William Shakespeare Death Anniversary: आज भी दुनिया भर में कायम है विलियम शेक्सपियर के नाटकों का जादू

William Shakespeare के नाटकों का जादू दुनियाभर में छाया हुआ है. विलियम शेक्सपीयर की मृत्यु आज ही के दिन साल 1616 में हुई थी.

William Shakespeare Death Anniversary: आज भी दुनिया भर में कायम है विलियम शेक्सपियर के नाटकों का जादू

William Shakespeare

नई दिल्ली:

William Shakespeare की आज पुण्यतिथि है. अंग्रेजी साहित्य के महान कवि और नाटककार विलियम शेक्सपियर (William Shakespeare) की मृत्यु आज ही के दिन साल 1616 में हुई थी. आज भी शेक्सपियर के नाटकों का जादू दुनियाभर में छाया हुआ है. विलियम शेक्सपीयर का जन्म 26 अप्रैल 1564 को ब्रिटेन के स्ट्रैटफोर्ड आन एवन में हुआ था. शेक्सपियर में अत्यंत उच्च कोटि की सर्जनात्मक प्रतिभा थी. साथ ही उन्हें कला के नियमों का सहज ज्ञान भी था. शेक्सपियर की कल्पना जितनी प्रखर थी उतना ही गंभीर उनके जीवन का अनुभव भी था. जहां एक ओर उनके नाटकों और उनकी कविताओं से आनंद मिलता है वहीं दूसरी ओर उनकी रचनाओं से हमको गंभीर जीवनदर्शन भी प्राप्त होता है. विश्वसाहित्य के इतिहास में शेक्सपियर के समकक्ष रखे जाने वाले विरले ही कवि मिलते हैं.

शेक्सपियर ने आर्थिक कठिनाइयों के कारण बचपन में स्कूल छोड़ दिया था और छोटे-मोटे काम धंधे में लग गए थे. शुरू में उन्होंने एक रंगशाला में किसी छोटी नौकरी पर काम किया, किंतु कुछ दिनों के बाद वे लार्ड चेंबरलेन की कंपनी के सदस्य बन गए और लंदन की प्रमुख रंगशालाओं में समय समय पर अभिनय में भाग लेने लगे. उसके बाद उन्होंने खुद नाटक लिखना शुरू किया. उनकी महत्वपूर्ण रचनाओं में हैमलेट, ऑथेलो, किंग लियर, मैकबेथ, जूलियस सीजर प्रसिद्ध है.

edf03troWilliam Shakespeare

विलियम शेक्सपियर जब 18 वर्ष के हुए तब उनका विवाह ऐना हाथवे से हुआ, जिसने तीन संतानों को जन्म दिया था. जीवन को लेकर उनका अपना नजरिया था. आज भी उनके विचार सफल जीवन का मार्ग बताते हैं. ऐसे में आज हम आपको उनके 5 अनमोल विचारों के बारे में बता रहे हैं.

शेक्सपियर के 5 अनमोल विचार

1. सितारों में इतनी शक्ति नहीं है, जो हमारे जीवन का फैसला कर सकें, बल्कि हमारा भाग्य सिर्फ हमारे हाथों में ही है.
2. होना और न होना यही तो सवाल है.
3. खाली बर्तन ही सबसे ज्यादा शोर मचाते हैं यानी जिसके पास ज्ञान नहीं है, वही ज्यादा चिल्लाते हैं
4. एक मूर्ख खुद को बुद्धिमान समझता है मगर वहीं एक बुद्धिमान खुद को मूर्ख समझता है.
5. प्यार अंधा होता है और प्यार में पड़े लोगों को कुछ नहीं दिखता.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com