NDTV Khabar

विदेश में पढ़ाई करना है अगर अापका सपना तो आप रखें इन बातों का हमेशा ख्याल

यनिवर्सिटी में दाखिला लेने से पहले आपको उस यूनिवर्सिटी के दाखिला प्रक्रिया को समझना जरूरी

74 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
विदेश में पढ़ाई करना है अगर अापका सपना तो आप रखें इन बातों का हमेशा ख्याल

प्रतीकात्मक चित्र

खास बातें

  1. संबंधित कॉलेज के नियमों के बारे में जानना जरूरी
  2. सभी दस्तावेज लेकर जाना जरूरी, वर्ना नहीं मिलेगा दाखिला
  3. रहने की जगह का चुनाव करना भी अहम निर्णय
नई दिल्ली : देश के बाहर पढ़ाई करना आज ज्यादातर छात्रों को सपना होता है. चाहे बात ब्रिटेन की करें या फिर रूस की, छात्र इन देशों में जाकर उच्च शिक्षा हासिल करते हैं. अगर आप भी उन छात्रों में शामिल हैं जो दूसरे देश जाकर अपनी पढ़ाई पूरी करना चाहते हैं तो आपको कुछ अहम टिप्स पर ध्यान देने की जरूर है. इन टिप्स को लागू करने के बाद आप किसी भी देश में जाने के बाद शुरुआती दौर में होने वाली ज्यादातर परेशानियों से बच सकते हैं. 

यह भी पढ़ें:  क्लाउड कम्प्यूटिंग दे रहा है आपको बेहतर करियर विकल्प, इन क्षेत्रों मे हैं मौके

कोर्स को लेकर न रखें दुविधा
अक्सर देखा जाता है कि छात्र कोर्स का चुनाव करने से पहले उन्हें किस देश में पढ़ना है यह तय करने में ज्यादा दिलचस्पी लेते हैं. इस वजह से उन्हें उस देश में जाने के बाद किसी विषय विशेष में दाखिला लेने में खासी दिक्कत होती है. उन्हें यह तक नहीं पता होता है कि उस विषय में दाखिले के लिए उनके पास कौन कौन से दस्तावेज होने चाहिए थे. छात्रों को उस विश्वविद्यालय का एडमिशन प्रोसेस तक का पता नहीं होता है. ये तमाम बातें आपके लिए विदेश में बड़ी समस्याएं खड़ी कर सकते हैं.

डॉक्यूमेंट्स ध्यान से रखें
बाहर की यूनिवर्सिटी में दाखिला लेने से पहले आपको उस यूनिवर्सिटी के दाखिला प्रक्रिया को समझने की जरूरत है. चुकि आप दूसरे देश जा रहे हैं लिहाजा आपके पास सभी दस्तावेज होना जरुरी है. कोई भी दस्तावेज छूटना नहीं चाहिए. ऐसा होने पर आपको आखिरी समय में भी दाखिला देने से मना किया जा सकता है. 

यह भी पढ़ें: इन 11 बातों का रखेंगे ख्याल तो जल्द मिल सकती है आपको नौकरी

पसंद के कॉलेज के लिए दें टेस्ट
विदेश में अपनी पसंद का कॉलेज चाहते हैं तो आपको standardised international test देना होगा. ज्यातादर टॉप कॉलेज में बिजनेस, कानून और अन्य MS program कोर्सेस में पढ़ाई करने के लिए GRE टेस्ट लिया जाता है. ग्रेजुएशन प्रोग्राम में बिजनेस मैनेजमेंट की पढ़ाई करने के लिए GMAT देना होगा. सभी इंटरनेशनल स्टूडेंट्स को एडमिशन लेने के लिए TOEFL और IELTS टेस्ट देना होगा. साथ ही ग्रेजुएशन कोर्स में एप्लाई करने के लिए SAT और ACT टेस्ट देना होगा. छात्र अपने किसी भी दुविधा के लिए यूनिवर्सिटी की वेबसाइट को भी देख सकते हैं. 

स्कॉलरशि‍प के बारे में पता करना जरूरी
विदेश में पढ़ाई करना काफी महंगा है. ऐसे में वहां स्कॉलरशिप लेना हर किसी छात्र की पहली कोशिश होती है. आप जिस भी कॉलेज या यूनिवर्सिटी में दाखिला लेने जा रहे हैं वहां की स्कॉलरशिप नीति के बारे में जानना भी जरूरी है. आप उन्हीं कॉलेज को चुने जहां आपको आसानी से स्कॉलरशिप मिल सके. 

यह भी पढ़ें: छात्र सेंटर पहुंचने में हुए 01 मिनट भी लेट तो नहीं दे पाएंगे एग्जाम

रहने की जगह कॉलेज के नजदीक हो
दूसरे देश में छात्रों के लिए रहने की जगह का चयन करना एक बड़ी समस्या साबित होती रही है. लिहाजा आप इस समस्या से बचने के लिए पहले से ही मन बना कर चलें कि आपको रहना कहां है. कोशिश करें कि आप जिस कॉलेज या यूनिवर्सिटी में दाखिला लेने वाले हैं उसके आसपास ही रहें.

VIDEO: शिक्षकों ने किया विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन

इससे जहां आपको कॉलेज आने जाने में आसानी होगी वहीं आपको पढ़ाई के लिए ज्यादा समय मिलेगा. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement