Teachers' Day Speech: शिक्षक दिवस के दिन दें ये भाषण

शिक्षक दिवस (Teacher's Day) पर स्कूलों में सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन होता है और कई स्टूडेंट्स को भाषण देने का मौका भी मिलता है.

Teachers' Day Speech: शिक्षक दिवस के दिन दें ये भाषण

Teachers' Day: शिक्षकों का हमारे जीवन में बेहद महत्वपूर्ण स्थान हैं.

खास बातें

  • शिक्षक दिवस 5 सितंबर को मनाया जाता है.
  • इस दिन डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जयंती होती है.
  • इन दिन स्कूलों में विशेष कार्यक्रमों का आयोजन होता है.
नई दिल्ली:

Teacher's Day 2019: भारत के पूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन (Dr. Sarvepalli Radhakrishnan) की जयंती के मौके पर हर साल शिक्षक दिवस (Teachers' Day) मनाया जाता है. शिक्षकों का हमारे जीवन में बेहद महत्वपूर्ण स्थान हैं. शिक्षक दिवस के दिन स्टूडेंट्स शिक्षकों (Teachers) के लिए विशेष कार्यक्रमों का आयोजन करते हैं. यह दिन शिक्षकों के प्रति प्यार और सम्मान प्रकट करने का दिन होता है. स्कूलों में सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन होता है और कई स्टूडेंट्स को भाषण देने का मौका भी मिलता है. इस टीचर्स डे पर अगर आप भाषण (Teachers' Day Speech) देने वाले हैं तो आप इस तरह का भाषण दे सकते हैं:
 

शिक्षक दिवस पर भाषण (Teachers' Day Speech)
 

आदरणीय शिक्षकों और मेरे प्यारे मित्रों को सुप्रभात,

आज शिक्षक दिवस है और मैं आप सभी को इस दिन की शुभकामनाएं देता/देती हूं. हर साल की तरह इस साल भी हम सब इस दिन को सेलिब्रेट करने के लिए एकत्रित हुए हैं. मैं अपने सभी शिक्षकों को धन्यवाद देना चाहता हूं जिन्होंने मुझे इतना ज्ञान प्रदान किया और समय-समय पर अपने मार्गदर्शन से आदर्श नागरिक बनने में मेरी मदद की. शिक्षक दिवस हर साल 5 सितंबर को मनाया जाता है. इस दिन देश के पहले उप-राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्मदिवस होता है जो कि एक शिक्षक थे.  एक बार उनके कुछ विद्यार्थी और दोस्तों ने उनसे कहा कि, वह उनके जन्मदिन को सेलिब्रेट करना चाहते हैं. तब उन्होंने कहा था, "मेरा जन्मदिन अलग से मनाने के बजाए अगर मेरा जन्मदिन शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाए तो मुझे गर्व महसूस होगा." तब से ही हर साल 5 सितंबर को शिक्षक दिवस मनाया जाता है. शिक्षक हमारे समाज की रीढ़ की हड्डी होते हैं. किसी ने सही कहा कि, शिक्षक अभिभावकों से भी महान होता है. अभिभावक बच्चे को जन्म जरूर देते हैं लेकिन शिक्षक उसके चरित्र को आकर देकर उज्ज्वल भविष्य बनाते हैं. इसीलिए चाहे हम कितने भी बड़े और सफल हो जाए हमें अपने शिक्षकों को नहीं भूलना चाहिए. शिक्षक हमारी प्रेरणा के स्रोत होते हैं जो हमें आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करते हैं. वे हमें जीवन में आने वाली हर एक बाधा का सामना करने के लिए तैयार करते हैं. शिक्षक हमें दुनियाभर के महान शख्सियतों का उदाहरण देकर शिक्षा की ओर प्रोत्साहित करते हैं. मैं आपको अपने भाषण को सुनने के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं और इसी के साथ एक शायरी पढ़कर मैं अपनी वाणी को विराम देना चाहता हूं/चाहती हूं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

दिया ज्ञान का भंडार हमें,
किया भविष्य के लिए तैयार हमें.
है आभारी उन गुरूओं के हम,
जो किया कृतज्ञ अपार हमें..

अन्य खबरें
जानिए 5 सितंबर को क्यों मनाया जाता है शिक्षक दिवस
Byju's के फाउंडर रवींद्रन कभी पढ़ाते थे स्कूल में अब बने भारत के नए अरबपति