NDTV Khabar

UPTET में नकल रोकने की जिम्मेदारी जिलाधिकारी की: यूपी सरकार

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
UPTET में नकल रोकने की जिम्मेदारी जिलाधिकारी की: यूपी सरकार

UPTET के लिए यूपी सरकार ने कसी कमर

लखनऊ: अध्यापक पात्रता परीक्षा को पूरी पारदर्शिता के साथ कराने के लिए यूपी सरकार ने कमर कस ली है। उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव आलोक रंजन ने कहा है कि अध्यापक पात्रता परीक्षा (टीईटी) में नकल रोकने और उसे शांतिपूर्ण ढंग से कराने की पूरी जिम्मेदारी जिलाधिकारी की भी होगी। मुख्य सचिव ने कहा है कि परीक्षा के बाद मंडलायुक्तों को बेसिक शिक्षा विभाग के सचिव को अपनी रिपोर्ट सौंपनी होगी।

यहां भी हैं अवसर- Bank Job: कैनरा बैंक में स्पेशलिस्ट ऑफिसर के पदों पर भर्तियां, लास्ट डेट 12 जनवरी

उन्होंने सभी मंडलायुक्तों और जिलाधिकारियों को भेजे निर्देश में कहा कि परीक्षा केन्द्रों का जल्द निर्धारण कराकर इसकी सूचना परीक्षा नियामक प्राधिकार को भेजी जाए, ताकि अभ्यर्थियों को केंद्र का आवंटन किया जा सके। 

टीईटी दो फरवरी को होनी है। इसके लिए अभ्यर्थियों को प्रवेश पत्र वेबसाइट से डाउनलोड करना होगा।

ये भी पढ़ें: रेलवे में छप्पर फाड़ के नौकरियां, ग्रेजुएट्स के लिए निकलीं 18,000 से ज्यादा भर्तियां

उन्होंने कहा है कि परीक्षा के एक सप्ताह पहले बैठक करके आवश्यक काम पूरे किए जाएं। 

प्रश्नपत्र कोषागार के डबल लॉकर में रखे जाएंगे। परीक्षा के बाद उत्तर पुस्तिकाओं के सील्ड बण्डल पर्याप्त पुलिस सुरक्षा में इलाहाबाद परीक्षा नियामक प्राधिकारी के कार्यालय में भेजे जाएं।

ये भी पढ़ें: Job: डाक विभाग में सीधी भर्ती, 10वीं पास के लिए 439 वैकेंसी
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement