सक्‍सेस स्‍टोरी: विदेश से लौटकर शुरू किया खुद का बिजनेस, पैसा भी मिला और शोहरत भी

दीपक गुप्ता अपना सपना पूरा करने के लिए सिंगापुर से वापस भारत लौटे और उन्होंने डेयरी का कारोबार शुरू किया जिसमें उन्हें अपार सफलता हासिल हुई.

सक्‍सेस स्‍टोरी: विदेश से लौटकर शुरू किया खुद का बिजनेस, पैसा भी मिला और शोहरत भी

अपने सपने को पूरा करने के लिए दीपक गुप्ता ने अपना स्थापित करियर छोड़ दिया.

खास बातें

  • दीपक गुप्ता अपना सपना पूरा करने के लिए स्वदेश वापस लौटे
  • उन्होंने हिमालयन क्रीमरी नाम की डेयरी कंपनी शुरू की
  • दीपक गुप्ता की कंपनी दूध को 'फार्म टू टेबल' उपलब्ध कराती है
नई दिल्ली:

पंजाब के दीपक गुप्ता ने अपने सपने को पूरा करने के लिए सिंगापुर में स्थापित करियर को छोड़ दिया और देश लौटकर डेयरी का अपना काम शुरू किया. स्वदेश लौटने के दो साल बाद वह हिमालयन क्रीमरी नाम की कंपनी बनाकर अपने सपने को मुकाम देने में सफल हो चुके हैं. गुप्ता ने कहा कि उन्हें स्थापित करियर छोड़ने का कोई अफसोस नहीं है. उन्होंने कहा, ‘‘अफसोस क्यों होना चाहिए ?’’
 

dairy

AIIMS Result 2018: MBBS एंट्रेंस एग्जाम के नतीजे जारी, ऐसे करें चेक

उन्होंने 20 एकड़ जमीन में डेयरी स्थापित की है जिसमें होल्सटीन फ्रीजिएन तथा जर्सी नस्ल की 350 गायें हैं.
गुप्ता ने कहा, ‘‘मेरा सपना था कि मैं उपभोक्ताओं को अनछुआ दूध उपलब्ध कराऊं. यह नया नहीं है बल्कि दुनिया भर में ‘फार्म टू टेबल’ डेयरी कारोबार के नाम से काफी प्रचलित है जिसे उपभोक्ता पसंद भी करते हैं.’’

इंडियन स्कूल ऑफ माइंस के कॉन्‍वोकेशन में स्‍टूडेंट पहनेंगे इंडियन कपड़े, लेंगे संस्‍कृत में संकल्‍प

Newsbeep

उन्होंने कहा कि उनकी डेयरी में दूध को हाथ से छुआ भी नहीं जाता और सीधे कोल्ड स्टोरेज में स्टोर किया जाता है. इसके बाद दूध को रेफ्रिजरेटेड ट्रकों के जरिये उपभोक्ताओं को सप्लाई किया जाता है. उन्होंने कहा कि गायों के चारे के लिए वह फार्म में जैविक पद्धति से उगे गेहूं और सब्जियों का इस्तेमाल करते हैं. गायों के वेस्ट का इस्तेमाल कर बायोगैस और उर्वरक भी तैयार किया जाता है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: मध्य प्रदेश सरकार खरीदेगी गोमूत्र​