UGC NET एग्जाम की तारीखों को लेकर मानव संसाधन विकास मंत्री ने दी ये जानकारी

UGC NET की परीक्षा असिस्टेंट प्रोफेसर और जूनियर रिसर्च फैलोशिप (JRF) के लिए आयोजित की जाती है.  इस परीक्षा का आयोजन नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) द्वारा वर्ष में दो बार किया जाता है.

UGC NET एग्जाम की तारीखों को लेकर मानव संसाधन विकास मंत्री ने दी ये जानकारी

UGC NET एग्जाम की तारीखों के बारे में जल्द ही घोषणा की जाएगी.

नई दिल्ली:

मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने आज लाइव आकर देशभर के शिक्षकों से बात करके उनके सवालों के जवाब दिए. इस वेबिनार के दौरान मंत्री से UGC NET एग्जाम के बारे में भी सवाल किया गया. इस पर जवाब देते हुए उन्होंने कहा है कि वे आने वाले दिनों में UGC के साथ मीटिंग करेंगे और उसमें UGC NET एग्जाम की तारीखों के बारे में फैसला लिया जाएगा और परीक्षा की तारीखों की घोषणा जल्द ही कर दी जाएगी. 

UGC NET की परीक्षा असिस्टेंट प्रोफेसर और जूनियर रिसर्च फैलोशिप (JRF) के लिए आयोजित की जाती है.  इस परीक्षा का आयोजन नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) द्वारा वर्ष में दो बार किया जाता है. पहला जून में और दिसंबर में. 

बता दें कि कोरोनावायरस के प्रकोप के चलते जून में होने वाले UGC NET एग्जाम को स्थगित कर दिया गया था. इसी के साथ  UGC NET (NTA NET) के लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया को भी पोस्टपोन कर दिया गया था. एनएटीए की नई नोटिफिकेशन के मुताबिक, इस बार CSIR NET और UGC NET के एग्जाम में शामिल होने वाले उम्मीदवार 15 और 16 मई तक ऑनलाइन एप्लिकेशन फॉर्म भऱ सकते हैं

वेबिनार के दौरान मंत्री ने ये भी बताया कि सीबीएसई (CBSE) की बोर्ड परीक्षाओं की कॉपियां जांचने की प्रक्रिया 50 दिनों के अंदर पूरी हो जाएगी. सीबीएसई बोर्ड परीक्षाओं की इवैल्यूएशन की प्रक्रिया 3000 केंद्रों पर चल रही है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

वेबिनार के दौरान एक टीचर ने मानव संसाधन विकास मंत्री से पूछा कि टीचर्स रोजाना 4 घंटे ऑनलाइन क्लासेस लेते हैं, ऑनलाइन रिपोर्ट्स सबमिट करते हैं. ऐसे में टीचर्स बोर्ड परीक्षाओं की कॉपियां जांचने के लिए समय कैसे निकालें?

इसके जवाब में मंत्री ने कहा कि बोर्ड परीक्षाओं की कॉपियां जांचने के लिए शिक्षकों के घर पर भेजी जा चुकी हैं. जिन शिक्षकों को कॉपियां चेक करने का कार्य मिला है उन्हें रोजाना रिपोर्ट सबमिट ना करने की छूट दी गई है. अगर शिक्षक कॉपियां जांचने का कार्य कर रहे हैं और इसके बावजूद उनसे रोजाना रिपोर्ट सबमिट करने के लिए कहा जाता है तो वे इस मामले में सीबीएसई से सीधे तौर पर बात कर सकते हैं.