NDTV Khabar

Subhash Chandra Bose: 'तुम मुझे खून दो मैं तुम्हे आज़ादी दूंगा' का नारा देने वाले नेताजी के ये 10 विचार आज भी भर देते हैं रगों में जोश

आज नेता जी Subhash Chandra Bose की 73वीं पुण्यतिथि हैं. तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आज़ादी दूंगा..! का नारा बुलंद करने वाले सुभाष चंद्र बोस स्वतंत्रता संग्राम के अग्रणी नेता थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Subhash Chandra Bose: 'तुम मुझे खून दो मैं तुम्हे आज़ादी दूंगा' का नारा देने वाले नेताजी के ये 10 विचार आज भी भर देते हैं रगों में जोश

Subhash Chandra Bose Death Anniversary: आज नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 73वीं पुण्यतिथि हैं.

नई दिल्ली: आज नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 73वीं पुण्यतिथि (Subhash Chandra Bose 73rd Death Anniversary) हैं. साल 1945 में 18 अगस्त को ताइवान में एक विमान दुर्घटना में नेताजी की मौत (Subhash Chandra Bose Death) हो गई थी. पूरा देश आज नेता जी (Subhash Chandra Bose) को याद कर रहा हैं. तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आज़ादी दूंगा..! का नारा बुलंद करने वाले सुभाष चंद्र बोस (Subhash Chandra Bose) स्वतंत्रता संग्राम के अग्रणी नेता थे. देश की आजादी के लिए उन्होंने आजाद हिंद फौज (Azad Hind Fauj) का गंठन किया था. आजादी की लड़ाई के वक्त नेताजी के विचारों ने देश भर के क्रांतिकारियों को जोश से भर दिया था. उनके विचार आज भी लोगों के रोंगटे खड़े कर देते हैं. नेताजी सुभाष चंद्र बोस की पुण्यतिथि (Subhash Chandra Bose Death Anniversary) के मौके पर हम आपको उनके 10 विचारों के बारे में बताने जा रहे हैं.

सुभाष चंद्र बोस के विचार (Subhash Chandra Bose Quotes)

1. तुम मुझे खून दो मैं तुम्हे आज़ादी दूंगा

2. याद रखिए सबसे बड़ा अपराध अन्याय सहना और गलत के साथ समझौता करना है.

3. ये हमारा कर्तव्य है कि हम अपनी स्वतंत्रता का मोल अपने खून से चुकाएं. हमें अपने बलिदान और परिश्रम से जो आज़ादी मिले, हमारे अंदर उसकी रक्षा करने की ताकत होनी चाहिए.

4. एक सैनिक के रूप में आपको हमेशा तीन आदर्शों को संजोना और उन पर जीना होगा: सच्चाई, कर्तव्य और बलिदान. जो सिपाही हमेशा अपने देश के प्रति वफादार रहता है, जो हमेशा अपना जीवन बलिदान करने को तैयार रहता है, वो अजेय है. अगर तुम भी अजेय बनना चाहते हो तो इन तीन आदर्शों को अपने ह्रदय में समाहित कर लो.

5. सफलता, हमेशा असफलता के स्‍तंभ पर खड़ी होती है.

6. मेरा अनुभव है कि हमेशा आशा की कोई न कोई किरण आती है, जो हमें जीवन से दूर भटकने नहीं देती.

7. जिस व्यक्ति के अंदर 'सनक' नहीं होती वो कभी महान नहीं बन सकता. लेकिन उसके अंदर, इसके आलावा भी कुछ और होना चाहिए.

Atal Bihari Vajpayee: 'छोटे मन से कोई बड़ा नहीं होता, टूटे मन से कोई खड़ा नहीं होता', जानिए अटल बिहारी वाजपेयी के 10 प्रेरणादायक विचार

8. जो अपनी ताकत पर भरोसा करते हैं, वो आगे बढ़ते हैं और उधार की ताकत वाले घायल हो जाते हैं.

टिप्पणियां
9. हमारा सफर कितना ही भयानक, कष्टदायी और बदतर हो, लेकिन हमें आगे बढ़ते रहना ही है. सफलता का दिन दूर हो सकता हैं, लेकिन उसका आना अनिवार्य ही है.

10. मां का प्यार सबसे गहरा होता है- स्वार्थरहित. इसको किसी भी तरह से मापा नहीं जा सकता.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement