UPSC Mains: जानें- एक अच्छा निबंध कैसे लिख सकते हैं, इन बातों का रखें ध्यान

UPSC मेंस परीक्षा में निबंध लिखना सबसे जरूरी प्रश्न है. ऐसे में जानते हैं निबंध लिखते समय किन बातों का ध्यान रखना होगा. यहां पढ़ें

UPSC Mains: जानें- एक अच्छा निबंध कैसे लिख सकते हैं, इन बातों का रखें ध्यान

UPSC Mains Essay: यूपीएससी ने प्रीलिम्स परीक्षा का रिजल्ट जारी कर दिया है. अब इस परीक्षा में जो उम्मीदवार पास हुए हैं उन्हें  मेंस परीक्षा में शामिल होने का मौका दिया जाएगा. इस साल मेंस परीक्षा का आयोजन 8 जनवरी को किया जाएगा. आपको बता दें,  यूपीएससी मेंस परीक्षा में दो निबंध (Essay) लिखने होते हैं. ये निबंध 1000-1200 शब्दों का होना चाहिए.

पेपर को 2 सेक्शन में विभाजित किया जाता है. हर एक सेक्शन में चार विषयों की पसंद से एक विषय का चयन किया जा सकता है. निबंध पेपर कुल 250 अंकों के लिए होता है, जिसमें 125 अंकों के लिए एक निबंध होता है. ऐसे में सही भाषा और सटीक शब्दों का चयन कर ही निबंध लिखना चाहिए. आइए जानते हैं निबंध की कैसे करनी है तैयारी.

मेंस परीक्षा में निबंध लिखना सबसे जरूरी प्रश्न है. यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि निबंध में आपके द्वारा लिखी गई अधिकांश सामग्री आपकी जनरल स्टीज (GS) से आती है.

पत्रिकाएं पढ़ें

सामाजिक विषयों के लिए, आप योजना / ईपीडब्ल्यू / आर्थिक सर्वेक्षण आदि के विशिष्ट मुद्दों के बारे में आपको लिखने की जरूरत पड़ सकती है. ऐसे में किसी विषय से संबंधित नवीनतम आंकड़ों पर नोट्स बनाएं और किसी विशेष क्षेत्र में सरकार की योजनाओं की सकारात्मकता और आलोचनाओं के बारे में भी नोट्स बनाना न भूलें. इनके लिए पत्रिकाएं जरूर पढ़ें.


कॉलम और लेख पढ़ें

अखबारों में कॉलम और लेख पढ़ने से आपके अंदर की विचार प्रक्रिया विकसित करने में मदद मिलेगी. ज्ञान प्रदान करने के अलावा, वे आपको भाषण के अच्छे आंकड़े, तर्क की कला आदि के बारे में जानकारी देने में मदद करेंगे.

अच्छी कहानियां पढ़ें.

समाचार पत्र और पुस्तकों में आपके द्वारा देखे जाने वाले किस्से, कहानी और वास्तविक जीवन की कहानियां जिन्हें नीचे निबंध में इस्तेमाल किया जा सकता है. उनके बारे में पढ़ें. इनका उपयोग परिचय में या आपके निबंध में एक उदाहरण के रूप में किया जा सकता है.

कैसे करें निबंध लिखने की शुरुआत
 
एक अच्छा परिचय

आपके निबंध को शुरू करने का एक अच्छा तरीका यह है कि आपके परिचय में मानवता का स्पर्श और गर्मजोशी हो. जिसे  पढ़ने के बाद  तुरंत समझ आ जाए कि पूरा निबंध किस विषय पर लिखा गया है. इसकी शुरुआत में आप कुछ इस तरह कर सकते हैं.

→ एक काल्पनिक घटना या कहानी (किसी चरित्र का परिचय देकर);

→ एक वास्तविक जीवन का किस्से का बारे में बताकर

→ एक कोट (a quote)

सबटाइटल्स का उपयोग

एक सबहेडिंग के साथ आप अपना निबंध थोड़ा रचनात्मक बना सकते हैं.  'न्यूक्लियर एनर्जी के फ़ायदे', जैसे हम 'न्यूक्लियर एनर्जी: प्रोम या पेरिल' का इस्तेमाल कर सकते हैं.

दो पैराग्राफ के बीच का कनेक्शन

उम्मीदवार को पूरे निबंध में एक स्वभाव बनाए रखना होगा. एक विषय से दूसरे में बात लिखने के दौरान निबंध का लय नहीं बिगड़ना चाहिए. इसलिए पहला पैराग्राफ दूसरे पैराग्राफ से इंटरलिकिंग होना चाहिए.

सामग्री का विकास

निबंध के मुख्य भाग में, प्रत्येक पैरा में एक तर्क या एक विचार होना चाहिए और उस तर्क को वापस करने का एक तर्क होना चाहिए. आप इसे वास्तविक जीवन उदाहरण, एक आंकड़ा, एक प्रामाणिक समिति या संगठनात्मक रिपोर्ट आदि के माध्यम से प्रमाणित कर सकते हैं.

निष्कर्ष

जितना जरूरी निबंध की शुरुआत है, उतना ही जरूरी निबंधा का निष्कर्ष है. इसलिए निष्कर्ष लिखते समय एक बार अच्छे से पूरा निबंध पढ़ लेना चाहिए.

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com