जब आजाद हुआ था पाकिस्तान तो जिन्ना ने 15 अगस्त की दी थी बधाई, जानिए क्यों

Independence Day: पाकिस्तान हर साल 14 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाता है. हालांकि पाकिस्तान को आजादी 15 अगस्त को मिली थी.

जब आजाद हुआ था पाकिस्तान तो जिन्ना ने 15 अगस्त की दी थी बधाई, जानिए क्यों

Pakistan Independence Day: साल 1948 में पाकिस्तान में आजादी की तारीख को 14 अगस्त कर दिया गया था.

नई दिल्ली:

भारत में हर साल 15 अगस्त (15 August) को स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) मनाया जाता है. वहीं, पाकिस्तान हर साल 14 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस (Pakistan Independence Day) मनाता है. हालांकि दोनों देश एक ही दिन आजाद हुए थे. अब सवाल उठता है कि आखिर पाकिस्तान 15 अगस्त की जगह 14 अगस्त (14 August) को स्वतंत्रता दिवस (Pakistan Independence Day) क्यों मनाता है? दरअसल, इंडियन इंडिपेंडेंस बिल को ब्रिटिश संसद ने 18 जुलाई को पारित किया था. इस बिल के मुताबिक 14-15 अगस्त की मध्यरात्रि को भारत का बंटवारा होगा जिससे भारत और पाकिस्तान नाम के दो नए देश वजूद में आ जाएंगे. पाकिस्तान में स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त की बजाए 14 अगस्त को मनाए जाने के पीछे एक कारण है.

पाकिस्तानी इतिहासकार केके अजीज अपनी किताब मर्डर ऑफ हिस्ट्री  में लिखते हैं कि इन दोनों देशों को सत्ता का हस्तांतरण वायसराय लॉर्ड माउंटबेटन को करना था. माउंटबेटन एक ही वक्त पर नई दिल्ली और कराची में मौजूद नहीं हो सकते थे. इसके अलावा न ही ऐसा हो सकता था कि वे पहले भारत को सत्ता का हस्तांतरण करें और फिर पाकिस्तान को क्योंकि भारत को सत्ता हस्तातंरित करते ही कानून के मुताबिक उनकी भूमिका भारत के गवर्नर जनरल की हो जानी थी. ऐसे में लॉर्ड माउंटबेटन ने वायसराय रहते हुए 14 अगस्त को पाकिस्तान को सत्ता हस्तांतरित कर दी. लेकिन पाकिस्तान को आजादी 14 अगस्त को नहीं मिली क्योंकि इंडियन इंडिपेडेंस एक्ट में यह तारीख 15 अगस्त थी.

साल 1948 में पाकिस्तान में आजादी की तारीख को 14 अगस्त कर दिया गया था. इस पर अलग-अलग बातें सामने आती हैं. कई रिपोर्टों में कहा गया है कि उस साल 14 अगस्त को रमजान का 27वां दिन यानी शब-ए-कद्र पड़ रहा था. मान्यता है कि इसी रात धार्मिक ग्रंथ कुरान मुकम्मल हुआ था और यह दिन काफी पवित्र माना जाता है. इसके बाद पाकिस्तान का स्वतंत्रता दिवस 14 अगस्त को ही मनाया जाने लगा. कुछ इतिहासकारों का मानना है कि 14 अगस्त को वायसराय के सत्ता हस्तांतरित करने के बाद ही कराची में पाकिस्तानी झंडा फहरा दिया गया था और इसलिए बाद में पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस की तारीख 14 अगस्त ही कर दी गई.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

वैसे तो भारत और पाकिस्तान दोनों 14-15 की दरमियानी रात को आजाद हुए थे. लेकिन पाकिस्तान के 'कायदे-आजम' मुहम्मद अली जिन्ना ने देश के नाम पहले संबोधन में 15 अगस्त की बधाई दी थी. उन्होंने कहा था, ‘ढेर सारी खुशियों के साथ मैं आपको बधाइयां देता हूं. 15 अगस्त स्वतंत्र और संप्रभु राष्ट्र पाकिस्तान का जन्मदिन है.' बहरहाल यह जगजाहिर कि पाकिस्तान का जन्म 15 अगस्त को हुआ था और इसी वजह से जिन्ना ने बधाई भी 15 अगस्त की दी थी. लेकिन आधिकारिक रूप से पाकिस्तान 14 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाता है.

अन्य खबरें
Independence Day Speech: स्वतंत्रता दिवस के दिन दें ये भाषण
स्वतंत्रता दिवस पर जम्मू-कश्मीर के कोने-कोने में फहराएगा तिरंगा, दिल्ली से मंगवाए 50 हजार झंडे