NDTV Khabar

खुशखबरी! कंपनी सेक्रेटरी के एग्‍जाम में फेल होने वाले स्‍टूडेंट्स को अब GST देगा नौकरी

नए समझौते के तहत असफल हुए छात्रों को मिलेगा मौका

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
खुशखबरी! कंपनी सेक्रेटरी के एग्‍जाम में फेल होने वाले स्‍टूडेंट्स को अब GST देगा नौकरी

प्रतीकात्मक चित्र

खास बातें

  1. 100 घंटे का होगा पाठ्यक्रम,10 से 15 दिन में मिलेगा प्रशिक्षण
  2. अल्पकालिक आधार पर 25 दिनों में प्रशिक्षण, हर दिन 4 घंटे कक्षा
  3. प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत पाठ्यक्रम का संचालन
नई दिल्ली : कंपनी सेक्रेटरी (सीएस) की परीक्षा में असफल होने वाले छात्रों के लिए खुशखबरी है. नई पहल के अनुसार अब छात्रों को परीक्षा में फेल होने के बाद भी नौकरी मिलेगी और वह पैसे कमा पाएंगे. इसके लिए उन्हें सिर्फ जीएसटी का प्रशिक्षण लेना होगा. भारतीय कंपनी सचिव संस्थान (आईसीएसआई) ने ऐसे छात्रों के लिए यह पहल की है. इन छात्रों को पहले जीएसटी लेखा सहायक के रूप में प्रशिक्षित किया जाएगा. सफल होने पर अभ्यर्थियों की बीएफएसआई एसएससी व एनएसडीसी के नियमों के अनुसार नियुक्ति मिलेगी.

ICSI CS December exam 2016: एग्जीक्यूटिव और प्रोफेश्नल प्रोग्राम के नतीजे घोषित

कंपनी सेक्रेटरी (सीएस) की परीक्षा में असफल होने वाले छात्रों के लिए खुशखबरी है. नई पहल के अनुसार अब छात्रों को परीक्षा में फेल होने के बाद भी नौकरी मिलेगी और वह पैसे कमा पाएंगे. इसके लिए उन्हें सिर्फ जीएसटी का प्रशिक्षण लेना होगा. भारतीय कंपनी सचिव संस्थान (आईसीएसआई) ने ऐसे छात्रों के लिए यह पहल की है. इन छात्रों को पहले जीएसटी लेखा सहायक के रूप में प्रशिक्षित किया जाएगा. सफल होने पर अभ्यर्थियों की बीएफएसआई एसएससी व एनएसडीसी के नियमों के अनुसार नियुक्ति मिलेगी.

राष्ट्रीय हथकरघा विकास निगम लिमिटेड (NHDC) में मैनेजर और कंपनी सेक्रेटरी पदों पर भर्ती

राष्ट्रीय कौशल विकास निगम के साथ करार 
देश में जीएसटी लागू होने के बाद से ही व्यापारियों को इसकी तकनीकी को समझने में दिक्कत आ रही है. इन नियमों की जानकारी ले चुके यह छात्र अब व्यापारियों को इस जीएसटी की पेचिदगी समझाएंगे. इसके लिए आईसीएसआई ने राष्ट्रीय कौशल विकास निगम (एनएसडीसी) के साथ एक समझौता किया है. इसके तहत सीएस की परीक्षा में असफल रहे छात्रों को जीएसटी का प्रशिक्षण दिया जाएगा. साथ ही उनकी नियुक्ति जीएसटी लेखा सहायक के रूप में की जाएगी.

​समझौते के मुताबिक आईसीएसआई जीएसटी लेखा सहायक का पाठ्यक्रम तैयार करेगा. यह पाठ्यक्रम 100 घंटे का होगा. पूर्णकालिक प्रशिक्षण लेने वाले छात्रों को 10 से 15 दिन में पूरा कोर्स कराया जाएगा. अगर कोई छात्र कहीं नौकरी या व्यवसाय कर रहे हैं और वे प्रशिक्षण लेना चाहते हैं तो उन्हें 25 दिनों में पाठ्यक्रम का प्रशिक्षण दिया जाएगा. प्रशिक्षण के बाद छात्र व्यापारिक संस्थानों को जीएसटी लेखा सहायक के रूप में मदद कर सकेंगे. 

टिप्पणियां
​इसलिए सीएस विद्यार्थियों को ही प्रशिक्षण
जीएसटी लागू होने के बाद देशभर के कई निजी संस्थान पाठ्यक्रम चला रहे हैं, लेकिन वे आईसीएसआई द्वारा दिए गए प्रशिक्षण के मानकों पर खरे नहीं उतरते. आईसीएसआई के पश्चिम क्षेत्र के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार जब छात्र कंपनी सेक्रेटरी परीक्षा की तैयारी करते हैं तो वे उससे जुड़े सभी पाठ्यक्रम पढ़ते हैं. इससे उन्हें व्यवसाय और उद्योग से जुड़े तकनीकी पहलुओं और कानून की अच्छी जानकारी हो जाती है. चूंकि यह परीक्षा बहुत कठिन होती है, इसलिए सभी छात्र सफल नहीं हो पाते हैं.

VIDEO:जब केजरीवाल के मंत्री पर लगे थे गंभीर आरोप ऐसे में अब इन छात्रों को जीएसटी का प्रशिक्षण देकर उनके ज्ञान का सदुपयोग किया जाएगा.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement