Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

टीचर ने स्कूल की दीवारों पर किया ऐसा पेंट, रेलवे ने की जमकर तारीफ

भारतीय रेलवे द्वारा शेयर की गई तस्वीरों में एक तस्वीर में लिखा है, "Let's go to school."

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
टीचर ने स्कूल की दीवारों पर किया ऐसा पेंट, रेलवे ने की जमकर तारीफ

आोडिशा के नबरंगपुर जिले के सन्यासीगुड़ा स्कूल ने अपनीू बाहरी दीवारों को ट्रेन कोच के रंग में रंगा है.

खास बातें

  1. ओडिशा के स्कूल ने अपनी बाहरी दीवारों को ट्रेन के रंग में रंगा है
  2. रेलवे ने स्कूल की तस्वीर ट्वीट की है
  3. ऐसा छात्रों को स्कूल के प्रति उत्साहित रखने के लिए किया गया
ओडिशा:

ओडिशा (Odisha) के नबरंगपुर जिले (Nabarangpur District) के एक स्कूल टीचर ने अपने काम से भारतीय रेलवे (Indian Railways) का ध्यान अपनी ओर खींचा है. रेलवे ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से नबरंगपुर जिले के सन्यासीगुड़ा स्कूल (Sanyasiguda school) की कुछ तस्वीरें शेयर की हैं. खास बात ये है कि तस्वीरों में साफ देखा जा सकता है कि स्कूल की बाहरी दीवारों को ट्रेन कोच की तरह पेंट किया गया है. मंत्रालय द्वारा शेयर की गई तस्वीरों में एक तस्वीर में लिखा है, "Let's go to school." रेलवे ने ट्वीट किया, "बच्चों को स्कूल आने के लिए बढ़ावा मिले इसलिए टीचर ने स्कूल की बाहरी दीवारों को ट्रेन कोच की तरह पेंट करने का ये बेहतरीन आइडिया दिया."

सरकारी स्कूल के बच्चों के पास नहीं थी खुद की स्कूल बिल्डिंग, रेल कर्मियों ने ट्रेन कोच को ही बना डाला क्लासरूम

बता दें कि यह पहला मौका नहीं है जब किसी स्कूल में बच्चों को स्कूल के लिए उत्साहित करने के लिए इस तरह ट्रेन का सहारा लिया गया है. सितंबर 2019 में मध्य प्रदेश के एक आदिवासी इलाके में क्लासरूम को रेलवे स्टेशन की शक्ल दी गई थी. इसके बाद से स्कूल में छात्रों की उपस्थिति में इजाफा देखने को मिला. स्कूल स्टाफ ने बिल्डिंग को एक ट्रेन में बदल दिया था.


इसी तरह उत्तर प्रदेश में एक स्कूल को इलेक्‍ट्रिक लोकोमोटिव के तौर पर डिजाइन किया गया था, जिससे बच्चों को स्कूल आने के लिए बढ़ावा मिले और स्वच्छता का संदेश भी जाए. जिला प्रशासन ने स्कूल का नाम स्वच्छता एक्सप्रेस रखा था.

टिप्पणियां

कुछ ही समय पहले मैसूर के एक सरकारी स्कूल को ट्रेन कोच की तरह पेंट किया गया जिससे बच्चे प्राइवेट स्कूलों का रुख न करते हुए उसी स्कूल में पढ़ें.

दरअसल ऐसा इसलिए भी किया जाता है कि ट्रेन छोटे बच्चों को बहुत आकर्षित करती है. स्कूल की दीवारों को ट्रेन की तरह पेंट करने का मुख्य लक्ष्य बच्चों को स्कूल के प्रति आकर्षित और उत्साहित करना है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. Education News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... धर्म साबित करने के लिए 'रुद्राक्ष' दिखाया, जान बचाने के लिए गिड़गिड़ाया - अब ऐसी हो गई है दिल्ली

Advertisement