लिए योग्य उम्मीदवारों द्वारा ताजा विकल्प और पंजीकरण सबमिशन
प्रोसेस ऑफ सीट अलॉमेंट – राउंड 2
राउंड 2 रिजल्‍ट पब्लिकेशन
अलॉटिड मेडिकल में रिर्पोटिंग/डेंटल कॉलेज/राउंड 2 के खिलाफ संस्थाएं
15 फीसदी ऑल इंडिया काउंसलिंग की समाप्ति और ज्‍वाइन न किए छात्रों को रिर्वट करना, राज्य कोटेशन के लिए आवंटित सीटों के लिए नहीं.
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com