NDTV Khabar

R. Venkataraman Birth Anniversary: भारत के आठवें राष्ट्रपति रामास्वामी वेंकटरमण के जीवन से जुड़ी 10 बातें

R. Venkataraman की आज जयंती है. रामास्वामी वेंकटरमण एक भारतीय विधिवेत्ता, स्वाधीनता सैनानी, राजनेता और देश के आठवें राष्ट्रपति थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
R. Venkataraman Birth Anniversary: भारत के आठवें राष्ट्रपति रामास्वामी वेंकटरमण के जीवन से जुड़ी 10 बातें

R. Venkataraman Birthday: वेंकटरमन का जन्‍म 4 दिसंबर 1910 को हुआ था.

नई दिल्ली: भारत के आठवें राष्ट्रपति रामास्वामी वेंकटरमण (R. Venkataraman) की आज जयंती है. आज पूरा देश उनको याद कर रहा है. वेंकटरमन (R. Venkataraman Birthday) का जन्‍म 4 दिसंबर 1910 को तमिलनाडु में तंजौर के निकट पट्टुकोट्टय में हुआ था. रामास्वामी वेंकटरमण (Ramaswamy Venkataraman) एक भारतीय विधिवेत्ता, स्वाधीनता सैनानी, राजनेता और देश के आठवें राष्ट्रपति थे. राष्ट्रपति बनने से पूर्व वेंकटरमन करीब चार साल तक भारत के उपराष्ट्रपति भी रहे. वेंकटरमण की प्रारंभिक शिक्षा तंजौर में ही पूरी हुई. इसके बाद उन्होंने मद्रास के ही लॉ कॉलेज से कानून की पढ़ाई की. साल 1935 में वे मद्रास हाईकोर्ट में वकालत करने लगे और साल 1951 में उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में वकालत शुरू कर दी. उन्होंने महात्मा गांधी के भारत छोड़ो आन्दोलन में अपनी सक्रिय भूमिका निभाई थी. अगस्त 1984 में उन्हें भारत का उप राष्ट्रपति चुना गया और 25 जुलाई 1987 को वे भारत के आठवे राष्ट्रपति चुने गए. आज हम रामास्वामी वेंकटरमण की जयंती के  मौके पर उनके जीवन से जुड़ी 10 बातें बताने जा रहे हैं.
 

रामास्वामी वेंकटरमण से 10 जुड़ी बातें


1. रामास्वामी वेंकटरमण (Ramaswamy Venkataraman) का जन्म 4 दिसंबर 1910 को मद्रास के तंजौर के निकट पट्टुकोट्टय में हुआ था. इनके पिता रामास्वामी अय्यर पेशे से वकील थे. जो तंजौर जिले में वकालत करते थे.

2. आर वेंकटरमण ने मद्रास के लॉ कॉलेज से कानून की पढ़ाई की. पढ़ाई पूरी होने के बाद उन्होंने मद्रास हाईकोर्ट में वकालत में की. बाद में उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में वकालत शुरू कर दी.


3. रामास्वामी (R. Venkataraman) ने साल 1931 में जानकी देवी से विवाह किया.

4. उन्होंने देश के स्वतंत्रता आंदोलन में भाग लिया और 1942 के भारत छोड़ो आंदोलन में सक्रिय भूमिका निभाई. स्वतंत्रता के बाद वकालत में उनकी श्रेष्ठता को देखते हुए भारत सरकार ने उन्हें देश के उत्कृष्ट वकीलों की टीम में स्थान दिया.

5. 1952 में उन्हें देश की प्रथम संसद का सदस्य चुना गया. वह 1957 तक संसद के सदस्य रहे.

6. साल 1957 में उन्हें फिर से लोकसभा के लिए चुना गया लेकिन वह इस पद पर सिर्फ कुछ दिनों तक रहे. उन्होंने मद्रास राज्य में मंत्री पद के लिए संसद की सदस्यता से त्यागपत्र दे दिया.


7. वेंकटरमण ने साल 1953, 1955, 1956, 1958, 1959, 1960 और 1961 में संयुक्त राष्ट्र संघ की महासभा में भारत का प्रतिनिधित्व किया.

टिप्पणियां
8. साल 1980 में वह एक बार फिर लोकसभा के लिए चुने गए. इंदिरा गांधी की सरकार में जब उन्हें भारत का रक्षा मंत्री बनाया गया तब भारत ने मिसाइलों के क्षेत्र में उन्नत स्थिति हासिल की. अपने पद पर रहते हुए उन्होंने ही ए.पी.जे. अब्दुल कलाम से भारत के मिसाइल प्रोग्राम में जुड़ने के लिए कहा.

9. अगस्त 1984 में उन्हें भारत का उप राष्ट्रपति चुना गया और 25 जुलाई 1987 को वे भारत के आठवे राष्ट्रपति चुने गए. अपने 5 साल के कार्यकाल के दौरान उन्होंने 4 प्रधानमंत्रियों के साथ काम किया.

10. 27 जनवरी 2009 को उन्होंने इस दुनिया को अलविदा कह दिया.




Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement