Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

Republic Day 2019: जानिए कैसे होता है गणतंत्र दिवस के मुख्य अतिथि का चयन

गणतंत्र दिवस (Republic Day 2019) के मौके पर दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा मुख्य अतिथि होंगे. बता दें कि गणतंत्र दिवस के लिए मुख्य अतिथि कौन होगा इसका फैसला लंबे विचार-विमर्श के बाद किया जाता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Republic Day 2019: जानिए कैसे होता है गणतंत्र दिवस के मुख्य अतिथि का चयन

Indian Republic Day: गणतंत्र दिवस हर साल 26 जनवरी को मनाया जाता है.

खास बातें

  1. गणतंत्र दिवस पर राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा मुख्य अतिथि होंगे.
  2. गणतंत्र दिवस पर 90 मिनट की परेड होगी.
  3. राजपथ पर गणतंत्र दिवस की परेड आयोजित होती है.
नई दिल्ली:

गणतंत्र दिवस (Republic Day) 26 जनवरी के मौके पर दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा मुख्य अतिथि होंगे. विदेश मंत्रालय ने बताया कि रामफोसा के साथ उनकी पत्नी डॉ. शेपो मोसेपे, नौ मंत्रियों सहित उच्चस्तरीय प्रतिनिधिमंडल, वरिष्ठ अधिकारी और 50 सदस्यों का व्यावसायिक प्रतिनिधिमंडल भी होगा. बता दें कि नेल्सन मंडेला के बाद वह दक्षिण अफ्रीका के दूसरे राष्ट्रपति होंगे जो गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि होंगे. इस बार गणतंत्र दिवस पर 90 मिनट की परेड होगी. देश में राजपथ पर गणतंत्र दिवस की परेड (Republic Day Parade) आयोजित होती है. यह परेड आठ किमी की होती है और इसकी शुरुआत रायसीना हिल से होती है. उसके बाद राजपथ, इंडिया गेट से होते हुए ये लाल किला पर समाप्‍त होती है. 

कैसे होता है गणतंत्र दिवस के मुख्य अतिथि का चयन
गणतंत्र दिवस (Republic Day) समाहरोह के लिए मुख्य अतिथि कौन होगा इसका फैसला लंबे विचार-विमर्श के बाद किया जाता है. मुख्य अतिथि को लेकर फैसला भारत के राजनयिक हितों को ध्यान में रखकर किया जाता है. विदेश मंत्रालय (MEA) भारत और उसके करीबी देश के बीच संबंधों को ध्यान में रखकई कई मुद्दों पर विचार करता है. जिसके बाद मुख्य अतिथि को निमंत्रण दिया जाता है. कई मुद्दों पर चर्चा की जाती है इनमें राजनीतिक, आर्थिक, और वाणिज्यिक संबंध, सैन्य सहयोग आदि शामिल हैं. MEA विचार-विमर्श के बाद अतिथि को निमंत्रण देने के लिए प्रधानमंत्री की मंजूरी लेता है.

जिसके बाद राष्ट्रपति भवन की मंजूरी ली जाती है. मंजूरी मिलने के बाद जिस देश के व्यक्ति को मुख्य अतिथि के रूप में चुना जाता है. उस देश में भारत के राजदूत अतिथि की उपलब्धता का पता लगाने की कोशिश करते हैं. इसके बाद विदेश मंत्रालय की तरफ से बातचीत शुरु होती है और अतिथि के लिए निमंत्रण भेजा जाता है. बता दें कि गणतंत्र दिवस के लिए मुख्य अतिथि अन्य देशों की रुचि और अतिथि की उपलब्धता के आधार पर किया जाता है.


Republic Day Guest 2019: इस बार ये होंगे गणतंत्र दिवस के मुख्‍य अतिथि, 90 मिनट की होगी परेड

गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथियों की सूची (1950-2018)

वर्ष       अतिथियों के नाम    
1950    राष्ट्रपति सुकर्णो (इंडोनेशिया)                                                             
1951    राजा त्रिभुवन बीर बिक्रम शाह  (नेपाल)                                               
1952    कोई आमंत्रण नहीं    
1953    कोई आमंत्रण नहीं    
1954    जिग्मे दोरजी वांगचुक  (भूटान)                                                             
1955    गवर्नर जनरल मलिक गुलाम मुहम्मद  (पाकिस्तान)                                 
1956    राजकोष के कुलपति आर. ए. बटलर  (यूनाइटेड किंगडम)        
            मुख्य न्यायाधीश कोटारो तनाका  (जापान)                                             
1957    रक्षा मंत्री जॉर्जिया झुकोव (सोवियत संघ)                                             
1958    मार्शल ये जियानिंग (चीन)                                                                   
1959    एडिनबर्घ के ड्यूक प्रिंस फिलिप (यूनाइटेड किंगडम)                                     
1960    अध्यक्ष क्लीमेंट वोरोशिलोव (सोवियत संघ)                                                 
1961    महारानी एलिजाबेथ द्वितीय (यूनाइटेड किंगडम)                                             
1962    प्रधानमंत्री विग्गो कंम्पमन्न  (डेनमार्क)                                                  
1963    राजा नोरोडोम सिहानोक (कंबोडिया)     
1964    रक्षा स्टाफ के चीफ लॉर्ड लुईस माउंटबैटन (यूनाइटेड किंगडम)     
1965    खाद्य और कृषि मंत्री राणा अब्दुल हमीद  (पाकिस्तान)   
1966    कोई आमंत्रण नहीं  
1967    राजा मोहम्मद जहीर शाह (अफगानिस्तान)     
1968    अध्यक्ष अलेक्सी कोसिगिन (सोवियत संघ)     
            राष्ट्रपति जोसीप ब्रोज टिटो (यूगोस्लाविया)     

टिप्पणियां

70वां Republic Day होगा खास, पहली बार 90 साल से अधिक उम्र के सैनिक होंगे परेड में शामिल

1969    प्रधानमंत्री टोडोर झिव्कोव (बल्गेरिया)      
1970    बेल्जियम के राजा बौदौइन (बेल्जियम)     
1971    राष्ट्रपति जूलियस न्येरे (तंजानिया)     
1972    प्रधानमंत्री सीईवोसगुर रामगुलाम (मॉरीशस)     
1973    राष्ट्रपति मोबूतु सेसे सेको (जैरे)     
1974    राष्ट्रपति जोसीप ब्रोज़ टिटो (यूगोस्लाविया)     
            प्रधानमंत्री सिरिमावो बंडरानाइक (श्रीलंका)     
1975    राष्ट्रपति केनेथ कौंडा (जाम्बिया)     
1976    प्रधानमंत्री जाक शिराक (फ्रांस)     
1977    प्रथम सचिव एडवर्ड गिरेक (पोलैंड)   
1978    राष्ट्रपति पैट्रिक हिलेरी (आयरलैंड)     
1979    प्रधानमंत्री मैल्कम फ्रेजर (ऑस्ट्रेलिया)     
1980    राष्ट्रपति वैलेरी गिस्कर्ड डी एस्टाइंग (फ्रांस)     
1981    राष्ट्रपति जोस लोपेज पोर्टिलो (मेक्सिको)     
1982    किंग जुआन कार्लोस आई (स्पेन)     
1983    राष्ट्रपति शेहू शागरी (नाइजीरिया)     
1984    किंग जिग्मे सिंग्ये वांगचुक (भूटान)     
1985    राष्ट्रपति राउल अल्फोन्सिन (अर्जेंटीना)     
1986    प्रधानमंत्री एंड्रियास पैपांड्रेउ (ग्रीस)  
1987    राष्ट्रपति एलन गार्सिया (पेरू)     
1988    राष्ट्रपति जे. आर. जयवर्धने (श्रीलंका)     
1989    जनरल सचिव गुयेन वान लिन (वियतनाम)     
1990    प्रधानमंत्री अनिरुद्ध जुग्नथ (मॉरीशस)       
1991    राष्ट्रपति ममून अब्दुल गयूम (मालदीव)     
1992    राष्ट्रपति मारियो सोरेस (पुर्तगाल)     
1993    प्रधानमंत्री जॉन मेजर (यूनाइटेड किंगडम)     
1994    प्रधानमंत्री गोह चोक टोंग (सिंगापुर)     
1995    राष्ट्रपति नेल्सन मंडेला (दक्षिण अफ्रीका)      
1996    राष्ट्रपति डॉ. फर्नांडो हेनरीक कार्डोसो (ब्राजील)      

Happy Republic Day 2019: 70वें गणतंत्र दिवस की दें बधाई, यहां दिए गए मैसेजेस के साथ

1997    प्रधानमंत्री बासदेव पांडे (त्रिनिदाद एंड टोबैगो)    
1998    राष्ट्रपति जैक शिराक (फ्रांस)     
1999    राजा बिरेंद्र बीर बिक्रम शाह देव (नेपाल)     
2000    राष्ट्रपति ओलेजगुन ओबासांजो (नाइजीरिया)     
2001    राष्ट्रपति अब्देलजीज बुटीफिला  (अल्जीरिया)    
2002    राष्ट्रपति कसम उतेम (मॉरीशस)     
2003    राष्ट्रपति मोहम्मद खटामी (ईरान)     
2004    राष्ट्रपति लुइज इनासिओ लुला दा सिल्वा (ब्राजील)     
2005    किंग जिग्मे सिंग्ये वांगचुक (भूटान)     
2006    किंग अब्दुल्ला बिन अब्दुलअजीज अलसऊद (सऊदी अरब)     
2007    राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (रूस)     
2008    राष्ट्रपति निकोलस सरकोजी  (फ्रांस)    
2009    राष्ट्रपति नूरसुल्तान नजरबायेव  (कजाखस्तान)    
2010    राष्ट्रपति ली मयूंग बाक (दक्षिण कोरिया)     
2011    राष्ट्रपति सुसिलो बांम्बांग युधोयोनो ( इंडोनेशिया)     
2012    प्रधानमंत्री यिंगलुक शिनावात्रा (थाईलैंड)      
2013    राजा जिग्मे खेसर नामग्याल वांगचुक (भूटान)      
2014    प्रधान मंत्री शिन्जो आबे (जापान)      
2015    राष्ट्रपति बराक ओबामा (संयुक्त राज्य अमेरिका)    
2016    राष्ट्रपति फ्रेंकोइस होलैंड (फ्रांस)    
2017    क्राउन प्रिंस शेख मोहम्मद बिन जायेद अल नाहयान (संयुक्त अरब अमीरात)  
2018
1. थाईलैंड के प्रधानमंत्री जनरल प्रायुत चान-ओ-चा 
2. म्यांमार की सर्वोच्च नेता आंग सान सू की
3. ब्रुनेई के सुल्तान हसनअल बोल्किया
4. कंबोडिया के पीएम हुन सेन
5. इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो
6. सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली सियन लूंग
7. मलेशिया के प्रधानमंत्री नजीब रजाक
8. वियतनाम के प्रधानमंत्री न्गुयेन शुयान फुक 
9. लाओस के प्रधानमंत्री थॉन्गलौन सिसोलिथ
10. फिलीपींस के राष्ट्रपति ड्रिगो दुतेर्ते



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... मलाइका अरोड़ा ने पहना ऐसा गाउन, अपशब्द कहने लगीं फराह खान

Advertisement