Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

India Republic Day Speech: गणतंत्र दिवस पर दें ये शानदार भाषण, तालियों से गूंज उठेगी सभा

गणतंत्र दिवस (Republic Day) के दिन स्कूलों और दफ्तरों में लोग भाषण देते हैं. इस दिन विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन होता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
India Republic Day Speech: गणतंत्र दिवस पर दें ये शानदार भाषण, तालियों से गूंज उठेगी सभा

Republic Day 2020: 26 जनवरी के दिन भारत का संविधान लागू किया गया था.

खास बातें

  1. गणतंत्र दिवस के दिन स्कूलों और दफ्तरों में विभिन्न कार्यक्रम होते हैं.
  2. गणतंत्र दिवस के दिन कई स्कूलों में भाषण प्रतियोगिता होती है.
  3. भाषण प्रतियोगिता में कई बच्चे भाग लेते हैं.
नई दिल्ली:

Republic Day Speech: गणतंत्र दिवस (Republic Day) हर साल 26 जनवरी (26 January) को बड़े उत्साह के साथ मनाया जाता है. 26 जनवरी के दिन सन् 1950 को भारत सरकार अधिनियम (एक्ट) (1935) को हटाकर भारत का संविधान (Constitution Of India) लागू किया गया था. 26 जनवरी 1950 को सुबह 10 बजकर 18 मिनट पर भारत एक गणतंत्र बना. इस के छह मिनट बाद 10 बजकर 24 मिनट पर राजेंद्र प्रसाद ने भारत के पहले राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली थी. इस दिन पहली बार बतौर राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद बग्गी पर बैठकर राष्ट्रपति भवन से निकले थे. गणतंत्र दिवस (Republic Day 2020) के दिन राजपथ पर परेड होती है, साथ ही विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है. स्कूलों में विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है. कई स्कूलों में भाषण प्रतियोगिता होती है. अगर आप इस गणतंत्र दिवस भाषण देने वाले हैं तो आप इस तरह का भाषण दे सकते हैं:

26 January 2020: जानिए गणतंत्र दिवस का इतिहास, महत्‍व और रोचक तथ्‍य
 

गणतंत्र दिवस पर भाषण (Republic Day Speech)
 


आदरणीय शिक्षकों और मेरे प्यारे साथियों को सुप्रभात,

आज गणतंत्र दिवस है और मैं आप सभी को इस दिन की शुभकामनाएं देता/देती हूं. हम सभी आज गणतंत्र दिवस मनाने के लिए एकत्र हुए हैं. गणतंत्र दिवस हर साल 26 जनवरी को मनाया जाता है क्योंकि इसी दिन हमारे देश का संविधान लागू किया गया था. 26 जनवरी 1950 को हमारे देश भारत एक गणतंत्र देश बन गया. इस दिन की सबसे अच्छी बात यह है कि सभी जाति एवं वर्ग के लोग इसको एक साथ मिलकर मनाते हैं. भारत का संविधान एक लिखित संविधान है. हमारे संविधान को बनने में 2 साल 11 महीने और 18 दिन का समय लगा था. भारतीय संविधान दुनिया में सबसे बड़ा लिखित संविधान है. 26 जनवरी 1950 को डॉ. राजेन्द्र प्रसाद ने गवर्नमेंट हाउस के दरबार हॉल में भारत के पहले राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली थी. भारत के पहले गणतंत्र दिवस के मुख्य अतिथि इंडोनेशिया के राष्ट्रपति सुकर्णो थे. गणतन्त्र (गण+तंत्र) का अर्थ है, जनता के द्वारा जनता के लिये शासन. आज के दिन स्वतंत्रता सेनानियों को याद करना बेहद जरूरी है, उन्‍हीं की बदौलत आज हम सब आजाद हैं. हमारे देश के महान नेताओं और स्वतंत्रता सेनानियों महात्मा गांधी, भगत सिंह, चन्द्रशेखर आजाद, लाला लाजपत राय, सरदार वल्लभ भाई पटेल, लाल बहादुर शास्त्री और अनगिनत देशभक्‍तोंं ने ब्रिटिश हुकूमत से लोहा लिया और अपनी जान की कुर्बानी देकर हमें आजादी दिलाई.

Republic Day 2020: क्या आप जानते हैं कि गणतंत्र दिवस औैर स्वतंत्रता दिवस के बीच क्या है अंतर?

भारत को एक आजाद देश बनाने के लिए इन लोगों ने अंग्रेजों के खिलाफ लगातार लड़ाई लड़ी. हम इन सभी स्वतंत्रता सेनानियों के योगदान को भूल नहीं सकते. गणतंत्र दिवस के मौके पर राजपथ पर तिरंगा फहराया जाता है. फिर राष्ट्रगान गाया जाता है और 21 तोपों की सलामी होती है. गणतंत्र दिवस के मौके पर अशोक चक्र और कीर्ति चक्र जैसे महत्वपूर्ण सम्मान दिए जाते हैं. इसके बाद हमारी सेना अपना शक्ति प्रदर्शन और परेड मार्च करती है. परेड में भारत की तीनों सेना- नौ सेना, थल सेना और वायु सेना की टुकड़ी शामिल होती हैं. परेड में तरह तरह की झांकियां दिखाई जाती हैं जो लोगों का मनोरंजन करती हैं. हमारे प्रथम राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद ने कहा था, ''हमने एक ही संविधान और संघ में हमारे पूर्ण महान और विशाल देश के अधिकार को पाया है. जो देश में रह रहे सभी पुरुषों और महिलाओं के कल्याण की जिम्मेदारी लेता है.''

Republic Day Parade 2020: गणतंत्र दिवस पर क्यों होती है परेड, जानिए रोचक बातें..

टिप्पणियां

यह बहुत ही शर्म की बात है कि आजादी के इतने वर्षों के बाद भी हम आज अपराध, भ्रष्टाचार और हिंसा जैसी समस्याओं से लड़ रहे हैं. अब समय आ गया है कि हमें दोबारा एक साथ मिलकर अपने देश से इन बुराइयों को बाहर निकाल फेंकना है जैसे कि स्वतंत्रता सेनानी नेताओं ने अंग्रेजों को हमारे देश से निकाल दिया था. हमें अपने भारत देश को एक सफल, विकसित और स्वच्छ देश बनाना होगा. हमें अपने भारत देश की गरीबी, बेरोजगारी, अशिक्षा, ग्लोबल वार्मिंग, असमानता, आदि जैसे चीजों को अच्छी तरह समझना होगा और इनका हल निकालना होगा. आइये हम सब प्रतिज्ञा लेते हैं कि हम इसी तरह देश की एकता और अखंडता को बनाए रखेंगे और देश के विकास में बढ़-चढ़ कर योगदान देंगे.

इसी के साथ में अपनी वाणी को विराम देना चाहूंगा. मेरे भाषण को सुनने के लिए आप सभी का धन्यवाद. जय हिंद..



दिल्ली चुनाव (Elections 2020) के LIVE चुनाव परिणाम, यानी Delhi Election Results 2020 (दिल्ली इलेक्शन रिजल्ट 2020) तथा Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... शादी के लिए नहीं मिल पा रही थी फुर्सत, IAS ऑफिसर ने दफ्तर में ही रचाया IPS दुल्‍हन संग ब्‍याह

Advertisement