NDTV Khabar

सैलरी के अलावा ये हैं वो 5 वजहें, जिनके कारण 3 से 5 सालों में जरूरी होता है नौकरी बदलना

ध्यान रखें कि तीन से पांच साल से ज्यादा वक्त अगर किसी जॉब में गुजारने लगते हैं तो आप कंफर्ट लेवल में पहुंच जाते हैं. धीरे-धीरे आप जॉब चेंज करने से लिहाज से बहुत कमजोर हो जाते हैं.

3 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
सैलरी के अलावा ये हैं वो 5 वजहें, जिनके कारण 3 से 5 सालों में जरूरी होता है नौकरी बदलना

खास बातें

  1. जॉब चेंज नहीं करने पर आप कंफर्ट लेवल में पहुंच जाते हैं.
  2. कंफर्ट लेवल में पहुंचने के बाद जॉब चेंज इतना आसान नहीं होता.
  3. जॉब मार्केट में अपनी वेल्यू बनाए रखने के लिए नौकरी बदलना बेहद जरूरी है.
प्रोफेशनल लाइफ में नौकरी बदलने का फैसला इतना आसान नहीं होता. बहुत बार जॉब ऑफर आने के बाद भी आप निर्णय नहीं कर पाते कि स्विच करें या नहीं. आपके इस डर के पीछे कई तरह की वजह हो सकती है जैसे- 'आने वाले महीनों में मुझे कुछ नया सीखने को मिलेगा', 'मेरी पर्सनल लाइफ में इन दिनों काफी उथल-पुथल चल रही है तो ऐसे में जॉब बदलना सही नहीं होगा', 'मैं यहां कुछ साल और रहना चाहूंगा क्योंकि इस ऑफिस के लोगों से मेरी ट्यूनिंग अच्छी है', 'लोन चुकाने से पहले जॉब चेंज करना बड़ा रिस्क होगा'... वगैरह वगैरह! 

ध्यान रखें कि तीन से पांच साल से ज्यादा वक्त अगर किसी जॉब में गुजारने लगते हैं तो आप कंफर्ट लेवल में पहुंच जाते हैं. धीरे-धीरे आप जॉब चेंज करने से लिहाज से बहुत कमजोर हो जाते हैं. आप तब तक उस ऑफिस को नहीं छोड़ते जब तक आपको इशारा नहीं किया जाता. इसलिए ऐसी स्थिति से बचने और जॉब मार्केट में अपनी वेल्यू बनाए रखने के लिए नौकरी बदलना बेहद जरूरी है. करियर में जॉब स्विच करने के कई फायदे होते हैं, कुछ इस प्रकार हैं- 

प्रोफेशनल लाइफ में खुद को मजबूत बनाने के लिए 
नए-नए वर्कप्लेस में काम करने से आपकी हर तरह की स्किल्स और बेहतर होंगी. नई कंपनी में आपको नया काम मिलेगा. इससे आप लाइफ में नया सीखने से कभी नहीं हिचकिचाएंगे. आपका डर खत्म होगा. इतना ही नहीं आप ज्यादा एक्टिव भी रहेंगे. जबकि पुराने ऑफिस में ही टिके रहने से आप कमजोर बने रहते. 

नेटवर्किंग विकसित करने के लिए है जरूरी 
करियर में आप जितनी जगह जाकर काम करेंगे आपकी नेटवर्किंग उतनी स्ट्रॉन्ग होगी. नौकरी तलाशना आपके लिए उतना ही आसान होगा. मजबूत प्रोफेशनल लाइफ के लिए कंपनी के बाहर अच्छे लिंक होना बहुत जरूरी है.

यह भी पढ़ें: अगर ऑफिस में आने लगे ऐसी फीलिंग तो तुरंत बदल दें नौकरी
 
खुद की अच्छी ब्रांडिंग के लिए
जब नौकरी ढूंढ़ने निकलते हैं तो आप खुद की ब्रांडिंग करने में भी परफेक्ट होते जाते हैं. आपको पता लगता है कि मार्केट में किस चीज की डिमांड है. तीन से पांच सालों में जब आप कहीं इंटरव्यू देने जाते हैं तो आपको अपनी मार्केट वेल्यू पता लगती है. 

जॉब सर्च करने से आप बाहर की दुनिया से भी जुड़े रहेंगे
सालों से अधिक से अधिक काम करके अपने नियोक्ता को खुश रखना बिल्कुल सही विकल्प नहीं. जब आप अपनी पूरी ताकत एक ही नौकरी को बेहतर से बेहतर ढंग में करने में लगाते हैं तो आप इंटर्नल पॉलिटिक्स में प्रवेश कर जाते हैं. ध्यान रखें आप चाहे उस नियोक्ता के अंतर्गत कितना ही अच्छा काम क्यों न कर रहे हैं लेकिन आपको उस बिल्डिंग के बाहर की दुनिया से जुड़ना होगा. लगातार जॉब तलाशते रहने से आप ऑफिस की बाहर की दुनिया से जुड़े रहेंगे. 

तेजी के साथ नई-नई चीजे सीखने के लिए
एक ऑफिस या जॉब में रहकर आप करियर में तेजी के साथ आगे नहीं बढ़ सकते. करियर में कम समय में अपना मुकाम पाने के लिए आपको कुछ-कुछ सालों में जॉब बदलनी होगी. ऐसा करके आप नई जगहों के प्रोटोकॉल, काम करने के तौर-तरीके और रणनीतियों आदि को तेजी के साथ जान पाएंगे. आप नए-नए लोगों से मिलेंगे और आपको काफी कुछ नया सीखने को मिलेगा. अपनी कमियों को पहचानने, उसे दूर करने और टैलेंट को चमकाने का अवसर मिलेगा. आपकी उत्पादकता बढ़ेगी.

करियर सेक्शन की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement