NDTV Khabar

आखिरी समय में कैसे की जाए UPSC Civil प्री की तैयारी? जानिए यूपीएससी टॉपर्स की टिप्स

UPSC Civil Services Prelims 2 जून को आयोजित की जाएगी. परीक्षा की तारीख नजदीक है, ऐसे में उम्मीदवारों को ज्यादा से ज्यादा समय रिवीजन पर देना चाहिए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
आखिरी समय में कैसे की जाए UPSC Civil प्री की तैयारी? जानिए यूपीएससी टॉपर्स की टिप्स

UPSC Civil Services: वैशाली सिंह और सृष्टि जयंत देशमुख

नई दिल्ली:

यूपीएससी सिविल सर्विसेज प्रीलिम्स परीक्षा (UPSC Civil Services Prelims Exam) की तारीख नजदीक है. संघ लोक सेवा आयोग 2 जून को सिविल सर्विसेज प्री (UPSC Civil Services Prelims) परीक्षा आयोजित करेगा. प्री परीक्षा के एडमिट कार्ड पहले ही जारी हो चुके हैं. परीक्षा (UPSC Prelims) की तैयारी के लिए बहुत कम समय रह गया है, ऐसे में उम्मीदवारों को अपनी तैयारी तेज कर देनी चाहिए. कई बार घंटों पढ़ाई करने के बाद भी कई उम्मीदवारों को निराश होना पढ़ता है, क्योंकि उन्हें तैयारी करने का सही तरीका नहीं पता होता या फिर उन्हें सही मार्गदर्शन नहीं मिल पाता. ऐसे में हमने UPSC में 5वीं रैंक हासिल करने वाली सृष्टि जयंत देशमुख (Srushti Jayant Deshmukh) और 8वीं रैंक हासिल करने वाली वैशाली सिंह (Vaishali Singh) से बातचीत की और उनसे उनकी सफलता का मंत्र जाना. NDTV से खास बातचीत में सृष्टि देशमुख और वैशाली सिंह ने प्रीलिम्स परीक्षा की तैयारी की रणनीति शेयर की, साथ ही उम्मीदवारों को कई टिप्स (UPSC Civil Services Prelims Tips) भी दिए.

पहले पेपर की तैयारी में NCERT की किताब कितने काम की?
वैशाली का जवाब-
NCERT की किताबों से तैयारी करना इसीलिए जरूरी है क्योंकि इससे आपका बेस बनता है. ऐसा नहीं है कि एनसीआरटी की किताबों से सवाल आ रहे हैं. एनसीआरटी की किताब से सवाल नहीं आते तो स्टूडेंट्स एनसीआरटी पढ़ना छोड़ देते हैं. लेकिन एनसीआरटी की किताबें पढ़ने के बाद आप एप्लीकेशन बेस सवाल आसानी से निकाल सकते हैं.

सीसेट की तैयारी कैसे करनी है?
वैशाली का जवाब-
ये उम्मीदवार पर निर्भर करता है कि वे एप्टीट्यूड में कितने अच्छे हैं. जिनकी मैथ्स अच्छी है उन्हें उतनी ज्यादा प्रैक्टिस नहीं करनी पड़ेगी लेकिन फिर भी उन्हें प्रैक्टिस करनी चाहिए क्योंकि अगर आप एक बार कंफ्यूज हुए तो मैथ्स और लॉजिक तो घबराहट में हो ही नहीं सकता है. जिनकी मैथ्स अच्छी है वे सीसेट की तैयारी के लिए 4 या 5 पेपर हल कर सकते हैं. पर जिनकी मैथ्स और रीजनिंग मजबूत नहीं है तो उनको थोड़ा ज्यादा ध्यान देकर इसकी तैयारी कर लेनी चाहिए. उसके लिए वो किताबों से तैयारी कर सकते हैं और पुराने पेपर्स की मदद ले सकते हैं.


मॉक टेस्ट कितना मददगार?
वैशाली का जवाब- 
UPSC की तैयारी के लिए मॉक टेस्ट सबसे मददगार है. मैं परीक्षा से 2 महीने तक रोज 1 मॉक टेस्ट हल करती थी.

रिवीजन कैसे करें? अधिकतर लोग पढ़ा हुआ एग्जाम के समय भूलने लगते हैं, ऐसे में क्या करना चाहिए?
सृष्टि का जवाब-
भूलना जायज है और हम सब भूलते हैं, ऐसे में रिवीजन करना बेहद जरूरी है. कई ऐसे विषय हैं जैसे मॉडर्न इंडियन हिस्ट्री में कई सवाल होते हैं जैसे ये किताब किसने लिखीं, ऐसे सवाल ऑब्जेक्टिव जिन्हें हम याद कर सकते हैं. पर्यावरण में कई सवाल होते हैं कि कौन सा नेशनल पार्क कहां हैं ऐसी चीजों को मैंने चार्ट बनाके रख लिया था. और अलग से मैं हर रोज उसको देखती रहती थी. भूगोल में मैं हर रोज एटलेस को देखा करती थी मैप के साथ. किसी और विषय की बात करें तो एक हफ्ते में मैंने जो कुछ पढ़ा उसे में हर शनिवार या रविवार को रिवाइज कर लिया करती थी.

परीक्षा नजदीक आने पर क्या रणनीति होनी चाहिए?
सृष्टि का जवाब-
परीक्षा के 2 महीने आने तक मैं कहूंगी कि मैंने टेस्ट से ये पता किया कि कौन से सेक्शन हैं जो मुझसे गलत हो रहे हैं. मैंने उन सेक्शन का ज्यादा रिवीजन किया जहां मेरी ज्यादा गलतियां हो रही थी. जहां भी गलती हो रही है अगर टाइम है तो अपनी गलतियों को सुधारें. अगर आपको लग रहा है कि आपका अर्थशास्त्र या भूगोल कमजोर है तो उन पर समय निकाल कर ध्यान दें.

अपने नोट्स बनाने का क्या फायदा है?
वैशाली का जवाब-
मैं अपने खुद के नोट्स बनाना सही समझती हूं क्योंकि उससे मुझे लिखते-लिखते याद हो जाता है. वैसे आप किसी से नोट्स ले भी सकते हैं.

टिप्पणियां

परीक्षा का समय नजदीक आते ही प्रेशर बढ़ जाता है, प्रेशर से दूर रहकर कैसे तैयारी करें?
सृष्टि का जवाब-
एक तो 2 महीने में जो पैनिक आता है उस पर आपको कंट्रोल रखना है. पैनिक करते हैं तो हम न ढंग से पढ़ पाते हैं और न ही एग्जाम के दिन अच्छे से परफॉर्म कर पाते हैं. ऐसे में जितना विश्वास हम बाकी के महीनों में लेकर चले हैं आखिरी के समय में आप पर जितना भी प्रेशर हो लेकिन आप बस खुद पर भरोसा रखें. एग्जाम के नजदीक आते ही आप रिवीजन पर ध्यान दें और अपनी पढ़ाई के साथ खुद पर भरोसा रखें.

UPSC से संबंधित खबरें
Exclusive: UPSC टॉपर Kanishak Kataria ने अपनी सफलता पर NDTV से की खुलकर बात
Exclusive: UPSC की पहली कोशिश में सिर्फ 2 नंबर से पिछड़े, फिर यूं तैयारी करके हासिल किया दूसरा रैंक
Exclusive : UPSC सिविल सर्विसेज के पांचवें प्रयास में जुनैद को मिली तीसरी रैंक, सफलता की कहानी, उन्हीं की जुबानी
Exclusive: UPSC में देश भर में 5वीं रैंक और लड़कियों में अव्वल रहने वाली सृष्टि ने बताया अपनी सफलता का मंत्र



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement