NDTV Khabar

Vikram Sarabhai Google Doodle: भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम के जनक विक्रम साराभाई ने स्थापित किए थे ये 10 संस्थान

Google Doodle On Vikram Sarabhai: विक्रम साराभाई का भारत को अंतरिक्ष तक पहुंचाने में बेहद खास योगदान है. डॉ.साराभाई भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम के जनक के रूप में जाने जाते हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Vikram Sarabhai Google Doodle: भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम के जनक विक्रम साराभाई ने स्थापित किए थे ये 10 संस्थान

Vikram Sarabha Google Doodle: विक्रम साराभाई की 100वीं जयंती पर पूरा देश उन्हें और उनके कार्यों का याद कर रहा है. डॉ

खास बातें

  1. विक्रम साराभाई की 100वीं जयंती पर गूगल ने डूडल बनाया है.
  2. साराभाई को भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम के जनक के रूप में जाना जाता हैं.
  3. उन्होंने इसरो की स्थापना की थी.
नई दिल्ली:

Vikram Sarabhai Google Doodle: विक्रम साराभाई की जयंती (Vikram Sarabhai Birthday) के मौके पर गूगल ने डूडल बनाकर उन्हें याद किया है. विक्रम साराभाई का जन्म 12 अगस्त 1919 में अहमदाबाद में हुआ था. भारत को अंतरिक्ष तक पहुंचाने वाले वैज्ञानिक विक्रम साराभाई की 100वीं जयंती (Vikram Sarabhai 100th Birth Anniversary) पर पूरा देश उन्हें और उनके कार्यों का याद कर रहा है. डॉ.साराभाई भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम के जनक के रूप में जाने जाते हैं. भारत ने आज तक अंतरिक्ष के क्षेत्र में जो कुछ भी हासिल किया है उसके पीछे साराभाई (Vikram Sarabhai) का बेहद खास योगदान है.  डॉ. विक्रम साराभाई की याद में अंतरराष्ट्रीय खगोल संघ ने वर्ष 1974 में अंतरिक्ष में 'सी ऑफ सेरनिटी' पर स्थित बेसल नाम के मून क्रेटर को साराभाई क्रेटर नाम दिया था. इसरो ने भी चंद्रयान-दो के लैंडर का नाम विक्रम रखकर उन्हें याद किया. उनकी सबसे महत्त्वपूर्ण विशेषता यह थी कि वे एक ऐसे उच्च कोटि के इन्सान थे जिसके मन में दूसरों के प्रति असाधारण सहानुभूति थी. वह एक ऐसे व्यक्ति थे कि जो भी उनके संपर्क में आता, उनसे प्रभावित हुए बिना न रहता. 
 
विक्रम साराभाई की सबसे बड़ी उपलब्धियों में से एक भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम के तहत भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान
संगठन (इसरो) की स्थापना थी. विक्रम साराभाई ने कहा था, ''कुछ लोग प्रगतिशील देशों में अंतरिक्ष क्रियाकलाप की प्रासंगिकता के बारे में प्रश्न चिन्ह लगाते हैं. हमें अपने लक्ष्य पर कोई संशय नहीं है. हम चन्द्र और उपग्रहों के अन्वेषण के क्षेत्र में विकसित देशों से होड़ का सपना नहीं देखते. किंतु राष्ट्रीय या अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अर्थपूर्ण भूमिका निभाने के लिए मानव समाज की कठिनाइयों के हल में अति-उन्नत तकनीक के प्रयोग में किसी से पीछे नहीं रहना चाहते."

डॉ. साराभाई (Vikram Sarabhai) द्वारा स्थापित जाने माने कुछ संस्थान हैं:


-भौतिक अनुसंधान प्रयोगशाला (पीआरएल), अहमदाबाद
-भारतीय प्रबंधन संस्थान (आईआईएम), अहमदाबाद
-कम्यूनिटी साइंस सेंटर, अहमदाबाद
-कला प्रदर्शन के लिए दर्पण अकादमी, अहमदाबाद (अपनी पत्नी के साथ)
-विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र, तिरुवनंतपुरम
-अंतरिक्ष उपयोग केंद्र, अहमदाबाद (साराभाई द्वारा स्थापित छह संस्थानों/ केन्द्रों के विलय के बाद यह संस्था अस्तित्व में आई)
-फास्टर ब्रीडर टेस्ट रिएक्टर (एफबीटीआर), कलपक्कम
-परिवर्ती ऊर्जा साइक्लोट्रॉन परियोजना, कलकत्ता
-भारतीय इलेक्ट्रॉनकी निगम लिमिटेड (ईसीआईएल), हैदराबाद
-भारतीय यूरेनियम निगम लिमिटेड (यूसीआईएल), जादुगुडा, बिहार

अन्य खबरें
Google Doodle: अपने साथियों के लिए वैज्ञानिक से भी बढ़कर थे विक्रम साराभाई
Vikram Sarabhai की 100वीं जयंती पर बना गूगल डूडल, जानें उनके जीवन से जुड़ी खास बातें

टिप्पणियां


 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement